पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत की खबर:जिले में कोरोना संक्रमण दर हुई 0.06 प्रतिशत

बिहारशरीफएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लाभार्थी को वैक्सीन देती स्वास्थ्य कर्मी। - Dainik Bhaskar
लाभार्थी को वैक्सीन देती स्वास्थ्य कर्मी।
  • शहरी क्षेत्र में 6 और ग्रामीण क्षेत्र में 4 दिन चलेगा टीकाकरण, टीका लेने को आगे आ रहे लोग

कोरोना संक्रमण को लेकर जिलेवासियों के लिए राहत की खबर है। जिले में संक्रमण की दर नहीं के बराबर रह गई है। लंबे समय तक कोरोना संक्रमण को झेलने के बाद अब संक्रमण का भय कम होता जा रहा है। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. मनोज कुमार ने कहा कि जिले में संक्रमण दर कम तो हुआ ही है टीकाकरण में समुदाय की भी भागीदारी बढ़ी है। यह अच्छा संकेत है। उन्होंने कहा कि जिले की वर्तमान संक्रमण दर एक प्रतिशत से भी कम होकर 0.06 प्रतिशत रह गयी है। संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी आई है। कभी कभी 1 या दो पॉज़िटिव हुये लोगों की जानकारी दर्ज की जा रही है। कभी तो एक भी पॉजिटिव मरीज नही मिलते। यह पूरे जिले और जिला स्वास्थ्य विभाग के लिए सुखद है कि सामूहिक प्रयास से कोरोना पर नियंत्रण पाने में काफी हद तक सफल हुए।

बढ़ाई गयी सत्र स्थलों की संख्या : पहले जहां अरबन क्षेत्रों में टीकास्थलों की संख्या 15 थीं। वही इसे बढ़ा कर 40 से भी ज्यादा कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि आवश्यकता पड़ने पर इसकी संख्या और ज्यादा बढाई जा सकती है। ससमय टीकाकरण के लक्ष्य को पूरा किया जा सके। डॉ. मनोज ने कहा की टीका कारण लक्ष्य को पूरा करने के लिए विभाग ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है । जिसके कारण 6 जुलाई को केवल शहरी क्षेत्र में 5190 लोगों का टीकाकरण किया गया है। यदि पूरा समुदाय विभाग के इस प्रयास में मिलकर साथ दे तो वह दिन दूर नहीं जब हम समय रहते लक्ष्य को पूरा कर लेंगे।

शत प्रतिशत टीकाकरण के लिए 6 दिन टीकाकरण
डॉ. मनोज ने बताया कि विभाग और जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह के से प्राप्त निर्देशानुसार आगामी 20 जुलाई तक जिला के शहरी क्षेत्रों में शत प्रतिशत टीकाकरण सुनिश्चित करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए माइक्रो प्लान बना लिया गया है। लक्ष्य की प्राप्ति के लिए जिले के सभी शहरी क्षेत्रों में सप्ताह के 6 दिन टीकाकरण अभियान का चलाया जाना निश्चित किया गया है वही सभी ग्रामीण क्षेत्रों में सप्ताह के चार दिन टीकाकरण किया जाएगा । शेष दो दिन पहले की तरह बच्चों और गर्भवतियों से संबन्धित नियमित टीकाकरण के लिए निर्धारित है। ताकि कोरोना टीकाकरण अभियान के साथ स्वास्थ्य विभाग के अन्य कार्यक्रमों में कोई रुकावट ना आए।

खबरें और भी हैं...