कार्यक्रम:शस्त्र और शास्त्र दोनों की शिक्षा बेहद जरूरी है

बिहारशरीफ11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सदस्य सनातन उपाध्याय ने कहा कि धर्मनिष्ठ व कर्मनिष्ठ हिन्दू बनने की आवश्यकता है। धर्म की विजय के लिए शस्त्र व शास्त्र दोनों की शिक्षा जरूरी है। हिंदू समाज को विखंडित करने के लिए विधर्मी षड्यंत्र कर रहे हैं। हजारों सालों से हिंदुओं को तोड़ने का काम किया गया है। हमारे यहां कभी जाति प्रथा थी ही नहीं बल्कि वर्णव्यवस्था थी। हिंदूओं में बिखराव के लिए जातिवाद का जहर घोला गया। वेद दुनिया का सबसे प्राचीन ग्रंथ है। उन्होंने कहा कि विश्व में एकमात्र पूर्ण धर्म वैदिक सनातन धर्म है। सनातन धर्म में ही सभी धर्मों का मूल है। हिंदुओं को गर्व करना चाहिए और वैदिक पथ पर चलना चाहिए। गुरुकुलो को ध्वस्त किया गया। शिक्षा के माध्यम से हिंदू समाज को कमजोर किया जा रहा है। जिहाद का षड्यंत्र कर हिंदू समाज को तोड़ने का कार्य किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...