कोरोना का कहर:पांचवें दिन शुरू हुई सैम्पलिंग, 70 प्रशासनिक अधिकारी समेत 352 लोगों का लिया सैंपल

बिहारशरीफ/गिरियक/राजगीरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कलेक्ट्रेट जाने के पहले गेट के बाहर लोगों की स्क्रीनिंग करते जवान। - Dainik Bhaskar
कलेक्ट्रेट जाने के पहले गेट के बाहर लोगों की स्क्रीनिंग करते जवान।
  • अधिकारी व कर्मी के संक्रमित होनेे से भय, स्क्रीनिंग के बाद ही कलेक्ट्रेट में इंट्री
  • अब इच्छानुसार होम आइसोलेट भी हो सकते हैं कोरोना संक्रमित, बाॅन्ड भरकर देना होगा विभाग को

कलेक्ट्रेट में वरीय उप समाहर्ता और एक कर्मचारी के पॉजिटिव पाये जाने के बाद अधिकारी से लेकर कर्मचारी तक संक्रमण से डरे हुए हैं। कलेक्ट्रेट में पूरी सावधानी बरती जा रही है। बिना थर्मल स्क्रीनिंग के किसी को भी इंट्री नहीं दिया जा रहा है। मेन गेट पर ही पुलिसकर्मियों को थर्मल स्कैनर दे दिया गया है ताकि लोगों के शरीर की तापमान को माप सकें। मंगलवार को जांच रिपोर्ट नहीं आने के कारण एक भी कोरोना पॉजिटिव का केस सामने नहीं आया है। राहत की बात है कि चार दिन बात सैंपलिंग की प्रक्रिया शुरू हुई है। सभी सैंपल आरएमआईआर भेजा जायेगा। विम्स में अभी भी जांच शुरू नहीं की गयी है।

लक्षण दिखने पर अपने नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र को सूचना देनी होगी
पॉजिटिव मरीज अब अपनी इच्छा और सुविधा के अनुसार भी आइसोलेट हो सकते हैं। सीएस डॉ. राम सिंह ने बताया कि विभाग द्वारा जारी नई गाइडलाइन के अनुसार अब कोई भी कोरोना पॉजिटिव मरीज अपनी सुविधा के अनुसार आइसोलेट हो सकते हैं। सरकारी आइसोलेशन सेंटर की तरह मरीज के घर पर ही सुविधा उपलब्ध है और सही से नियमों का पालन कर सकते हैं तो वे होम आइसोलेशन में भी रह सकते हैं।

लेकिन उन्हें सभी नियमों का पालन करने से संबंधित स्वास्थ्य विभाग को बांड भरना होगा। साथ ही होम आइसोलेशन के दौरान मरीज को किसी प्रकार का लक्षण दिखने पर अपने नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र को सूचना देनी होगी। ताकि उसका समुचित इलाज किया जा सके। उन्होंने बताया कि होम आइसेलेशन में रहने वाले पॉजिटिव मरीज में अगर 10 दिन तक किसी प्रकार का लक्षण नहीं पाया जाता है तो कोरोना का रिस्क समाप्त माना जाएगा लेकिन 14 दिन बाद ही घर से बाहर निकलना होगा। गंभीर मामलों में ऐसी छूट नहीं होगी।

पटना और विम्स में चार दिनों से सैम्पल नहीं जा रहा था
चार दिनों से बंद सैम्पलिंग की प्रक्रिया मंगलवार को शुरू हुई। 70 प्रशासनिक अधिकारी व कर्मचारी समेत 352 लोगों का सैम्पल लिया गया है। जिसमें 235 वीटीएम और 117 एटीएम है। सीएस डॉ. राम सिंह ने बताया कि पटना और विम्स में चार दिनों से सैम्पल नहीं लिया जा रहा था।मंगलवार को लिए गए सैम्पल को आरएमआरआई भेजा जाएगा।

सिम्टमेटिक, क्लोज कॉन्टैक्ट और भीड़ वाले इलाकों से सैम्पल लिया जाना है
सीएस ने बताया कि कोरोना का संक्रमण इस तरह फैल चुका है कि सावधानी नहीं बरती गई तो कौन व्यक्ति कब संक्रमित हो जाएगा यह कहना मुश्किल है। इसलिए सभी बीएचएम को निर्देश दिया गया है कि विभाग व जिला द्वारा दिए गए गाइडलाइन के अनुसार ही सैंपलिंग कराएं। उन्होंने बताया कि विगत दिनों अनावश्यक रूप से सैम्पलिंग कराए जाने के कारण अब तक 9 बीएचएम का वेतन बंद कर दिया गया है। सिम्टमेटिक, क्लोज कॉन्टैक्ट और भीड़-भाड़ वाले इलाकों से सैम्पल लिया जाना है।

गिरियक : विम्स में कोरोना कंफर्मेशन किट समाप्त, ट्रूनेट पॉजिटिव मरीजों चिंता बढ़ी
वर्द्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान पावापुरी में कोरोना कंफर्मेशन किट के समाप्त हो जाने के बाद जांच के लिए एक बार फिर पटना पर आश्रित होना पड़ गया है। खासकर ट्रू-नेट में पॉजिटिव आने वाले मरीजों की चिंता बढ़ गयी है। कन्फर्म रिपोर्ट नहीं आने के कारण उहापोह में हैं। ऐसे मरीजों को आईसोलेशन सेंटर भी नहीं भेजा जा सकता है।

हालांकि संदिग्ध मरीजों को विम्स द्वारा फिलहाल होम आईसोलेशन में रहने की सलाह दी जा रही है। ताकि अन्य लोगों को संक्रमण से बचाया जा सके। पिछले तीन दिनों से माइक्रोबायोलॉजी लैब में करोना कंफर्मेशन आरडीआरपी किट के खत्म हो जाने के कारण ट्रू-नेट स्क्रीनिंग में पॉजिटिव आने वाले सैम्पल को कन्फर्म करने के लिए आरएमआरआई पटना भेजना पड़ रहा है। विम्स प्रबंधन को भी काफी परेशानी हो रही है। प्राचार्य डा. पीके चौधरी ने बताया कि कन्फर्मेशन किट के समाप्त होने से जांच प्रकिया प्रभावित हो रही है। हालांकि इसकी सूचना विभाग को दे दी गई है। उम्मीद है कि जल्द ही आरडीआरपी कन्फर्मेशन किट उपलब्ध हो जाएगा।

राजगीर : गुलजारबाग में एक व्यक्ति के पाॅजिटिव निकलने के बाद मुहल्ला सील
गुलजारबाग मोहल्ले में व्यक्ति के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद प्रशासन ने गुलजारबाग मोहल्ले को सील करते हुए कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। बाहरी लोगों के लिए आवागमन पर रोक लगा दी गयी है। बीडीओ मिथलेश बिहारी वर्मा ने बताया कि संक्रमित व्यक्ति के मोहल्ले को सील कर कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। उन्होंने बताया कि व्यक्ति किस किस से मिला है कहां कहां गया है सारी जानकारी निकाली जा रही है। पूरे परिवार की जांच होगी।

खबरें और भी हैं...