पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पौधों के महत्व पर चर्चा:ग्रामीणों के बीच फल के पौधे बांटे, पौधे बचाने का संकल्प

बिहारशरीफ4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अस्थावां प्रखंड के जीयर व कुलती गांव में मिशन हरियाली नूरसराय के सहयोग से नालंदा जिला हिंदी साहित्य सम्मेलन से जुड़े साहित्यकारों व युवाओं ने 600 फलदार पौधों का ग्रामीणों के बीच वितरण किया। साथ ही इन्हें पेड़ पौधों की सुरक्षा का भी संकल्प दिलाया। इस मौके पर वरिष्ठ साहित्यकार व प्रसिद्ध मगही कवि उमेश प्रसाद ‘उमेश’ ने पर्यावरण संरक्षण और फलदार पौधों के महत्व पर चर्चा की।

उन्होंने फलदार पौधों के अलावा पीपल और बरगद जैसे विशाल पेड़ को लगाने के लिए भी लोगों को जागरूक किया। उन्होंने एक पर्यावरण गीत “ये साजन बन जा तू एक माली, हमें मालिनियां बनबो ना” सुनाकर जनमानस को पौधा संरक्षण का संदेश दिया। मिशन हरियाली नूरसराय के मार्गदर्शक महेंद्र कुमार विकल ने मिशन हरियाली के उद्देश्य व पर्यावरण के गिरते स्तर और उससे हो रहे नुकसान की चर्चा की । उन्होंने कहा कि पृथ्वी पर हरियाली है तभी जीवन है।

हम आने वाली पीढ़ियों को शुद्ध हवा भी नहीं दे सकेंगे। हमें खुद जागना होगा और लोगों को जगाना होगा। मगही कवि उमेश बदुरपुरी ने मगही कविता “गाछ लगाव गाछ लगाव गाछ लगाव जी। अगर धरा के बचाबे के हो गाछ लगाव जी सुनाया। सरस्वती संगीत महाविद्यालय के प्राचार्य राकेश भारती ने ठान लो तू मन में बात सबको बताओ। पर्यावरण बचाओ पर्यावरण बचाओ का पाठ किया। धन्यवाद ज्ञापन युवा लेखक व ब्लॉगर वैभव विकाश ने किया।

कार्यक्रम में ये हुए शामिल

इस अवसर पर अधिवक्ता विकाश शर्मा, शंकर सिंह, जीयर पंचायत के पूर्व उपमुखिया चुन्नू सिंह, राम सिंह, बबन सिंह, वैभव विकाश, सिंटू कुमार उर्फ मुखिया जी,बबलु सिंह, संतोष कुमार, विकास कुमार, रघुवंश, कन्हैया जी, नंदन कुमार,गुड्डू सिंह, अनमोल कुमार, सीताराम सिंह अनिल सिंह, शैलेंद्र सिंह, नागेंद्र सिंह, अशोक सिंह, उत्तम सिंह, सीटू सिंह, भोला कुमार, मूरत सिंह, दामोदर सिंह,नरेश सिंह,भूषण सिंह, सहित सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह स्थितियां बेहतरीन बनी हुई है। मानसिक शांति रहेगी। आप अपने आत्मविश्वास और मनोबल के सहारे किसी विशेष लक्ष्य को प्राप्त करने में समर्थ रहेंगे। किसी प्रभावशाली व्यक्ति से मुलाकात भी आपकी ...

और पढ़ें