पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कार्रवाई:दो दिन में भुगतान नहीं करने पर सील होगी दुकान

बिहारशरीफ21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नाज सिनेमा के समीप नगरपालिका मार्केट। - Dainik Bhaskar
नाज सिनेमा के समीप नगरपालिका मार्केट।
  • नगर निगम क्षेत्र में करीब 138 दुकानें हैं जिसमें से करीब 72 दुकानों पर काफी दिनों से किराया बकाया

लाख प्रयास के बावजूद नगर निगम राजस्व वसूली में लगातार पिछड़ रहा है। खासकर बड़े बकायेदारों से वसूली नहीं होने के कारण निगम को ज्यादा समस्या हो रही है। होल्डिंग टैक्स के अलावा नगर पालिका मार्केट में लम्बे समय से किराये की वसूली नहीं हो पाई है। नगर निगम क्षेत्र में करीब 138 दुकानें है जिसमें से करीब 72 दुकानों पर काफी दिनों से किराया बकाया है। नगर निगम द्वारा अभी तक 52 दुकानों की सूची तैयार कर नोटिस भेजी गई है। नगर आयुक्त अंशुल अग्रवाल ने बताया कि राजस्व वसूली को लेकर विशेष तैयारी की जा रही है। कोरोना के कारण पहले ही राजस्व की वसूली नहीं हो पाई है।

करीब 25 लाख बकाया
नगर आयुक्त ने बताया कि नगर निगम की 138 दुकान है। जिसमें अधिकांश ने लंबे समय से किराया का भुगतान नहीं किए हैं। 52 दुकानों पर नोटिस भेजा गया है। जिन पर 25 लाख से भी अधिक राशि बकाया है। इसके अलावा कुछ दुकानदारों द्वारा समय पर किराया भुगतान किया जा रहा है। उन्हाेंने कहा कि इन दुकानदारों से बकाया राशि वसूलने में अधिकारी के स्तर पर भी लापरवाही बरती जा रही है। जिसके कारण लंबे समय से किराया बाकी रह जाता है। नए सत्र से प्रत्येक माह किराया वसूली के लिए भी अभियान चलाया जाएगा।

एग्रीमेंट रद्द करने के साथ दुकान को किया जाएगा सील : नगर आयुक्त ने बताया कि एग्रीमेंट के अनुसार महीने के 1-5 तारीख तक किराया का भुगतान कर देना है। लेकिन अधिकारियों व टीसी के लापरवाही के कारण समय पर भुगतान नहीं हो पाता है। उन्होंने कहा कि नोटिस मिलने के दो दिन के अंदर अगर बकाया राशि जमा नहीं किया गया तो एग्रीमेंट रद्द करते हुए दुकान को सील कर दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें