पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्वच्छता:ओडीएफ प्लस के बाद गार्बेज फ्री सिटी की तैयारी, अपशिष्ट प्रबंधन पर हो रहा काम

बिहारशरीफ10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 20 टन क्षमता का तैयार होगा एमआरएफ सिस्टम, 1, 2 और 3 स्टार सिटी की होगी रैंकिंग

स्वच्छता के क्षेत्र में बिहारशरीफ नगर निगम को ओडीएफ प्लस मिलना बड़ी उपलब्धि है। अब शहर को जीएफसी (गार्बेज फ्री सिटी) बनाने की तैयारी चल रही है। इसमें स्टार रैकिंग के लिए अपशिष्ट प्रबंधन से जुड़ी सभी प्रक्रिया पूरी की जा रही है। इसमें नगर निगम से ज्यादा आम लोगों के सहयोग मिलने पर ही सफलता मिल सकती है। अपशिष्ट प्रबंधन के आधार पर ही गार्बेज फ्री सिटी के तहत शहर की रैकिंग की जाएगी। शहर की वर्तमान स्थिति के अनुसार नगर निगम को इसके लिए कड़ी करनी होगी। जीएफसी के लिए सबसे बड़ा मानक खुले में कचरा नहीं दिखना है। इसके लिए कई तरह के प्रबंधन की आवश्यकता है। नगर आयुक्त अंशुल अग्रवाल ने बताया कि खुले में कचरा नहीं दिखे इसके लिए कई प्रयास किए जा रहे हैं। सबसे पहले डोर टू डोर कचरा कलेक्शन पर जोर दिया जा रहा है। व्यवसायिक क्षेत्र से इसकी शुरुआत कर दी गई है। घरों से कलेक्शन किया जाना है। डस्टबीन का क्रय किया जा रहा है। साथ ही 6 बड़ा टीपर और 10 ई-रिक्शा टीपर खरीदने की प्रक्रिया चल रही है।

गार्बेज फ्री सिटी में शामिल करने की रणनीति
नगर आयुक्त ने बताया कि शहरों को गार्बेज फ्री सिटी के तहत शहरों को 1 स्टार सिटी, 3 स्टार सिटी और 5 स्टार सिटी की श्रेणी में शामिल किया जाता है। हालांकि मानक के अनुसार 3 और 5 स्टार के लिए व्यवस्थित सिवरेज होना जरूरी है। 1 स्टार सिटी के लिए ही तैयारी की जा रही है।

खरीदे जाएंगे कई उपकरण
नगर आयुक्त ने बताया कि अपशिष्ट प्रबंधन के लिए सबसे पहले यंत्र की आवश्यकता है। इसके लिए करीब 72 हजार जोड़ा डस्टबीन क्रय किया जाएगा। जितने बड़े कचरा प्वाइंट है वहां ट्रैक्टर डाला रखने की तैयार की जा रही है। ताकि खुले में कचरा नहीं दिखे। आवश्यकतानुसार कुछ जगहों पर 1100 लीटर का डस्टबीन रखा जाएगा।

17 नम्बर बायपास के समीप बनेगा एमआरएफ
सिटी मैनेजर राजीव कुमार ने बताया कि अपशिष्ट निष्पादन के लिए एमआरएफ (मेटेरियल रिकवरी फैसिलिटी सेंटर) बनाने की तैयारी चल रही है। यूएनडीपी को इसकी जवाबदेही दी गई है। वार्ड 5 में 17 नम्बर बाईपास के समीप 20 टन क्षमता का सेंटर बनाया जाएगा। सफल होने पर अन्य जगहों पर सेंटर बनेगा।

सहयोग जरूरी
नगर आयुक्त ने कहा कि ओडीएफ प्लस घोषित किया जाना शहर के लिए गर्व की बात है। शहर के सभी शौचालयों को व्यवस्थित किया जा रहा है। अब गार्बेज फ्री सिटी के लिए तैयारी की जा रही है। इसमें आम लोगों की सहयोग की आवश्यकता है। लोग खुले में कचरा नहीं फेंके। घरो में भी गीला-सूखा कचरा अलग रखें ताकि निष्पादन में आसानी हो। लोगों की लापरवाही से सफल नहीं हो पाते हैं।

इन बिंदुओं पर होगी मार्किंग
डोर टू कचरा उठाव। ,गीला और सूखा कचरा को अलग-अलग करना। ,पब्लिक और कॉमर्शियल एरिया में नियमित स्विपिंग की व्यवस्था। ,बल्क वेस्ट का ऑन स्पॉट डिस्पोजल। ,यूजर चार्जेज का नहीं लिया जाना। ,पॉलीथिन पर प्रतिबंध नहीं लग पाना।
11 बिंदुओं पर होगी मार्किंग
सिटी मैनेजर ने बताया कि डोर टू कचरा उठाव, गीला और सूखा कचरा को अलग-अलग करना, बल्क वेस्ट का ऑन स्पॉट डिस्पोजल, गीला कचरा निष्पादन के लिए कंपोस्ट पीट का निर्माण समेत कुल 11 बिंदुओं पर मार्किंग होनी है। कुछ कार्य पूर्व से किए जा रहे हैं। शेष अन्य बिंदुओं पर काम जारी है।
इन बिंदुओं पर होगी मार्किंग
{डोर टू डोर कचरा उठाव {गीला और सूखा कचरा को अलग-अलग करना। {पब्लिक और कॉमर्शियल एरिया में नियमित स्विपिंग की व्यवस्था। {बल्क वेस्ट के ऑन स्पॉट डिस्पोजल। {यूजर चार्जेज का की वसूली। {पॉलीथिन पर प्रतिबंध। {गीला कचरा निष्पादन के लिए कंपोस्ट पीट का निर्माण। {सुखा कूड़ा निष्पादन के लिए एमआरएफ का निर्माण। {प्लास्टिक अपशिष्टों को निष्पादन। {सी एंड डी वेस्ट प्लांट का निर्माण। {बायो मेडिकल वेस्ट के निष्पादन की तैयारी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें