पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोना का कहर:मत्स्य विभाग में भी कोरोना की दस्तक, डीएफओ और चालक पॉजिटिव, 95 नये संक्रमित मिले, एक की मौत

बिहारशरीफ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सैंपल जांच व रिपोर्ट अपलोड करने में नालंदा पीछे, जिला एमएनडी का वेतन हुआ बंद
  • औचक निरीक्षण के दौरान कॉल सेंटर से गायब मिली दो एएनएम, वेतन पर रोक

कोरोना धीरे-धीरे सभी सरकारी कार्यालयों को चपेट में लेता जा रहा है। कलेक्ट्रेट, रजिस्ट्री कार्यालय, नगर निगम, कृषि विभाग, एसडीओ कार्यालय, प्रधान डाकघर के बाद मत्स्य विभाग में भी कोरोना ने दस्तक दे दी है। रविवार को प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक जिले में 95 नये मामले आये हैं। जिसमें जिला मत्स्य पदाधिकारी, एसपी आवास का कर्मी, पुलिस लाइन का जवान भी शामिल हैं। जिले में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2445 हो गयी है। भैंसासुर के एक व्यक्ति के कोरोना से मौत हुई है।

मरने वालों की संख्या 31 हो गयी है। एंटीजन जांच रिपोर्ट में मात्र 5.38 प्रतिशत लोग ही पॉजिटिव हुए हैं। सीएस डा. राम सिंह ने बताया कि एंटीजन जांच का दायरा बढ़ा दिया गया है। हालांकि पर्व को लेकर दो दिनों से टारगेट पूरा नहीं हो रहा है। रविवार को कुल 910 लोगों की जांच की गयी। जिसमें 49 पॉजिटिव केस मिले। अधिकांश लोग बिना सिमटम के हैं। पॉजिटिव लोगों में मात्र छह लोगों में ही सिमटम है। शेष 43 लोगों में कोई लक्षण नहीं है।
मत्स्य विभाग में मच गया हड़कंप
चालक के बाद अब जिला मत्स्य पदाधिकारी भी कोरोना पॉजिटिव हो गये हैं। जिसके कारण कार्यालय में हड़कंप मचा है। दूसरे कर्मी संक्रमण के भय से होम क्वारेंटाइन होना चाह रहे हैं। बता दें कि डीएफओ 31 जुलाई को औंगारी स्थित आरके हेचरी पर एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे। जिसमें डीएम और डीडीसी भी मौजूद थे।
रिपोर्ट अपलोड करने के काम में बरत रहे शिथिलता
सीएस ने बताया कि कोविड जांच में लिए गए सैम्पल और पॉजिटिव-निगेटिव रिपोर्टिंग को अपलोड करने में नालंदा काफी पीछे है। लिए गए सैंपल और आने वाली रिपोर्ट को पोर्टल पर अपलोड कर देना है लेकिन नहीं किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि रिपोर्ट अपलोड करने की जबावदेही एमएनडी की है लेकिन उनलोगों के द्वारा सही तरीके से काम नहीं किया जा रहा है। शिथिलता को लेकर जिला एमएनडी पदाधिकारी का वेतन अगले आदेश तक लिए बंद कर दिया ।

संसाधन के बावजूद नहीं मिल रही सुविधा
आइसोलेशन सेंटर में तमाम संसाधन के बाद भी मरीजों को चिकित्सीय सुविधा नहीं मिल रही है। कोरोना के डर से सुरक्षा किट पहनने के बाद भी मरीज को बरामदा में बुलाकर डॉक्टर दूर से ही हाल-चाल पुछकर दवा दे रहे हैं। मरीज का नब्ज तक नहीं टटोला जा रहा है। ऑक्सीमीटर रहने के बावजूद आॅक्सीजन लेवल की जांच नहीं की जा रही है।
मरीजों के इलाज के लिए बनाया जाएगा ट्रांसपेरेंट स्पेस
सीएस ने बताया कि कोरोना का डर सभी को है। ऐसे में चिकित्सकों पर भी विशेष दबाव नहीं बनाया जा सकता है। लेकिन व्यवस्था और सुविधा को बेहतर बनाया जाएगा। आइसोलेशन सेंटर में एक ट्रांसपेरेंट स्पेस बनाने की तैयारी चल रही है। उन्होंने बताया कि मरीजों का सही इलाज हो इसके लिए स्पेशल काउंटर बनाया जाएगा जो पूरी तरह पारदर्शी होगा। वहीं मरीज को बुलाकर डॉक्टर हर्टबीट, पल्स रेट, चेस्ट की जांच और ऑक्सीजन की मात्रा मापेंगे। यह सुविधा शुरू हो जाने के बाद मरीजों में ज्यादा से ज्यादा सिमटम की जांच हो पाएगी।
कॉल सेंटर से एएनएम मिली गायब, वेतन बंद: कोविड को लेकर सदर अस्पताल में बनाए गए कॉल सेंटर में निरीक्षण के दौरान दो एएनएम ड्यूटी से गायब मिली। दोनों का वेतन अगले आदेश तक लिए बंद कर दिया गया है। सीएस ने बताया कि रविवार की अहले सुबह कॉल सेंटर का निरीक्षण किया गया तो ड्यूटी पर से दो एएनएम डैजी कुमारी और कुमारी मीना सिन्हा गायब मिली।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें