अनलॉक-1.0 का लाइव नजारा / सुबह 7 बजे से ही उठने लगे शटर, सफाई करते 11 बज गए, 12 बजे से पुरानी रंगत में लौटा शहर

Shutters started to rise from 7 am onwards, it was 11 am cleaning, the city returned to the old tone from 12 am
X
Shutters started to rise from 7 am onwards, it was 11 am cleaning, the city returned to the old tone from 12 am

  • शहर के कुछ इलाकों में भीड़-भाड़ की स्थिति दिखी कुछ इलाकों में स्थिति सामान्य है

दैनिक भास्कर

Jun 03, 2020, 05:00 AM IST

बिहारशरीफ. शहर पुरानी रंगत में लौटने लगा है। हालांकि अभी भी लोग संक्रमण से आशंकित हैं। कुछ इलाकों में भीड़-भाड़ की स्थिति दिख रही है तो कुछ इलाकों में स्थिति सामान्य है। अनलॉक 1.0 का मंगलवार को पहला दिन था। सुबह 7 बजे से ही शहर के वैसे अधिकांश अधिकांश दुकानों की शटरें उठनी शुरू हो गयी थी जो करीब 70 दिन से बंद थी। दुकानदार और स्टाफ दुकान और सामानों की सफाई करते दिखे। शहर के अधिकांश इलाकों में लगभग ऐसा ही दृश्य था। कुछ दुकानदारों ने सोमवार को ही दुकानों की सफाई कर ली थी लेकिन अधिकांश दुकानदारों ने कार्रवाई के डर से परहेज किया था। मंगलवार को बाजार पूरी तरह खुल गयी। कई दुकानदारों ने लड्‌डू खरीदकर पूजा-पाठ भी किया। लोग खरीदारी करने और घुमने के लिए भी सड़कों पर निकले। 

भरावपर @ 8 am से 6 pm: शहर का अति व्यस्त और व्यवसायिक लहजे से काफी महत्वपूर्ण भरावपर बाजार में सुबह 8 बजे स्थिति ठीक-ठाक दिखी। दुकानदार साफ-सफाई और व्यवस्था दुरुस्त करने में लगे दिखे लेकिन दोपहर के 2 बजते-बजते जाम की स्थिति बन गयी थी। चारों तरफ भीड़ ही भीड़। शाम 6 बजे वाहनों की कतार दिखी।

पुलपर @ 8 am से 1.30 pm: शहर का अति व्यस्त और संकीर्ण सड़कों वाली घनी आबादी का बाजार पुलपर सुबह में सामान्य दिनों से कुछ ज्यादा भीड़-भाड़ दिखी। डेढ़ बजे दिन में भी लॉकडाउन के पहले वाली स्थिति ही दिख रही थी। बाजार में भीड़ भाड़ तो थी लेकिन अधिकांश लोग बिना मास्क लगाये घूम रहे थे।

पोस्टऑफिस @ 2:00 pm: पोस्ट ऑफिस के बाहर 2 बजे काफी भीड़भाड़ थी। जीरो बैलेंस का खाता खुलवाने के लिए भीड़ जुटी थी। सेल्फ डिस्टेंस की धज्जियां उड़ रही थी। मास्क भी काफी कम लोगों ने लगा रखा था।

रामचन्द्रपुर बस स्टैंड @ 8.30 am से 2.15 pm: रामचन्द्रपुर बस स्टैंड में कोई खास  रौनक नहीं दिखी। बसें स्टैंड में खड़ी थी लेकिन यात्री नहीं थे। सुबह 8 बजे के पहले 8 बसें स्टैंड से बिना यात्री के ही खुली लेकिन देवीसराय चौक पर भी कोई यात्री नहीं मिला तो वापस लौट आयी। बस संचालकों ने यात्रियों के लिए सैनिटाइजर की व्यवस्था कर रखी थी और बसों को भी सैनिटाइज किया जा रहा था। ढाई बजे राजगीर-नवादा व अन्य लोकल बसें खुली लेकिन यात्री काफी कम थे।

सरकारी बस स्टैंड @ 2.30 am से 3.30 pm: सरकारी बस स्टैंड से बसें तो खुली लेकिन यात्रियों का टोटा था। 10-12 बसें खुली। यहां भी यात्रियों के लिए सेनेटाइजर की व्यवस्था की गयी थी।

हरनौत : आज हरनौत से दिल्ली गये 25 यात्री
लॉकडाउन खत्म होने के दूसरे दिन नई दिल्ली जाने वाली श्रमजीवी एक्स्प्रेस से मंगलवार को 25 यात्रियों ने यात्रा शुरू की। स्टेशन मास्टर प्रणव कुमार ने बताया कि स्टेशन परिसर में प्रवेश के अन्य रास्तों पर घेराबंदी कर दी गई है। रेल पुलिस की मौजूदगी में सभी यात्रियों की जांच के बाद उन्हें ट्रेन में प्रवेश की इजाजत दी जा रही है।

70 दिनों बाद खुली दुकानें, बाजार में बढ़ी चहल-पहल
बेन। जिला प्रशासन के आदेश के बाद मंगलवार से सभी दुकानें खुल गई। दुकान खुलते ही बाजार में चहल-पहल बढ़ गई। लोगों ने जमकर खरीदारी की। लॉकडाउन के कारण बाजार में 70 दिनों तक सन्नाटा पसरा रहा। कुछ दिन पहले प्रशासन द्वारा कुछ दुकान खोलने के आदेश जारी किए गये थे लेकिन पुलिस के डर से सहमे दुकानदार दुकान खोलने से कतरा रहे थे। मंगलवार को दुकानदारों ने दुकानें खोल ली।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना