लौटी रौनक:स्कूल खुले, 9वीं-10वीं कक्षा की पढ़ाई शुरू

बिहारशरीफ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 16 अगस्त से पहली से आठवीं की पढ़ाइ होगी शुरू, पहले दिन कम रही मौजूदगी

कोरोना काल में लंबे समय तक बंद रहने के बाद शनिवार से जिले में नौवीं और दसवीं कक्षा के लिए स्कूल खुल गए हैं। वहीं, पहली से आठवीं कक्षा तक के बच्चों के लिए 16 अगस्त से वर्ग का संचालन होगा। सूबे में कोरोना वायरस संक्रमण में गिरावट देखते हुए राज्य सरकार ने स्कूल खोलने का फैसला किया है। स्कूलों के साथ ही कोचिंग संस्थानों को भी खोलने का फैसला किया गया है। हालांकि कोरोना संक्रमण के डर के चलते स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति पहले दिन बेहद कम रही। मात्र 2 से 3 फीसदी बच्चे ही स्कूल पहुंचे। पहले दिन स्कूल पहुंचे बच्चों को कोविड संबंधित गाइडलाइंस की जानकारी दी गई। डीईओ केशव प्रसाद ने बताया कि अनलॉक-5 की अवधि के दौरान कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए व्यापक पैमाने पर जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। स्कूलों में सभी शिक्षकों को आना अनिवार्य होगा लेकिन बच्चों की उपस्थिति को लेकर विशेष सतर्कता बरतने को कहा गया हैं। शनिवार को 9वीं और 10 वीं कक्षा तक के विद्यार्थी भी स्कूल पहुंचे। विद्यार्थियों ने कहा कि ऑनलाइन पढ़ाई के मुकाबले क्लासरूम में बैठकर पढ़ाई करना बेहतर है। नेशनल हाई स्कूल की 9 वीं कक्षा की छात्रा ने बताया कि उन्हें स्कूल आकर बहुत अच्छा लग रहा है। घर पर रहकर ऑनलाइन पढ़ाई करते थे।

पहले से चल रही हैं 11वीं से 12 की कक्षाएं : स्कूलों में कक्षा 11 वीं से 12 की पढ़ाई पहले से ही चल रही है। शुरुआत में इन कक्षाओं में भी काफी कम छात्र संख्या कम रही है। उसके बाद धीरे-धीरे छात्र संख्या बढ़ी और विद्यार्थियों ने पहले की तरह स्कूल आना शुरू कर दिया। वहीं जिले में कोरोना के मामलों में काफी कमी आई है। जिससे जल्द ही कक्षा एक से पांच तक कक्षाएं भी शुरू करने की उम्मीद जताई जा रही है।

विद्यालयों की मॉनिटरिंग करेंगे बीईओ : डीईओ ने बताया कि प्रखंड स्तर पर प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को विद्यालयोें का मॉनटरिंग करने को कहा गया है। विद्यालय अपने नोटिस बोर्ड पर मास्क पहनने एवं सोशल डिस्टेंस का अनुपालन करने सहित हाथों को सेनेटाइज करने का संदेश देंगे। विद्यालयों में जगह-जगह पर पोस्टर लगाकर इसका संदेश देना होगा। स्कूल बसों में सेनेटाइजर की व्यवस्था करना होगा।

इस प्रकार की गई है बच्चों के बैठने की व्यवस्था

गाइडलाइन के मुताबिक विद्यार्थी के बीच कम-से-कम 6 फीट की दूरी के साथ बैठने की व्यवस्था। शिक्षक स्टाफ रूम, कार्यालय और आगत कक्ष में भी 6 फीट पर बैठने की व्यवस्था। विद्यालय के प्रवेश एवं निकास द्वार को भी विभिन्न वर्गो के अनुसार क्रमवार समय आवंटित करते हुये आने एवं जाने के लिए चिन्हित करना। विद्यालय के सभी गेट को आगमन एवं प्रस्थान के समय खुला रखा जा रहा है ताकि एक जगह भीड़ एकत्रित ना हो।

साप्ताहिक बंदी के साथ खुलेंगी दुकानें
सरकार की गाइडलाइंस के अनुसार 25 अगस्त तक सभी दुकान साप्ताहिक बंदी के साथ खुलेगी। प्रतिबंधों के साथ सिनेमा हॉल एवं शॉपिंग मॉल भी खुलेगा। सार्वजनिक वाहनों को पूर्ण क्षमता के साथ चलने की अनुमति होगी। हालांकि, दुकानों और प्रतिष्ठानों में केवल कोविड टीका प्राप्त कर्मियों को ही काम करने की अनुमति होगी। इस बाबत मालिकों को संबंधित थाना को सूची उपलब्ध करानी होगी।

खबरें और भी हैं...