पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पालन पोषण की व्यवस्था:अनाथ हुए बच्चों को गोद लेगी कांग्रेस

बिहारशरीफ18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कांग्रेस जिलाध्यक्ष दिलीप कुमार ने कहा कि जिले में कोरोना काल में जिन असहाय एवं निर्धन परिवारों के बच्चों के सर से उनके माता-पिता का साया उठ गया है वैसे बच्चों को कांग्रेस गोद लेगी। उन्होंने कहा कि पार्टी जे प्रदेश अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा द्वारा यह पहल की गई है। श्री झा ने पूरे बिहार में वैसे परिवार के बच्चे जिनके सर से माता पिता का साया उठ गया है उनकी शिक्षा दीक्षा एवं रहन-सहन का जिम्मा अपने ऊपर लेकर समाज में एक अलग मिसाल पेश की है। जिलाध्यक्ष श्री कुमार ने जिले के सभी पदाधिकारियों के साथ-साथ मोर्चा, संगठन के अध्यक्ष एवं सभी प्रखंड अध्यक्षों से वैसे बच्चों या परिवारों की सूची उपलब्ध कराने के लिए कहा है। साथ ही मीडिया के माध्यम से जिले के पंचायत प्रतिनिधियों एवं सामाजिक संगठनों से भी जिलाध्यक्ष ने सहयोग कर वैसे घर परिवारों को चिन्हित कर जिला कांग्रेस कार्यालय या मोबाइल संख्या 9470701400 पर सूचित करने का आग्रह किया है। उन्होंने आम लोगों से भी अपील की है कि यदि उनके गांव या मोहल्ले में अगर कोई ऐसा घर है जिसमें मकान मालिक यानी पति-पत्नी का इंतकाल हो गया हो और उनके बच्चे असहाय हो गए हों और बच्चे का पालन पोषण में परेशानी आ रहा है। वैसे बच्चों की सूची बनाकर नालंदा जिला कांग्रेस कार्यालय राजेंद्र आश्रम धनेश्वर घाट में उपलब्ध करा दें।

वैसे बच्चों की शिक्षा दीक्षा के साथ-साथ पालन पोषण की व्यवस्था पार्टी करेगी। उन्होंने कहा कि अभी भी कोरोना का संक्रमण कम नहीं हुआ है। आंकड़े भले ही कम दिख रहे हो, जो कहीं न कहीं जांच की गलत प्रक्रिया के तहत दिखाया जा रहा है। यह आंकड़ा सही नहीं है। आम लोगों को सरकार द्वारा जारी कोविड गाइड लाइन का पालन जरूर करना चाहिए। घर से निकलते वक्त मास्क का प्रयोग करें। जरूरी हो तो घर से निकलें। साथ ही सर्दी, खांसी, बुखार या कोरोना का कोई भी लक्षण दिखने पर अपने परिवार से दूरी बनाकर ही रहें। आवश्यकता पड़ने पर डाक्टर से सलाह लें।उन्होंने कहा कि कोरोना काल में व्यवसायियों, बेरोजगारों मजदूरों को नुकसान उठाना पड़ा है। आज पूरे राज्य का मध्यम वर्गीय परिवार पीस रहा है। उसे कुछ न कुछ वित्तीय सहायता सरकार द्वारा अवश्य पहुंचाई जानी चाहिये।

खबरें और भी हैं...