पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बिहारशरीफ:तीन तलाक की समाप्ति से महिलाओं की सुरक्षा और सम्मान में बढ़ोतरी: राजीव

बिहारशरीफ12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

तीन तलाक कानून के एक वर्ष पूरे होने पर भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव रंजन ने कहा कि आजादी के बाद देश में ऐसे गिने चुने नेता हुए हैं, जिन्होंने वोट बैंक की राजनीति को दरकिनार करते हुए जनता और राष्ट्र हित को सर्वोपरी रखा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक ऐसे ही राजनेता है जिनकी कथनी और करनी में कोई फर्क नहीं। प्रधानमंत्री के प्रयासों से ही आज से एक वर्ष पहले सदियों पुरानी फौरी तीन तलाक या तलाक ए बिद्दत जैसी क्रूर और अमानवीय प्रथा को अमान्य घोषित कर दिया गया था, जिसके बाद पहली बार मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक की बेड़ियों से आजादी मिली।

उन्होंने कहा कि दुनिया के लगभग सभी इस्लामी मुल्कों यहां तक कि पाकिस्तान तक में बैन यह कुप्रथा केवल कांग्रेस और उसके सहयोगियों के कारण भारत में जिन्दा रही। कांग्रेस अगर चाहती तो इस मामले को 1985 में ही शाहबानो प्रकरण के दौरान बैन कर सकती थी। लेकिन कांग्रेस ने मुस्लिम महिलाओं के सम्मान और सुरक्षा के ऊपर वोट बैंक को तरजीह देते हुए इस प्रथा को जारी रखा। बाद में जब नरेंद्र मोदी सरकार ने इस कुप्रथा को बैन करने के प्रयास शुरू किये तब भी कांग्रेस इसके राह में रोड़े अटकाती रही।

लेकिन राष्ट्र और जनता को सर्वोपरी मानने वाली मोदी सरकार ने हर बाधा को पार करते हुए इस कुप्रथा के खिलाफ कानून बनाकर ही दम लिया। इस कानून के बाद अब किसी शाहबानो या शायरा बानो की जिंदगी दोराहे पर नहीं आने वाली। उन्होंने कहा कि इस कानून के अमल में आने के बाद से देश में फौरी तीन तलाक के मामलों में अप्रत्याशित कमी आयी है।

आंकड़ों के मुताबिक महज एक साल में तीन तलाक के मामलों में सत्तर फीसदी तक की गिरावट आई है। बिहार का ही उदहारण लें तो 1985 से 2019 तक जहां 38,617 मामले सामने आए थे। वहीं बीते एक साल में इस तरह के महज 49 मामले संज्ञान में आए। यूपी में जहां औसतन हर साल 1864 मामले आते थे वहीं पिछले एक साल में सिर्फ 281 मामले दर्ज किए गए हैं। यानी हर राज्य में इस तरह के मामलों में भारी गिरावट देखने को मिल रही है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि के लिए ग्रह गोचर बेहतरीन परिस्थितियां तैयार कर रहा है। आप अपने अंदर अद्भुत ऊर्जा व आत्मविश्वास महसूस करेंगे। तथा आपकी कार्य क्षमता में भी इजाफा होगा। युवा वर्ग को भी कोई मन मुताबिक क...

और पढ़ें