छठ की तैयारी:युद्धस्तर पर तैयार किए जा रहे हैं छठ घाट, शिवपुरी तालाब जाने का रास्ता व्रतियों के लिए बेहद खराब

बिहारशरीफ24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शिवपुरी छठ घाट - Dainik Bhaskar
शिवपुरी छठ घाट
  • शिवपुरी घाट तक जाने के लिए व्रतियों को कीचड़ से पड़ेगा गुजरना, मरम्मत के लिए मुहल्लेवासी प्रयासरत
  • लोहगानी छठ धाट हुआ तैयार, तालाब के तीन तरफ पेवर ब्लॉक भी बिछाया
  • समय से पूर्व सभी छठ घाट पर तैयारी पूरी करने के लिए करने के लिए अधिकारियों को दिशा निर्देश

छठ पर्व को लेकर नगर निगम द्वारा घाट पर सफाई व्यवस्था सहित जरूरी इंतजाम किये जा रहे हैं। साथ ही स्थानीय लोग भी अपने स्तर से इसमें सहयोग कर रहे हैं। समय से पूर्व सभी छठ घाट पर आवश्यक तैयारी पूरी करने के लिए करने के लिए संबंधित अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए जा रहे हैं। लेकिन घाट तक पहुंचने के रास्ता को नजर अंदाज किया जा रहा है। यह स्थिति वार्ड संख्या 22 शिवपुरी मुहल्ला की है।सूर्य मंदिर घाट को तो चकाचक तकिया जा रहा है। जबकि घाट तक पहुंचने वाले रास्ते की मरम्मत को नजर अंदाज किया जा रहा है। एक तरफ सड़कों पर फैला कीचड़ तो दूसरी तरफ रोड के बीच टूटा हुआ नाला खतरे का संकेत दे रहा है। लेकिन निगम की नजर अभी तक इस पर नहीं गई है। नल-जल योजना से पाइप लाइन बिछाने के दौरान सड़क की सुरत बिगाड़ कर रख दी गई है। कई लोगों का होम पाइप टुट जाने के कारण रास्ता कीचड़ से भर गया है। जबकि इस रास्ते से सैंकड़ो लोग अर्घ्य देने घाट तक पहुंचते हैं।
मरम्मत के लिए मुहल्लेवासी प्रयासरत
वार्ड पार्षद अमरनाथ कुमार ने बताया कि इस बार निगम की ओर से सड़क की मरम्मत के लिए कोई सहयोग नहीं किया जा रहा है। पहले सफाई कर्मी भी दिया जाता था लेकिन इस बार मात्र दो दिन के लिए ही सफाई कर्मी दिया गया था। अब मुहल्ले के लोगों के सहयोग से इसका मरम्मत करने का प्रयास किया जा रहा है। ताकि छठ पूजा तक समस्या न हो।

टूटा नाला खतरे का संकेत : शिवपुरी छठ घाट पर मुहल्लेवासी के अलावा आस-पास के लोग भी अर्घ्य देने आते हैं। रामचन्द्रपुर मित्तु बस स्टैंड के बगल वाली गली की स्थिति बद्तर है। रोड के बीच में टूटा हुआ नाला खतरे का संकेत दे रहा है। इस गली की स्थिति ऐसी है कि सामान्य दिनों में भी आने-जाने में लोगों को परेशानी उठानी पड़ती है। मुहल्लेवसियों की माने तो इस रोड से करीब 3-4 हजार लोग अर्घ्य देने छठ पर पहुंचते है। इसकी मरम्मत नहीं की गई तो खतरा की संभावना है।

घाट को बनाया जा रहा चकाचक : अर्घ्य प्रदान करने के लिए शिवपुरी तालाब को चकाचक बनाया जा रहा है। वार्ड पार्षद ने बताया कि तालाब को साफ कर शुद्ध पानी भरा जा रहा है। बैरिकेडिंग की व्यवस्था की जा रही है। नगर निगम से बांस-बल्ला उपलब्ध कराया जा रहा है। लोहंडा तक चूना-ब्लीचिंग पाउडर का भी छिड़काव हो जाएगा। इसके अलावे चेंजिंग रूम तैयार करने के लिए भी निगम द्वारा बैंकों से संपर्क किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस घाट पर 10 हजार से अधिक लोग अर्घ्य प्रदान करने आते हैं।

करीब 5 हजार लोग देते हैं अर्घ्य : पार्षद प्रतिनिधि ने बताया कि शुद्ध और साफ पानी रहने के कारण दिन व दिन यहां अर्घ्य देने वाले श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ती जा रही है। लोहगानी समेत आस-पास के अम्बेर, इमामगंज, तुफानगंज, खोजासराय, खासगंज के 5 हजार से भी अधिक लोग पहुंचते हैं। इस बार पहले की अपेक्षा और बेहतर व्यवस्था की गई है। तालाब के दो साइड पर घाट का निर्माण कराया गया है। जबकि तीन साइड में पेवर ब्लॉक बिछाया गया है। सौंदर्यीकरण के तहत गेट का भी निर्माण कराया गया है।

जर्जर रास्ता
जर्जर रास्ता

लोहगानी छठ घाट में मिलेगा शुद्ध एवं स्वच्छ पानी
शुद्ध एवं स्वच्छ छठ घाट के मामले में लोहगानी घाट की स्थिति ठीक है। इस तालाब में कभी भी नाले का पानी नहीं गिरता है। इस बार जल जीवन हरियाली कार्यक्रम के तहत नगर निगम द्वारा सौंदर्यीकरण भी कराया गया है। पहले अर्घ्य देने के लिए स्थानीय लोगों द्वारा अस्थाई रूप से घाट तैयार किया जाता था। लेकिन इस बार स्थाई रूप से घाट तैयार करने के साथ-साथ तालाब के तीन तरफ पेवर ब्लॉक भी बिछाया गया है। ताकि खरना करने में भी छठव्रती माताओं को सहूलियत हो सके। वार्ड पार्षद प्रतिनिधि रविरंजन कुमार ने बताया कि जल जीवन हरियाली के तहत इस तालाब के जीर्णोद्धार पर करीब 52 लाख खर्च किया गया है।

खबरें और भी हैं...