नामांकन:बाहर से आये बच्चों की बन रही सूची, स्कूल खुलने के बाद होगा नामांकन

बिहारशरीफएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पढ़ाई कर रहीं बच्चियों की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
पढ़ाई कर रहीं बच्चियों की फाइल फोटो।

बेहतर शिक्षा और बेहतर जीवन जीने के लिए लोग अपने गांव से दूर महानगरों में जाते हैं, लेकिन कोरोना जैसी महामारी ने लोगों को एक बार फिर से अपने गांव आने पर मजबूर कर दिया है। ऐसे में बाहर से आने वाले लोगों के अचानक स्कूलों के बदलने के बाद प्रवेश लेना बहुत मुश्किल का काम हो जाता है और बच्चे कई बार स्कूल ट्रांसफर सर्टिफिकेट के अभाव में शिक्षा से वंचित हो जाते हैं।  

इन्हीं परेशानी को देखते हुए समग्र शिक्षा विभाग ने पत्र जारी कर वैसे बच्चे जो लॉकडाउन के दौरान विभिन्न राज्यों से वापस अपने घर आये हैं उनकी सूची तैयार करने का निर्देश दिया है। सूची तैयार होने के बाद स्कूल खुलते ही  इन बच्चे का स्कूलों में नामांकन कराया जाएगा। डीईओ मनोज कुमार ने  बताया कि सभी शिक्षकों को अपने क्षेत्रों में लॉकडाउन के दौरान बाहर से आये बच्चों की सूची तैयार करने के निर्देश दे दिए गए हैं। उन्होने कहा है कि ग्रामवार, पंचायतवार और प्रखंडवार सूची बनाकर मेधासॉफ्ट पर इंट्री कराने का निर्देश दिया गया है। इसमें पूरी सावधानी बरतने के भी निर्देश दिये गए हैं ताकि किसी तरह की गलती नही हो।

विद्यालय के लॉग इन पर विकल्प उपलब्ध 
डीईओ ने कहा कि पिछले वर्ष की कक्षा में नामांकित बच्चों को इस वर्ष अगली कक्षा में प्रोन्नत कर दिया गया है। उन्होने कहा कि यदि प्रोन्नत किए हुए बच्चे कि कक्षा के सेक्शन में यदि विद्यालय द्वारा कोई परिवर्तन किया गया है तो ऐसी परिस्थिति में संबंधित विद्यालयों द्वारा उन बच्चों के सेक्शन में मेधा सॉफ्ट में भी परिवर्तन करने का निर्देश दिया गया है। मेधा सॉफ्ट में इसके लिए सभी विद्यालयों के लॉग इन में एनआईसी द्वारा आवश्यक विकल्प उपलब्ध करा दिया गया है। 

डीईओ बोले- नए नामांकन की ‘मेधासॉफ्ट’ में होगी इंट्री  
डीईओ ने बताया कि जिले के सभी सरकारी एवं सरकारी सहायता प्राप्त विद्यालयों में सभी प्रकार के नए नामांकन की इंट्री एनआईसी द्वारा विकसित सॉफ्टवेयर ‘मेधासॉफ्ट’में की जाएगी। उन्होने कहा कि पूर्व से नामांकित यदि किसी छात्र-छात्रा की इंट्री मेधा सॉफ्ट में अभी तक नहीं हो पायी है तो उनकी भी इंट्री पूर्ण कराने का निर्देश दिया गया है।  यदि नामांकन के समय कोई बच्चा मेधासॉफ्ट में इंट्री के लिए आवश्यक कागजात बैंक अकाउंट संख्या,आधार नम्बर आदि उपलब्ध नहीं करा पाता है तो उसे नामांकन के एक सप्ताह के अंदर प्राप्त कर उसकी इंट्री कराने का निर्देश दिया गया है। 

नामांकन को ले बच्चों को प्रोत्साहित करना है
डीईओ ने सभी बीईओ और एचएम को जिले में बाहर से आए एवं शहरी क्षेत्रों से ग्रामीण क्षेत्रों में आए बच्चों को उनके समीप के विद्यालयों में नामांकन को प्रोत्साहित करने का निर्देश दिया गया है। अभिभावकों को भी प्रेरित करने का निर्देश दिया गया है कि वह अपने बच्चों को अनिवार्य रूप से स्कूल भेजें। सूची तैयार करने और मेधा सॉफ्ट में इंट्री को लेकर किसी भी प्रकार की लापरवाही नही बरतने के निर्देश दिए गए हैं। विभाग द्वारा पूरी प्रक्रिया की  मॉनिटरिंग भी की जाएगी।

खबरें और भी हैं...