नियम में बदलाव / कोरोना पॉजिटिव गर्भवती महिलाओं के प्रसव के लिए बनाया जा रहा है लेबर रूम और वार्ड

Labor room and ward being built for delivery of corona positive pregnant women
X
Labor room and ward being built for delivery of corona positive pregnant women

  • अब सेकेंड रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ही आइसोलेशन से मिल जाएगी छुट्‌टी
  • हरियाणा से आई प्रवासी महिला मिली कोरोना पॉजिटिव, अब संक्रमितों की संख्या 82

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

बिहारशरीफ. कोरोना को लेकर प्रवासियों की लगातार सेंपलिंग हो रही है।अब तक 41 प्रवासी कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। जिसमें महिलाएं भी शामिल है। दो गर्भवती महिला भी पॉजिटिव पायी गयी है। जिनके प्रसव के लिए सदर अस्पताल में तैयारी की जा रही है। ग्राउंड फ्लोर पर अलग से प्रसव वार्ड और लेबर रूम तैयार किया जा रहा है। ताकि ठीक होने के पूर्व प्रसव की स्थिति आयी तो कोई समस्या न हो। इसके अलावा एचआईवी और हेपेटाइटिस बी वाले मरीजों के प्रसव के लिए भी जगह चिन्हित कर लिया गया है। जल्द ही तैयारी शुरू की जायेगी।

प्राथमिकता के आधार पर कोरोना पीड़िताओं के लिए तैयारी चल रही है। सीएस डॉ. राम सिंह ने बताया कि एक सप्ताह के अंदर लेबर रूम और वार्ड को दुरुस्त कर दिया जायेगा। इसके लिए सेपरेट गैलरी होगी। जिसमें डाक्टर और मरीज के लिए अलग-अलग इंट्री गेट होगा। इसके अलावा प्रसव कराने वाली डॉक्टर और कर्मियों को पूरी सुरक्षा मुहैया करायी जायेगी। हालांकि अभी तक मरीज द्वारा प्रसव के लिए कोई सूचना नहीं दी गयी है।
सामान्य प्रसव की सुविधा
सीएस ने बताया कि तत्काल सामान्य प्रसव की तैयारी की जा रही है। अलग से ओटी नहीं बनाकर केवल लेबर रूम तैयार किया जा रहा है। अगर सिजेरियन की आवश्यकता पड़ी तो वर्तमान में चल रहे ओटी में ही अलग से व्यवस्था कर प्रसव कराया जायेगा। सावधानी में कोई कोताही नहीं की जायेगी। डॉक्टर के साथ मरीज भी पीपीई किट पहनेंगे।
नये संक्रमितों की संख्या पहुंची 82
शनिवार को बिंद प्रखंड से नये मरीज मिलने के साथ ही जिले में संक्रमितों की संख्या 82 हो गयी है। सीएस ने बताया कि नयी मरीज 25 वर्षीय महिला है जो हरियाणा से आयी है। हिस्ट्री के अनुसार महिला अपने पति और बच्चों के साथ हरियाणा से सीधा बिंद प्रखंड स्थित क्वारेंटाइन सेंटर आ गयी थी। पति और बच्चे का रिपोर्ट निगेटिव आया है। उन्होंने बताया कि विम्स से एक पॉजिटिव केस कन्फर्म के लिए पटना भेजा गया था। अभी तक रिपोर्ट नहीं आयी है। शनिवार को 47 लोगों की रिपोर्ट प्राप्त हुई है जिसमें एक पॉजिटिव है।
21 दिन के लिए होम क्वारेंटाइन: नये गाइड लाइन के अनुसार अब ए श्रेणी के राज्य व शहर से आने वाले प्रवासी ही क्वारेंटाइन होंगे। अन्य को 21 दिनों के लिए होम क्वारेंटाइन भेजा जायेगा। हालांकि स्क्रीनिंग सभी की होगी। सूरत, अहमदाबाद, मुम्बई, पूणे, दिल्ली, गाजियाबाद, फरीदाबाद, बंगलोर, गुरूग्राम नोएडा, कोलकाता जैसे अत्यधिक संक्रमित जोन से आयेंगे उन्हें क्वारेंटाइन सेंटर में रखा जायेगा। इस संबंध में डीएम योगेन्द्र सिंह ने सभी बीडीओ को वीसी के माध्यम से आवश्यक दिशा निर्देश दिये हैं। 
क्वारेंटाइन सेंटर की जिम्मेवारी बीडीओ को
डीएम ने सभी बीडीओ को क्वारेंटाइन सेंटर में आवासित लोगों से संबंधित व्यवस्था की जिम्मेवारी का सही तरीके से निर्वह्न का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि बीडीओ और उनकी टीम इसमें लगी है। प्रत्येक आवासित व्यक्ति को डिग्निटी किट सहित अन्य सामग्री एवं आपदा प्रबंधन विभाग के मानक संचालन प्रक्रिया के अनुरूप नाश्ता और भोजन की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है। पंचायत स्तर पर बनाये गये क्वारेंटाइन सेंटर की व्यवस्था पर विशेष रूप से ध्यान देने का निर्देश दिया गया है।
15 वर्षों के बाद मां से मिला घर से भागा पुत्र
कोरोना का पॉजिटिव इफेक्ट भी देखने को मिला। एक वृद्ध मां 15 साल बाद अपने बेटे से मिल सकी है। मां जय कुमारी देवी ने बताया कि 10 वर्ष पूर्व उनके पति की मृत्यु हो चुकी है। उन्हें दो पुत्र और एक पुत्री है। छोटा पुत्र 14 साल के उम्र में ही एकाएक गायब हो गया था। काफी खोजबीन के बाद पता नहीं चला। एक पुत्र सहारा था।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना