पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नई व्यवस्था:कंपोजिट रैंकिंग के माध्यम से पंचायती राज विभाग के कार्यों की अब समीक्षा, खराब प्रदर्शन पर कार्रवाई

बिहारशरीफ़9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नल-जल योजना के लिए पानी की टंकी। - Dainik Bhaskar
नल-जल योजना के लिए पानी की टंकी।
  • तकनीकी सहायकों एवं लेखापाल की सभी योजनाओं में उनके प्रदर्शन के आधार पर तैयार की गई रैंकिंग, हर महीने होगी अपडेट
  • डीपीआरओ बाेले लगातार खराब प्रदर्शन करने पर होगी कार्रवाई

पंचायत राज विभाग के कार्यों की समीक्षा अब कंपोजिट रैंकिंग के माध्यम से की जाएगी। जिला पंचायत राज पदाधिकारी नवीन कुमार पांडेय ने बताया कि सभी प्रखंडों, तकनीकी सहायकों एवं लेखापाल का सभी योजनाओं में उनके प्रदर्शन के आधार पर रैंकिंग तैयार किया गया है जो हर महीने अपडेट किया जाएगा। लगातार खराब प्रदर्शन करने पर कारवाई की जाएगी। साथ ही नल जल योजना से संबंधित शिकायतों के ससमय निष्पादन के लिए डीपीएमयू लीड रामानेक कुमार की अध्यक्षता में एक कमिटी बनाई गई है। साथ ही इसमें एक लेखापाल की भी प्रतिनियुक्ति की गई है ताकि वित्तीय अनियमितता से संबंधित शिकायतों के निष्पादन में दिक्कत ना हो। डीपीआरओ ने निर्धारित फॉर्मेट में वार्डों को ट्रांसफर की गई राशि का योजनावार विवरण देने का निर्देश दिया है। ताकि वार्डों को राशि ट्रांसफर करने के दौरान बरती गयी अनियमितता से संबन्धित प्राप्त शिकायतों का निष्पादन किया जा सके। इसके लिए दिये गए गूगल शीट के लिंक पर डाटा इंट्री करने को कहा गया है। गूगल शीट के अभियुक्ति कॉलम में यह विवरण देना होगा कि कितने घरों को पानी नही मिला है और अगर नही मिला है तो उसका क्या कारण है? डीपीआरओ ने बताया कि अभिलेख प्रपत्र पूर्णता में उपलब्धि के आधार पर प्रखंडों मे प्रतिनियुक्त लेखपालों की रैंकिंग की गयी है।
गूगल शीट पर डाटा करना होगा अपलोड
गूगल शीट पर नल-जल योजनावार ट्यूबवेल की बोरिंग, कनेक्शन, वितरण, पाईप बिछाने तथा स्टैंजिंग के कार्यो की अद्यतन स्थिति का भी विवरण देना होगा। उन्होंने बताया कि जिस वार्ड मे कार्य पूर्ण नही कराया गया है और बिना किसी वजह घरों को पानी नही दिया जा रहा है। उसकी जांच व चिंन्हित कर उक्त वार्ड क्रियान्वयन समिति सदस्य से राशि वसुल कराते हुए उनके उपर विभागीय कारवाई भी की जाएगी। साथ ही, यदि वार्ड सदस्य के खाते में राशि ट्रांसफर से संबन्धित शिकायतों के आलोक में अनियमितता पायी जाती है तो उक्त मुखिया के विरुद्ध कार्रवाई की अनुशंसा पंचायती राज विभाग से की जाएगी।

तकनीकी सहायक रैंकिंग में संजीव तेंदुलकर रहे पहले तो एकलव्य रहे अंतिम स्थान पर

डीपीआरओ ने बताया कि गूगल शीट, जल जीवन हरियाली पोर्टल एवं पीआरडी निश्चय सॉफ्ट के आधार पर तकनीकी सहायकों की रैंकिंग की गई है। जिले में तैनात तकनीकी सहायकों की उनके कार्यो के आधार पर रैंकिंग किया गया जिसमें हरनौत के संजीव तेंदुलकर ने 86.00 प्रतिशत औसत उपलब्धि के साथ पहले,अस्थावां के अविनाश कुमार 81.1 प्रतिशत के साथ दूसरे, गिरियक के अजय कुमार 80.6प्रतिशत के साथ तीसरे,चंडी के प्रेम राज 78.9 प्रतिशत के साथ चौथे,चंडी के ही निशात अमजद 78.3 प्रतिशत के साथ पांचवे, एकंगरसराय के आदित्य कुमार 77.7 प्रतिशत के साथ छठे,गिरियक के आयुष राज 77.7।प्रतिशत के साथ सांतवे, हिलसा के स्मृति राज 77.6 प्रतिशत के साथ आठवे, बेन के विवेक कुमार 76.8 प्रतिशत के साथ के नौवे तथा रहुई के नीतीश कुमार 76.7 प्रतिशत के साथ दसवें स्थान पर रहे। जबकि थरथरी के रोहन कुमार(62.3 प्रतिशत ),हिलसा के सुदेश(61.4 प्रतिशत),अस्थावां के पवन कुमार(60.8 प्रतिशत ),बिहारशरीफ़ के मुदानिश(55.1 प्रतिशत) तथा नूरसराय के एकलव्य कुमार सिंह(48.8 प्रतिशत) अंतिम पांच में रहे है। लगातार अंतिम दस में रहने वाले तकनीकी सहायकों पर कार्रवाई की जाएगी। इस संदर्भ में डीपीआरओ ने जिला प्रोजेक्ट लीड एवं जिला प्रोग्रामर को आवश्यक निर्देश दिए हैं। ।साथ ही उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले कर्मियों को डीएम के द्वारा प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा।

प्रखंड एआईसीटी नल-जल गली-नाली मास्क पेमेंट उपलब्धि रहुई मनीषा कुमारी 82.69% 78.29% 120.99% 93.99% बिहारशरीफ़ पिंकी सिंहा 89.15% 79.64% 111.72% 93.51% बिहारशरीफ़ विजय राज 91.76% 70.86% 112.49% 91.71% बिहारशरीफ़ रागिनी सिन्हा 94.99% 73.78% 77.17% 81.98% सिलाव किरण कुमारी 80.34% 84.68% 75.47% 80.16% चंडी अनिकेत कुमार 79.14% 75.85% 82.59% 79.19% राजगीर मोनिका कुमारी 79.17 84.31% 63.62% 75.70% रहुई रवि कुमार 87.10% 85.46% 54.24% 75.60% रहुई रिया 80.73% 68.74% 76.58% 75.35% हरनौत नवनिता कुमारी 77.33% 87.28% 60.77% 75.13%

नल-जल के लिए - कुल प्रारंभ योजना, टोटल एमवी अपलोडेड,कुल पूर्ण योजना,उपभोक्ता शुल्क वसूलने वाले कुल वार्ड,जल मीनार युक्त कुल योजना,विधिवत बिजली युक्त कुल योजना।

गली-नाली के लिए
कुल प्रारंभ योजना, टोटल एमवी अपलोडेड, कुल पूर्ण योजना
जल जीवन हरियाली अभियान- सर्वेक्षित कुआं,कार्य पूर्ण (कुआं) टॉप टेन लेखापाल की रैंकिंग

दी गई चेतावनी
अद्यतन प्रतिवेदन के अनुसार नल-जल योजना से संबन्धित अभिलेख संधारण मे नीचे के पांच प्रखंडों के लेखपालों नूरसराय की रिमझिम कुमारी (56.84%),सरमेरा के अरविंद कुमार(54.42%),इसलामपुर के मो तवरेज खान (52.93%),बेन के अमित कुमार(52.13%) तथा इसलामपुर की खुशबू कुमारी(51.41%) रहा हैं। इन सभी को कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया गया है। इसके बावजूद कार्य में प्रगति नहीं हुई तो कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...