पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत:कचरा से प्लास्टिक निकालेगी कंपनी

बिहारशरीफ21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

डंपिंग एरिया में जमा होने वाले कचरा से निकलने वाले दुर्गंध से निजात दिलाने के लिए नगर निगम द्वारा एक नई पहल की गई है। अब जो भी कचरा संग्रह किया जाएगा उससे प्लास्टिक व अन्य अवशेष को तुरंत निकाल लिया जाएगा। इसके लिए नगर निगम द्वारा दो एजेंसी 21 सेंचुरी पॉलीमश एवं इको गेट-वे प्राइवेट लिमिटेड को अनुमति दी गई है। सबसे बड़ी बात है कि इसपर निगम को कोई खर्च नहीं करना होगा। कंपनी अपने खर्च पर अवशिष्ट को अलग करेगी। नगर आयुक्त अंशुल अग्रवाल ने बताया कि शहर से जो भी कचरा निकलता है उसे एक जगह डंप किया जाता है। लेकिन कचरा में कुछ ऐसा सामान भी होता है जो सड़-गल नहीं सकता है। जिसके कारण दुर्गंध भी निकलने लगता है। दो एजेंसी को कचरा से प्लाटिक व अन्य अवशेष को निकालने की सशर्त अनुमति दी गई है। ये अपने कर्मियों द्वारा कचरा से प्लास्टिक, थर्मोकॉल व अन्य वस्तु जो उनके लिए उपयोगी होगा उसे निकालेंगे।

करीब 150 टन निकलता है कचरा : विभागीय जानकारी के मुताबिक प्रति दिन करीब 150 टन कचरा निकलता है। जिसमें 40 प्रतिशत गीला और 60 प्रतिशत सुखा कचरा होता है। सुखा कचरा में ही सबसे ज्यादा नहीं सड़ने-गलने वाला अवशिष्ट होता है। जो दुर्गंध को बढ़ावा देता है।

डंपिंग प्वाइंट की हो रही घेराबंदी : नगर आयुक्त ने बताया कि कचरा डम्पिंग के लिए चकरसलपुर में स्थान सुनिश्चित किया गया है। आम लोगो को दुर्गंध से मुक्ति दिलाने के लिए डंपिंग प्वाइंट की घेराबंदी कराई जा रही है। 1500 फीट बॉन्ड्री वॉल बनाना है। जिसमें 30% कार्य पूरा हो गया।

खबरें और भी हैं...