पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टीका से हारेगा काेरोना:मात्र 16 प्रतिशत लोगों ने लिया वैक्सीन का सेकेंड डोज, नियमों में बदलाव बताया जा रहा है कारण

बिहारशरीफ10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वैक्सीन लेने वालों को पौधा देते सीओ प्रभाकर। - Dainik Bhaskar
वैक्सीन लेने वालों को पौधा देते सीओ प्रभाकर।
  • कोरोना की तीसरी लहर की तैयारी के बीच टीकाकरण की अनदेखी चिंता का विषय

कोरोना की तीसरी लहर से बचाव के लिए वैक्सीनेशन को सबसे अहम हथियार बताया जा रहा है। तीसरी लहर के आने के पूर्व ही 18 साल से उपर के लोगों का भी टीकाकरण कर उन्हें संक्रमण से सुरक्षित करने का प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए शहर से लेकर गांव तक सत्र आयोजित किए जा रहे हैं। लेकिन लाभार्थियों की ही टीकाकरण के प्रति बेरुखी देखी जा रही है।

खासकर 45 साल से उपर के लाभार्थियों को सुरक्षित करने पर ज्यादा ध्यान दिया जा रहा है। लेकिन सबसे ज्यादा इन्हीं लोगों द्वारा अनदेखी की जा रही है। पहला डोज लेने वालों द्वारा अनदेखी के कारण तो विभागीय नियमों के कारण दूसरे डोज लेने वाले लाभार्थी टीका नहीं ले पा रहे हैं। प्रथम डोज की तुलना में मात्र 16 प्रतिशत ने ही सेंकेंड डोज लिया है। अब तक जिले में 4 लाख 14 हजार 96 लोगों को फर्स्ट डाेज दिया गया है। लेकिन मात्र 66307 लोगों ने ही सेकेंड डोज लिया है। जिसमें 45 प्लस के 1 लाख 5 हजार 209 और 18 प्लस के 60 हजार 867 लाभार्थी शामिल हैं। शेष 60 प्लस, फ्रंट लाइन वर्कर आैर हेल्थ वर्कर ने टीका लिया है।

टीकाकरण में अचानक गिरावट

डीआईओ डॉ. राम मोहन सहाय ने बताया कि 45 प्लस के टीकाकरण में विगत एक सप्ताह से अचानक गिरावट आई है। जो अभी भी जारी है। शुरूआती दौर में 45 प्लस के लाभार्थियों में गजब का उत्साह देखा गया था। जिसके कारण एक दिन में ही करीब 22 हजार लोगों का टीकाकरण हुआ था। लेकिन एक सप्ताह से लोग अनदेखी कर रहे हैं। पहले एक दिन में 45 साल से उपर के 1 हजार से 1500 लाभार्थियों का टीकाकरण होता था। लेकिन 31 मई से देखा जाय तो अब 3-5 सौ प्रति दिन ही टीकाकरण हो रहा है। जबकि सरकार द्वारा सुविधा भी बढ़ा दी गई है। पहले सत्र स्थल पर जाने के लिए लाभार्थियों को लंबी दूरी तय करनी पड़ती थी लेकिन टीका एक्सप्रेस के माध्यम से अब सत्र स्थल गांव तक जा रहा है। जागरूक करने के दौरान स्वास्थ्य कर्मियों को काफी कुछ सुनना भी पड़ता है।

टीका लेने वालों को पौधे बांटे

नूरसराय : रविवार को टीकाकरण केंद्र नूरसराय महाविद्यालय परिसर में 18 प्लस के 160 लोगों को कोरोना टीका दिया गया। वहीं टीकाकरण एक्सप्रेस के माध्यम से 45 प्लस के 60 लोगों को टीकाकरण दिया गया। सीओ सह बीडीओ प्रभाकर पटेल ने नूरसराय महाविद्यालय में हो रहे वैक्सीनेशन का जायजा लिया। ं टीका लेने वालों के बीच सौ अमरूद का पौधा भी सीओ ने निःशुल्क वितरण किया। सभी पौधे मिशन हरियाली नूरसराय के द्वारा निःशुल्क उपलब्ध कराया गया।

शीघ्र ही आएगी वैक्सीन

18 प्लस के लाभार्थियों के लिए 12 मई से टीकाकरण अभियान कोवैक्सीन के साथ शुरू किया गया था। नियमानुसार 12 जून से 24 जून तक सेकेंड डोज के लिए समय निर्धारित है। इसके अनुसार एक सप्ताह बाद इन लोगों को सेकेंड डोज देने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। लेकिन पहले लॉट का कोवैक्सीन समाप्त होने के बाद अब तक दूसरा लॉट नहीं आया है। डीआईओ ने बताया कि कोवैक्सीन आने की संभावना है।

सुरक्षाचक्र : अगर पहले के नियम से सेेकेंड डोज लगे तो 3 लाख लोग सुरक्षित

बदलते नियमों के कारण अभी तक मात्र 16 प्रतिशत लोग ही सेकेंड डोज ले पाए हैं। जितने लोग फर्स्ट डोज लिए हैं उतने लोगों को पहले के नियम अनुसार अगर सेंकेंड डोज दे दिया जाय तो करीब 3 लाख लोग तो सुरक्षित हो जाएंगे। क्योंकि 45 प्लस के लाभार्थियों की रुचि को देखा जाय तो फर्स्ट डोज से ज्यादा सेंकेंड डोज लेने के लिए लोग आगे आ रहे हैं। लेकिन दिया नहीं जा रहा है। डीआईओ ने बताया कि टीकाकरण के लिए जागरूक के दौरान फर्स्ट डोज लेने वाले तैयार नहीं हो रहे हैं। कुछ लोग तैयार भी हो रहे हैं तो वह सेंकेंड डोज लेने वाले हैं। लेकिन विभागीय गाइडलाइन के अनुसार जो समय निर्धारित किया गया है, उसके अनुसार सेकेंड डोज नही दिया जा सकता है। सेकेंड डोज के लिए पहले 28 दिन, फिर 6-8 सप्ताह और अब 12 सप्ताह निर्धारित किया गया है।

खबरें और भी हैं...