जायजा / क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे प्रवासी मजदूरों से सीएम ने वीडियो कॉन्फ्रेंंसिंग से जाना स्किल

CM learns skills through video conferencing from migrant laborers living in quarantine center
X
CM learns skills through video conferencing from migrant laborers living in quarantine center

  • प्रवासी मजदूरों से सेंटर्स पर सुविधाओं का अभाव बताया, सीएम ने अधिकारियों से कहा- नहीं होनी चाहिए परेशानी
  • प्रवासी मजदूरों से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनके रोजगार के बारे में भी ली जानकारी

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

बिहारशरीफ. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे प्रवासी कामगारों से वीडियो कांफ्रेंसिंग द्वारा सीधा संवाद किया। उन्होंने क्वारेंटाइन सेंटर की व्यवस्था के साथ-साथ श्रमिकों की स्किल और भावी योजनाओं के बारे में पूछताछ की। शनिवार को भी कई जगहों से व्यवस्था को लेकर शिकायतें मिली।
अधिसंख्य प्रवासी श्रमिकों ने कहा- रोजगार मिला तो नहीं जायेंगे अब कभी बाहर
नूरसराय शाम 5 बजकर 20 मिनट पर वीसी शुरू हुई। करीब 40 मिनट तक सीएम ने श्रमिकों से संवाद किया। चरूईपर निवासी मो. साजिद खान ने सीएम को बताया कि वह मुम्बई में काम करते थे। महीने में 25 हजार की कमाई होती थी। बिहार आने के लिए रजिस्ट्रेशन तो कराया लेकिन ज्यादा समय लगता देख नासिक तक पैदल ही पहुंच गये और वहां से ट्रक द्वारा बिहार पहुंचे।

सीएम ने अब क्या करना है पूछ तो उन्होंने बताया कि सेंटर पर कोई परेशानी नहीं है। अब घर पर ही रहना चाहते हैं। काम दिला दिया जाये तो बाहर जाने की नौबत नहीं आयेगी। डीडीसी राकेश कुमार ने सीएम व श्रमिकों को बताया कि काम दिलाने के लिए कार्य योजना तैयार की जा रही है।
महिला श्रमिक ने कहा- नहीं जाना चाहती बाहर
कुंदी गांव की बेबी कुमारी ने बताया कि वह दिव्यांग पति के साथ सूरत में रहती है। साड़ी में जड़ी वर्क का काम करती थी। महीने में 17 हजार की कमाई होती थी। सीएम ने पूछा कि अब क्या चाहती है तो उसने बताया कि घर पर ही काम करने की इच्छा है। सीएम ने डीडीसी को बच्चों का सरकारी विद्यालय में नामांकन और उनकी योग्यता के अनुसार काम दिलाने को कहा।

डीडीसी ने सीएम को बताया कि इनके पति को विकलांगता पेंशन के लिए फार्म भराया गया है। इस मौके पर सहायक समाहर्ता नितिन कुमार, एसडीओ जेपी अग्रवाल, बीडीओ राहुल कुमार, सीओ अमलेश कुमार, पीओ अनिल कुमार, विनय प्रकाश आदि उपस्थित थे।
बेन- क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे प्रवासी मजदूर की तबीयत बिगड़ी:  प्रखंड के एकसारा मध्य विद्यालय के क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे एक प्रवासी मजदूर की अचानक शुक्रवार की रात तबियत बिगड़ गयी। जिसे एक निजी क्लिनिक में भर्ती कराया गया है। प्रवासी बारा पंचायत के कौआकोल निवासी है। वह एकसारा पंचायत के श्रीसंत मध्य विद्यालय में क्वारेंटाइन है। पीड़ित के परिजन सुनील पॉल ने बताया कि क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे युवक मनीष कुमार की तबियत खराब होने पर सूचना बीडीओ को दी गई।

बीडीओ ने अस्पताल लाने को कहा। अस्पताल लाये जाने पर कोई चिकित्सक मौजूद नहीं थे। जिसके कारण परिजनों ने स्थानीय बाजार के एक निजी क्लिनिक में भर्ती कराया। मनीष कुमार दिल्ली से परीक्षा देकर 18 दिन पूर्व लौटा था। जिसे प्रशासन ने 21 मई को क्वारेंटाइन कर दिया। परिजन ने बताया कि शुक्रवार की रात अचानक उल्टी और दस्त होने लगा। सीओ अंजनी कुमार सिन्हा ने बताया कि प्रवासी की हालात में काफी सुधार हुआ है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना