बड़ी समस्या:कचरा प्रबंधन के लिए निगम तलाश रहा जमीन

बिहारशरीफएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जमीन का निरीक्षण करते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
जमीन का निरीक्षण करते अधिकारी।
  • मेटेरियल रिकवर फैसिलिटी के बाद अब सॉलिड वेस्ट ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित करने की तैयारी

कचरा प्रबंधन के लिए नगर निगम जमीन की तलाश की जा रही है। एमआरएफ(मेटेरियल रिकवर फैसिलिटी) के बाद अब एसडब्लूटीपी (सॉलिड वेस्ट ट्रीटमेंट प्लांट) स्थापित करने की तैयारी की जा रही है। प्लांट स्थापित करने के लिए कम से कम 5-6 एकड़ जमीन की आवश्यकता है। इसके लिए शहर से बाहर जमीन चयन के लिए अधिकारी जमीन तलाश रहे हैं। एसडब्लूपीटी स्थापित होने के बाद शहर में कचरा जमा होने की समस्या दूर हो जाएगी। वर्तमान समय में ट्रीटमेंट प्लांट नहीं रहने के कारण जगह-जगह पर कचरा डंप किया जा रहा है। जिसके कारण निगम के साथ-साथ आम लोगों के लिए भी समस्या बनी है। नगर आयुक्त तरनजोत सिंह ने बताया कि नगर निगम को स्वच्छ शहर बनाने के लिए कचरा प्रबंधन सबसे बड़ी समस्या है। जब तक कचरा प्रबंधन के लिए ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित नहीं होगा, तब तक शहर को पूर्ण रूप से स्वच्छ नहीं बनाया जा सकता है। हलांकि कुड़ा उठाव के लिए प्रति दिन कार्य किए जा रहे हैं । लेकिन एक जगह डंप किया जा रहा है। प्लांट स्थापित होने के बाद एक जगह डंप करने के बजाय प्लांट में ट्रीट किया जाएगा।

अधिकारियों ने किया स्थल निरीक्षण : नगर आयुक्त ने बताया कि शहर के बाहर एक जगह जमीन चिन्हित किया गया है। करीब 20 एकड़ जमीन है। इस जमीन की वर्तमान स्थिति क्या है। इसके बारे में सीओ व डीसीएलआर के माध्यम से जांच कराई जा रही है। ताकि पता चल सके कि कितना भाग रैयती है और कितना गैरमजरूआ है। अगर सरकारी जमीन है और इसपर किसी व्यक्ति का अतिक्रमण है तो उसे हटाया जाएगा।

गीला-सूखा कचरा कलेक्शन की होगी शुरुआत
नगर आयुक्त ने बताया कि सुखा कचरा प्रबंधन के लिए एमआरएफ स्थापित कर दिया गया है। लेकिन गीला कचरा प्रबंधन के लिए अभी तक कोई व्यवस्था नहीं है। लेकिन एसडब्लूटीपी स्थापित होने के बाद सभी प्रकार के कचरा प्रबंधन की समस्या का समाधान हो जाएगा। इसके लिए घरों से भी गीला-सूखा कचरा को अलग-अलग कलेक्शन की भी शुरूआत की जानी है। इसकी तैयारी की जा रही है।

खबरें और भी हैं...