पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आयुष्मान पखवारा:12 लाख का महज एक प्रतिशत लक्ष्य पूरा, 12 हजार 669 गोल्डेन कार्ड ही बने, बाकी अधूरा

बिहारशरीफ7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • गोल्डेन कार्ड बनने की रफ्तार धीमी, 7 दिन में लक्ष्य पूरा करना दूर की कौड़ी
  • इसलामपुर, एकंगरसराय, हरनौत को छोड़ कहीं भी अभी तक 1 हजार कार्ड भी नहीं बना

आयुष्मान भारत के लाभुकों का गोल्डेन कार्ड बनाने के लिए आयुष्मान पखवारा के तहत पंचायत स्तर पर शिविर का आयोजन किया जा रहा है। ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों का कार्ड बनाया जा सके। लेकिन शिविर तो लगाया जा रहा है लेकिन अपेक्षानुसार कार्ड नहीं बन पा रहा है। जिले में पखवारे के तहत निर्धारित समय के भीतर टारगेट पूरा करना दूर की कौड़ी दिख रही है। 15 दिनों तक आयोजित होने वाले शिविर में एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी टारगेट का मात्र 1 प्रतिशत ही कार्ड बन पाया है। हालांकि कुछ प्रखंडों की स्थिति काफी अच्छी है। लेकिन अधिकांश प्रखंडों में लक्ष्य के अनुरूप काम नहीं हो पा रहा है। जिले में 12 लाख 12 हजार 538 लोगों को गोल्डेन कार्ड बनाया जाना है लेकिन 22 फरवरी तक मात्र 12 हजार 669 लोगों का ही कार्ड बन पाया है। विभागीय रिपोर्ट के अनुसार शुरुआत के तीन दिन तो स्थिति काफी दयनीय रही है। कुछ प्रखंडों को छोड़ दिया जाए तो अधिकांश प्रखंडों में नहीं के बराबर कार्ड बनाया गया है। आयुष्मान भारत की डीपीसी शबनम ने बताया कि कार्ड बनाने में कुछ प्रखंडों की स्थिति ठीक नहीं है। इसलामपुर, एकंगरसराय, हरनौत को छोड़ किसी भी प्रखंड में अभी तक 1 हजार लाभार्थी का भी कार्ड नहीं बन पाया है।

शिविर से लौट रहे हैं लाभुक
जिन प्रखंडों में कार्ड बनाने की गति काफी धीमी है। वहां के कार्यपालक सहायक द्वारा लापरवाही बरती जा रही है। बिना किसी सूचना के समय पर शिविर में नहीं पहुंच रहे हैं। जिसके कारण शिविर में लाभुक तो पहुंच रहे हैं लेकिन बिना कार्ड बनाए वापस लौट रहे हैं। 17 और 18 फरवरी का आंकड़ा देखा जाए तो इसलामपुर, एकंगरसराय, नगरनौसा, चंडी एवं हरनौत को छोड़ कर शेष प्रखंडों में 10 से कम कार्ड बनाए गए हैं। इन दो दिनों के दौरान कुछ प्रखंडों में तो एक भी कार्ड नहीं बनाया गया है।

5 प्रखंड की स्थिति खराब
पांच प्रखंडों की स्थिति सबसे खराब है। परबलपुर की स्थिति तो सबसे ज्यादा दयनीय है। 24 हजार 789 लाभुकों का कार्ड बनाने का लक्ष्य है जिसमें मात्र 54 लोगों का ही कार्ड बन पाया है। इसके अलावा राजगीर में 37589 के विरूद्ध 168, सिलाव में 98364 के विरूद्ध 162 कार्ड बन पाय

लाभार्थी को भी जागरूक होने की जरूरत| डीपीसी ने बताया कि कर्मियों की लापरवाही तो है ही लेकिन लाभार्थी भी जागरूक नहीं हैं। जब तक कार्ड नहीं बन जाता तब तक योजना का लाभ नहीं मिलेगा। इसलिए लाभार्थियों को भी जागरूक होने की आवश्यकता है। कहीं भी शिविर में किसी प्रकार की समस्या होती है तो जिला स्तर पर शिकायत करें। ताकि निदान हो।

नगर निगम में कार्ड बनाने की प्रक्रिया शुरू| डीपीसी ने बताया की ग्रामीण क्षेत्र के साथ-साथ नगर निगम क्षेत्र में भी वसुधा केन्द्र पर कार्ड बनाने की प्रक्रिया शुरू है। फिलहाल 24 वार्ड में गोल्डेन कार्ड बनाया जा रहा है। उन्होंने बताई कि वार्ड 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 18, 19,20, 21, 22, 23, 24, 25, 26, 27, 30, 31, 32, 33, 39, 40 में विभिन्न जगहों पर कार्ड बना है।

किस प्रखंड में कितना कार्ड बना
प्रखंड लक्ष्य अब तक
अस्थावां 95304 203
बेन 39371 408
बिहारशरीफ 110252 995
बिंद 36860 241
चंडी 85961 634
एकंगरसराय 79032 1263
गिरियक 40453 578
हरनौत 95821 1271
हिलसा 69194 894
इसलामपुर 81933 3088
करायपरसुराय 38646 282
कतरीसराय 1808 123
नगरनौसा 54742 433
नुरसराय 80238 273
परवलपुर 24789 54
रहुई 80443 648
राजगीर 37598 168
सरमेरा 55094 553
सिलाव 98364 162
थरथरी 30705 162

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी सकारात्मक और संतुलित सोच द्वारा कुछ समय से चल रही परेशानियों का हल निकलेगा। आप एक नई ऊर्जा के साथ अपने कार्यों के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। अगर किसी कोर्ट केस संबंधी कार्यवाही चल र...

    और पढ़ें