पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सुविधा:ऑनलाइन पढ़ाई के लिए शुरू होगा मिशन कैवल्य

बिहारशरीफ़6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पढ़ाई करते बच्चे का फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
पढ़ाई करते बच्चे का फाइल फोटो।
  • सात जून को ई- लर्निंग के लिए अफसरों व शिक्षकों के साथ लाइव सेशन का आयोजन

कोरोना काल में ई- लर्निंग सुनिश्चित करने के लिए अफसरों और शिक्षकों का एक साथ लाइव सेशन होगा। इस संबंध में डीपीओ समग्र शिक्षा अभियान हेमचन्द्र ने बताया कि 7 जून को मिशन कैवल्य के तहत दीक्षा प्लेटफार्म पर ई-स्कॉर्ट कार्यक्रम लॉन्च किया जाएगा। इस बारे में प्राथमिक शिक्षा निदेशक ने पत्र जारी करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं। लाइव सेशन में माध्यमिक शिक्षा निदेशक गिरिवर दयाल सिंह व प्राथमिक शिक्षा निदेशक डॉ. रंजीत कुमार सिंह के अलावा जिले के शिक्षा अधिकारी समेत हेडमास्टर, शिक्षक, विद्यालय शिक्षा समिति सदस्य, टोला सेवक आदि के साथ विचार को साझा कर ऑनलाइन पढ़ाई व्यवस्था की जानकारी दी जाएगी। साथ ही ई-स्कॉर्ट कार्यक्रम का भी शुभारंभ किया जाएगा।
शिक्षा विभाग और एससीईआरटी की योजना

शिक्षा विभाग एवं एससीईआरटी के संयुक्त प्रयास से मिशन कैवल्य के तहत दीक्षा प्लेटफार्म पर शिक्षक प्रशिक्षण ई- कोर्स एस्कॉर्ट कार्यक्रम लॉन्च किया जा रहा हैं। इस संबंध में निदेशक माध्यमिक शिक्षा एवं प्राथमिक शिक्षा के द्वारा यूट्यूब लाइव सेशन के माध्यम से कार्यक्रम निर्धारित किया गया है। इसके तहत अधिकारियों व शिक्षकों को वर्तमान परिस्थिति में बच्चों के लिए ऑनलाइन पढ़ाई संचालित करने का तौर-तरीका बताया जाएगा।

बंद हैं शिक्षण संस्थान: अधिक से अधिक शिक्षकों को जोड़ा जाएगा ट्रेनिंग में

कोरोना महामारी को लेकर पिछले साल से ही पिछले साल से से ही शिक्षण संस्थान बंद हैं और छात्रों के पठन-पाठन पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। ऐसे में शिक्षा विभाग और एससीआरटी के संयुक्त प्रयास से मिशन कैवल्य के तहत ई-लर्निंग से जोड़ने की पहल की गई है। सात जून को ई एस्कॉर्ट कार्यक्रम के तहत इन दोनों ई-लर्निंग से जुड़ी ट्रेनिंग सेशन की शुरुआत की जाएगी। सात जून को दोपहर एक बजे से इसकी शुरुआत होगी और ई लर्निंग के तहत कैसे अधिक से अधिक बच्चों को जोड़कर इस कोरोना महामारी में किस तरह से पढ़ाई कराई जा सकती है। इसकी जानकारी दी जाएगी। डीपीओ ने बतायाकि इस सम्बंध में सभी बीईओ और सभी हेडमास्टर को निर्देश दिया गया है कि अधिक से अधिक शिक्षकों को इसमें जोड़कर ट्रेनिंग में शामिल किया जाए।

खबरें और भी हैं...