क्राइम / डाॅक्टर प्रियरंजन हत्याकांड का मुख्य शूटर झारखंड के गढ़वा से किया गया गिरफ्तार

Chief shooter of Dr. Priyaranjan murder case arrested from Garhwa, Jharkhand
X
Chief shooter of Dr. Priyaranjan murder case arrested from Garhwa, Jharkhand

  • एसपी के जाल में फंसा बदमाश, हुई थी मोटी डील, पूछताछ में खुलेंगे कई राज

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

बिहारशरीफ. डॉक्टर प्रियरंजन प्रियदर्शी हत्याकांड में नालंदा पुलिस ने झारखंड के गढ़वा में कार्रवाई कर मुख्य शूटर को गिरफ्तार कर लिया। वारदात को अंजाम दे शूटर अंडरग्राउंड हो चुका था। जिसके बाद एसपी निलेश कुमार के बिछाए जाल में वह फंसकर पकड़ा गया। गिरफ्तार बदमाश सिलाव थाना क्षेत्र के घरहा गांव निवासी चंदन कुमार उर्फ सिंटू है। बदमाश ने पूछताछ में हत्या में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली। इसके अलावा शूटर ने घटना से संबंधित कई राज का खुलासा किया है। जिसकी जांच में पुलिस जुटी है।

चंदन शातिर बदमाश है। 2017 में उसे नालंदा थाना पुलिस दीपक अपहरण कांड और 2014 में लहेरी थाना पुलिस जेल भेज चुकी है। डॉक्टर की हत्या के बाद से वह फरार चल रहा था। सूत्रों की मानें तो शूटर के खाते में मोटी रकम भेजी गई थी। पूर्व में मृतक का चचेरा भाई नूरसराय के नोसरा निवासी करण सक्सेना, लहेरी के रामचंद्रपुर निवासी आलोक कुमार, दीपनगर के कोरई निवासी टुनटुन पासवान, सौरभ महतो समेत सात बदमाशों को हथियार के साथ पकड़ा गया था। चचेरे भाई ने हत्या की योजना बनाकर, उसे अपने सहयोगियों के साथ मिलकर अंजाम दिया था। 
एक नजर घटना पर 
हरनौत प्रखंड में तैनात डॉक्टर नूरसराय के नोसरा गांव निवासी प्रियरंजन प्रियदर्शी 5 मार्च को बाइक से ड्यूटी के लिए जा रहे थे। उसी दौरान रहुई थाना इलाके के रास्ते में पूर्व से घात लगाए बदमाशों ने 6 गोलियां मारकर उनकी हत्या कर दी। मृतक हरनौत के पूर्व जदयू विधायक ई. सुनील कुमार के भगिन दामाद थे। 
फरार दो शूटरों की तलाश जारी
एसपी निलेश कुमार ने बताया कि इस केस कि वह स्वयं मॉनिटरिंग कर रहे हैं। तकनीक का इस्तेमाल कर शूटर को पकड़ा गया। कुछ अहम जानकारी बदमाश ने दी है। जिसकी जांच की जा रही है। इस केस में कुल 8 बदमाशों को पकड़ा गया है। दो शूटर अब भी फरार है। जिनकी गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई जारी है। छापेमारी में डीआईयू प्रभारी मुश्ताक अहमद समेत अन्य पदाधिकारी और कर्मी शामिल थे। 
शूटर को रकम देने वाले की तलाश
सूत्रों की मानें तो पुलिस जांच से खुलासा हुआ है कि शूटर को मोटी रकम उसके खाते में दी गई थी। रुपया देने वाले शख्स की पहचान में पुलिस जुट गई है। घटना के कारणों पर अब भी सस्पेंस बरकार है। पुलिस आशांवित है कि जल्द ही रहस्य से पर्दा उठा लिया जाएगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना