शनिवार को खुलेगा बैंक:आज बैंक के कार्य कर लें, नहीं तो होगी परेशानी

बिहारशरीफ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
परबलपुर के बैंक में ग्राहकों की भीड़ (फाइल फोटो)। - Dainik Bhaskar
परबलपुर के बैंक में ग्राहकों की भीड़ (फाइल फोटो)।
  • 16 और 17 दिसंबर को बैंकों की होगी हड़ताल, 19 को है रविवार की छुट्‌टी

बैंकों से संबंधित जरूरी काम को आज निपटा लें, नहीं तो परेशानी उठानी पड़ेगी। क्योंकि अगले 3 दिनों तक बैंक का काम काज प्रभावित रहेगा। बीच में सिर्फ एक दिन के लिए बैंक खुलेगा। विभिन्न बैंक यूनियन ने 16-17 दिसंबर को हड़ताल की घोषणा की है। इस हड़ताल को एटक, इंटक, सीटू समेत 10 यूनियनों का समर्थन हासिल है। हड़ताल के प्रमुख मुद्दों में बैंकिंग प्राइवेटाइजेशन पर रोक और पुरानी पेंशन की बहाली जैसी डिमांड शामिल हैं। साथ ही 18 दिसंबर को शनिवार और 19 को रविवार है। बीच में सिर्फ शनिवार को बैंक खुलेगा। जिससे 3 दिनों तक बैंक में कामकाज पूरी तरह से प्रभावित रहेगा। सोमवार 20 दिसंबर को बैंक की शाखाएं तो खुलेंगी लेकिन छुट्‌टी के बाद इतनी भीड़ होगी कि आसानी से कामकाज नहीं हो पाएगा। बता दें कि इस हड़ताल का आह्वान यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन की तरफ से किया गया है। बैंकों के निजीकरण के विरोध में बैंक कर्मचारी ये हड़ताल कर रहे हैं।
दो दिन तक प्रभावित होगा आरटीजीएस और निफ़्ट
अब रीयल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (आरटीजीएस) और नेशनल इलेक्ट्रानिक फंड ट्रांसफर (एनईएफटी) नेशनल पेमेंट कारपोरेशन आफ इंडिया (एनपीसीआई) के गेटवे से होते हैं। हर महीने औसतन अरबों रुपए आरटीजीएस और एनईएफटी के जरिये ट्रांसफर होते हैं। दो दिनों तक इलेक्ट्रानिक पेमेंट सिस्टम के ये दोनों बड़े गेटवे बंद होने का असर बैंकिंग लेनदेन पर पड़ने की संभावना है।
एटीएम में करेंसी की नहीं होगी किल्लत
इस संबंध में एलडीएम रत्नाकर झा ने बताया कि कॉमर्शियल बैंक का कार्य प्रभावित नहीं होने की संभावना है और न ही एटीएम में करेंसी की किल्लत होगी। उन्होने बताया कि आम लोगों को कोई परेशानी नहीं होगी। आम दिनों की तरह वे लेन-देन कर सकेंगे।

अरबों रुपये की क्लियरिंग होगी प्रभावित
दो दिन बैंकों में कार्य नहीं होने से अरबों रुपये की क्लियरिंग प्रभावित होने की आशंका है। इससे व्यापारियों के काम तो अटकेंगे, साथ ही सरकारी कोषागारों में भी कार्य प्रभावित होगा। इसके चलते कई सरकारी कार्य भी प्रभावित हो सकते हैं।

खबरें और भी हैं...