कोरोनावाॅरियर्स / कोरोना को हरा 50 दिन बाद लौटे डाॅ. जहांगीर, पहले की तरह कर रहे इलाज

Dr. Corona returned after 50 days defeated. Jahangir, doing treatment as before
X
Dr. Corona returned after 50 days defeated. Jahangir, doing treatment as before

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

बिहारशरीफ. कोरोना ने कई कोरोना वाॅरियर्स डाॅक्टर और स्वास्थ्यकर्मियों को भी संक्रमित किया है। हालांकि डाक्टर और स्वास्थ्यकर्मियों के हौसले को कोरोना नहीं तोड़ पाया। कोरोना को हराकर ये लोग फिर से वापस काम पर लौट आये हैं और पहले की तरह ही मरीजों की सेवा में जुटे हैं। ऐसे ही एक डाॅक्टर बिहारशरीफ सदर के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. मो. जहांगीर हैं जो कोरोना को हराकर करीब 50 दिन बाद काम पर लौटे हैं। ये पहले की तरह ही मरीजों की सेवा में जुटे हैं।

बिना किसी भय के पहले की तरह ही मरीजों का इलाज सहित सभी काम कर रहे हैं। फर्क सिर्फ इतना आया है कि पहले की तुलना में संक्रमण से बचने के लिए सावधानी थोड़ी अधिक बढ़ा दी है। ठीक होकर लौटने के बाद होम क्वारेंटाइन में भी ये घर से ही  ऑफिसियल काम निपटाते रहे। जब कोरोना संक्रमित हुए थे तब इन्होंने कोई वीआईपी ट्रीटमेंट की मांग नहीं की थी बल्कि दो दिन तक बीड़ी श्रमिक अस्पताल में सामान्य मरीजों की तरह ही क्वारेंटाइन रहे। इन्हें जो कहा गया वही किया। जहां भेजा गया वहां गये।

जब पॉजिटिव हुए तब लगा था सदमा, फिर खुद को समझाया
संक्रमित मरीज वाले इलाकों में डोर टू डोर स्क्रीनिंग के दौरान इनके संक्रमित होने की संभावना जतायी गयी थी। जब इनकी सैंपल जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आयी तो कुछ देर के लिए इन्हें सदमा लगा। ये डरे नहीं तो नही थे लेकिन समझ में नहीं आ रहा था कि आखिर पूरी सावधानी बरतने के बावजूद वह कैसे संक्रमित हो गये। कहां चूक हो गई। इनमें कोरोना संबंधित कोई सिमटम भी नहीं था। जिस दिन रिपोर्ट आयी उस दिन भी रोज की तरह ड्यूटी कर रहे थे। बताया जाता है कि इनके चेन से करीब 26 लोग जुड़े थे। हालांकि सभी लोग ठीक होकर स्वस्थ जीवन जी रहे हैं।

परिवार इन्हें और ये परिवार को देते रहे हौसला, इसलिए जीते
आइसोलेशन के दौरान इन्होंने खुद के साथ-साथ परिवार का भी हौसला बनाये रखा। डाॅ. जहांगीर ने बताया कि फोन पर घर वालों से बात होती थी तो परिवार वाले कहते थे कि कहीं चूक हुई है। जिसके कारण संक्रमित हुए हैं। हालांकि बातचीत के दौरान ये परिवार वालों को नहीं घबराने की बात कह हौसला बढ़ाते थे और परिवार वाले भी जल्द ही ठीक होकर काम पर लौटिएगा कहकर इनका भी हौसला बुलंद रखते थे। उन्होंने बताया कि ठीक होकर काम पर लौटने के बाद पूरी सावधानी बरतते हुए पहले की तरह ही काम कर रहे हैं।

डरे नहीं सावधानी बरतें
डा. जहांगीर ने लोगों को कोरोना से नहीं डरने की सलाह देते हुए कहा कि डरने की नहीं बल्कि सावधानी बरतने की जरूरत है। लोग मास्क और सेल्फ डिस्टेंसिंग का अनिवार्य रूप से पालन करें। भीड़-भाड़ में भूलकर भी न जायें। हैंडवॉश, सेनेटाइजर का प्रयोग सहित सरकार द्वारा जो भी सावधानी बतायी जा रही है उसका पूरी तरह से पालन करेंगे तो कोरोना से सुरक्षित रहेंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना