पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्मार्ट सिटी:योजना के क्रियान्वयन में लंबी छलांग, 42 अंक के साथ बिहारशरीफ 86 से 54वें स्थान पर पहुंचा

बिहारशरीफ6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 900 करोड़ में 20 करोड़ खर्च हुआ, आवंटन है 103 करोड़ का, सबसे पीछे चयनित होने के बाद भी बड़ा सुधार

पटना में आयोजित बैठक में स्मार्ट सिटी के तहत राज्य के चारों शहरों में योजना क्रियान्वयन व खर्च की समीक्षा की गई। जिसमें सबसे पीछे चयनित होने के बाद भी योजना के क्रियान्वयन व खर्च के मामले में बिहारशरीफ स्मार्ट सिटी दूसरे नम्बर पर रहा। पटना पहला और बिहारशरीफ स्मार्ट सिटी दूसरा, भागलपुर तीसरा और मुजफ्फरपुर चौथे स्थान पर है। वहीं ऑल ओवर इंडिया में पटना 29वें और बिहारशरीफ 54वें स्थान पर है। स्मार्ट सिटी के लिए सबसे पहले चयनित भागलपुर 66वें स्थान और दूसरी बार चयन होने वाला मुजफ्फरपुर 81 वें स्थान पर है। हालांकि पिछले वर्ष की तुलना में सभी स्मार्ट सिटी की रैंकिंग में काफी सुधार आया है। नगर आयुक्त अंशुल अग्रवाल ने बताया कि बिहारशरीफ स्मार्ट सिटी के तहत कुल 900 करोड़ खर्च किया जाना है। 148 करोड़ पर काम शुरू है जिसमें करीब 3 करोड़ का काम पूरा हो गया है। शेष पर काम तेजी से चल रहा है। बीते सात माह के अंदर इन सभी योजनाओं पर काम पूरा कर लिया जाएगा। करीब 400 करोड़ के योजना की निविदा हो चुकी है। करीब 300 करोड़ की योजनाओं के लिए प्लान तैयार किया जा रहा है। कोरोना के कारण करीब 8 माह काम प्रभावित रहा है। जिसके कारण रैंकिंग में कमी आई है। अगर हालात ठीक रहा तो एक साल में कई महत्वपूर्ण योजनाएं धरातल पर दिखेगी।
42 अंक मिले बिहारशरीफ को
योजना क्रियान्वयन व राशि खर्च के मामले में बिहारशरीफ स्मार्ट सिटी को 42 अंक मिला है। योजना क्रियान्वयन में 60 में 20, राशि खर्च करने में 28 में 18 और यूटिलाइजेशन में 12 में 8 अंक मिला है। नगर आयुक्त ने बताया कि जैसे-जैसे काम पूरा हो रहा है वैसे-वैसे एजेंसी को राशि उपलब्ध कराई जा रही है। इसके अलावे जिन योजनाओं का टेंडर हो चुका है उसपर तेजी से काम पूरा करने का निर्देश संवेदक को दिया गया है। साथ ही जिन योजनाओं पर बोर्ड की सहमति बन गई है उसका टेंडर प्रकाशित करने की प्रक्रिया पूरी की जा रही है।

काम के अनुसार हो रहा भुगतान
स्मार्ट सिटी के तहत बिहारशरीफ को केन्द्र व राज्य सरकार से 103 करोड़ रुपया आवंटित किया गया है। जिसमें अभी तक मात्र 20 करोड़ खर्च किया गया है। करीब 5 करोड़ पीएमसी के अधिकारियों के वेतन पर खर्च हुआ है। विगत तीन सालों में स्मार्ट सिटी में जो भी खर्च हुआ है। वह एक साल के अंदर हुआ है। नगर आयुक्त ने बताया कि राशि भुगतान में किसी प्रकार की समस्या नहीं हो रही है। काम के अनुसार एजेंसी को भुगतान किया जा रहा है। 1-2 महीने में राशि भुगतान में और तेजी आएगी।

148 करोड़ पर काम जारी
स्मार्ट सिटी के तहत 148 करोड़ की योजनाओं पर काम शुरू है। जिसमें चिल्ड्रेन पार्क, सुभाष पार्क, गांधी पार्क, श्रमकल्याण मैदान का जीर्णोद्धार , हेल्थ क्लब में पहले फेज का काम पूरा कर लिया गया है। वहीं आईसीसीसी-एमएसआई, बाजार समिति का पहला फेज, टिकुलीपर और सुभाष पार्क पोखर, टाउन हॉल का जीर्णोद्धार, 9 प्राथमिक विद्यालय का जीर्णोद्धार, आईसीसीसी बिल्डिंग, धनेश्वर घाट तालाब पर काम जारी है। करीब 7 माह के अंदर इन योजनाओं को पूरा कर लिए जाने की संभावना है।

343.53 करोड़ की निविदा प्रकाशित : 333.56 करोड़ की योजनाओं का टेंडर प्रकाशित कर दिया गया है। जिसमें 266.97 करोड़ का सिवरेज-ड्रेनेज, 57.69 करोड़ का बाजार समिति के दूसरे फेज का काम, 17.20 करोड़ का लालो व श्रृंगारहाट पोखर और 1.67 करोड़ का नालंदा महिला कॉलेज का जीर्णोद्धार का काम शामिल है।
काम में तेजी लाने का निर्देश
नगर आयुक्त ने बताया कि समीक्षा बैठक में प्रधान सचिव द्वारा स्मार्ट सिटी की योजनाओं में तेजी लाने का निर्देश दिया गया है। विभागीय निर्देश के आलोक में काम की लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। कार्य प्रगति से संबंधित प्रति दिन की रिपोर्ट पीएमसी के अधिकारियों को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। जिन योजनाओं के लिए समय सीमा तय की गई है उसके अंदर काम पूरा करने का निर्देश संवेदकों को दिया गया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों में आपकी व्यस्तता बनी रहेगी। किसी प्रिय व्यक्ति की मदद से आपका कोई रुका हुआ काम भी बन सकता है। बच्चों की शिक्षा व कैरियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी संपन...

    और पढ़ें