पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खतरे से अनजान:बेपरवाही: सात सौ के करीब लोग कोरोना संक्रमित, लॉकडाउन का भी ऐलान, फिर भी जारी है लापरवाही

बिक्रमगंज13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बिक्रमगंज बाजार में पूर्व की तरह व्यस्त ट्रैफिक। - Dainik Bhaskar
बिक्रमगंज बाजार में पूर्व की तरह व्यस्त ट्रैफिक।
  • दो गज की दूरी मास्क जरुरी वाले नारे की भी हवा निकल रही, केस बढ़ने का लोगों को डर नहीं

बिक्रमगंज में सात सौ के करीब लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। दो दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। सीएम नीतीश कुमार ने लॉकडाउन के घोषणा कर दी है, लेकिन सब कुछ झेलने के बाद भी पूर्व की तरह लोग बेपरवाह है। मंगलवार को पूर्व की तरह 4 बजे तक दुकानें खुली रहीं और बाजारों में लोगों की भीड़ देखी गई। इनमें सड़कों पर चलने वाले लोग सब कुछ जानते व समझते हुए भी की शहर में कोरोना संक्रमण का विस्फोट हो रहा है।

बिना मास्क के घूमते हुए दिखे बगल से अनुमंडल प्रशासन की गाड़ी मास्क पहने के लिए ध्वनि यंत्र से प्रचार कर रहा था पर इन बेपरवाह लोगों के कानों तक उस ध्वनि यंत्र के आवाज शायद नहीं पहुंच रहा था। दुकानों में भीड़ उमड़ रही है। दो गज की दूरी मास्क जरुरी वाली नारे की भी हवा निकल रही है। यह सब इस लिए हो रहा है क्यों कि हमारे ने शहर रुकना नहीं सीखा है। इनके लिए संक्रमण होना आम बात हो गई है। मौत तो कोई मायने ही नही रखता। सीएम ने लॉकडाउन का एलान कर दिया है। प्रतिदिन की तरह 4 बजे हूटर बजने के साथ प्रशासन सड़कों पर निकला और दुकानदारों से दुकान बंद कराए।

शहर में हो रहा कोरोना संक्रमण का विस्फोट, सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी

पिछले साल की अपेक्षा लोग इस वर्ष ज्यादा बरत रहे लापरवाही

कोरोना का पहले लहर के लॉकडाउन में जो सख्ती थी वह इस बार होगा कि नही संशय बरकरार है 2020 कि लॉकडाउन में शादी पर पूर्ण रुप से प्रतिबंध लग गया था ट्रांसपोर्ट भी बंद थे पर इस बार वाहनों में आधे सवारियों के साथ ट्रांसपोर्ट तो शादी समारोह में 50 लोगो को शामिल होने की छुट्टी दिए गए है। जब कि पिछले साल इतने दिनों में संक्रमित होने वाले कि संख्या काफी कम था मृत्यु दर भी कम था। लेकिन हाल में संक्रमितों की संख्या ज्यादा होने के साथ साथ मृतकों की संख्या भी पहले की अपेक्षा 5 गुणा ज्यादा है। सरकारी संसाधन का भी इंतजाम ज्यादा था पर इस बार तो सरकारी संसाधन भी घट गए हैं। सख्ती भी कम दिख रहा है। लोगों की बेपरवाही भी खूब है ऐसे में सवाल है कि कोरोना से कैसे जीतेंगे हम ? यह एक बड़ा प्रश्न बन गया है। हालांकि ऐसा नही है सभी लोग एक जैसे ही है इन भीड़ से अलग कुछ ऐसे भी लोग है जो अपनों को सुरक्षित रखने के लिए खुद को दूरी बना लिए है।

मास्क पहनना जरूरी है यह जानते हुए भी बिना मास्क सड़कों पर घूम रहे हैं लोग
कोरोना योद्धा के रुप मे धरती के भगवान समझे जाने वाले डॉक्टर व नर्सिंग स्टाफ तपती गर्मी में भी पीपीई किट पहनकर पसीना से तर बतौर हो हम जैसे लापरवाही बरतने वाले लोगों के लिए खुद के जान को सांसत में डाल दिन रात एक किए हुए है। अब सवाल खड़ा है कि आखिर कब तक हम सिस्टम को कोसते रहेंगे सिस्टम गलत है,सरकार बेपरवाह है तो क्या हमारा धर्म नहीं है कि जो गाइडलाइन हमारे सुरक्षा के लिए बनाएं गए है उसका पालन करे। कब तक सिस्टम व प्रशासन को कोसते रहेंगे प्रशासन दुकान बंद करा के जाती है और उनके जाते दुकानदार शटर उठा देते हैं। मास्क पहनना जरुरी है यह जानते बिना मास्क सड़कों पर बेवजह घूम रहे है दो गज की दूरी के पालन करना है लेकिन एक दूसरे पर ठेलम ठेला कर रहे है। बुधवार से अनुमंडल प्रशासन किस तरह से लॉकडाउन के पालन करा रही है और कितने सख्ती से निपटती है इसको लेकर लोगों के बीच चर्चा शुरु हो गए है।

आवश्यक काम से निकलें तो सबूत रखें

सूबे मे 15 मई तक पूर्ण लॉक डाउन की घोषणा की गयी है। राज्य सरकार ने आनन फानन मे लॉकडाउन की गाइडलाइन जारी कर दी है। अगले 15 मई तक बिहार के सभी सरकारी-गैर सरकारी कार्यालय बंद रहेंगे। आम लोगों को रोड पर चलने की इजाजत नहीं होगी। सरकार ने कुछ छूट भी दी है। राज्य सरकार के सारे दफ्तर बंद रहेंगे। जिला प्रशासन, पुलिस, जल आपूर्ति, बिजली, स्वास्थ्य, दूरसंचार, डाक विभाग जैसी सेवाओं के दफ्तर को छूट मिलेगी। अस्पताल, जांच लैब व दवा दुकानें खुली रहेगींं। बैकिंग, बीमा, एटीएम, औद्योगिक इकाई, पेट्रोल पंप, प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को इससे छूट मिलेगी। खाने-पीने के सामान की दुकानें, फल, सब्जी की दुकानें, मांस-मछली, दूध व पीडीएस की दुकानें सुबह 7 बजे से 11 बजे तक खुलेगीं।

सड़कों व सार्वजनिक स्थलों पर आना-जाना पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा। आवश्यक काम से लोग बाहर निकल सकते हैं, परंतु उसके लिए उन्हें वाजिब कारण का सबूत अपने पास रखना होगा। सभी प्रकार के वाहनों का परिचालन बंद रहेगा। हवाई जहाज, रेल या बस से बाहर से बिहार मे आने वालों के लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट जारी रहेगा, उसमें क्षमता के सिर्फ 50 फीसदी यात्री बैठेंगे। उनके पास टिकट होना चाहिये।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें