पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हंसना भी एक योग है:लाफिंग बुद्धा ने बंदियों को हंसाकर किया लोटपोट

बिक्रमगंज8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • तनाव दूर करने का बेहतर उपाय, अच्छी साेच रखाने से जीवन में भरती है खुशियां

देश के चर्चित लाफिंग बुद्धा नागेश्वर दस बुधवार को बिक्रमगंज उपकारा मंडल पहुंच हास्य कार्यक्रम प्रस्तुत कर उपकारा बंदियों को हंसा कर ओत प्रोत कर मानसिक तनाव दूर कर दिया। जेल अधीक्षक ने बताया कि इस हास्य कार्यक्रम में उत्साह कार्यक्रम की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि ये आत्म सुधार व तनाव नियंत्रण जैसे गुढ़ विषय को मनोविनोद के रुप मे प्रस्तुत करते है। श्रोताओं के मनोमस्तिष्क में सीधे प्रवेश कर जाता है उन्होंने प्रयाम व ध्यान की अत्यंत रोचक व सफल विधि विक्सित की है। इस विधि को उन्होंने बंदियों से करवाकर सिखलाया। इस मौके पर कई लोग मौजूद थे। सेकेंड लाफिंग बुद्धा के नाम से प्रसिद्ध नागेश्वर दस ने लोगों को अपने थेरेपी से खूब हंसाया। लोगों को हंसते हुए जीवन जीने की कला बताई। हंसी के फवारे छोड़ उन्होंने लोगो के लोट पोट कर दिया मूल रुप से बिहार का सिवान के रहने वाले नागेश्वर दास ने कहा कि अच्छी सोच रखने मात्र से जीवन खुशियों से भर उठता है। धरती पर मनुष्य के जन्म आनंद उठाने के लिए हुए है। इसलिए कहा गया है कि हंसले घर बसेला नागेश्वर ने कहा कि बचपन से उन्हें हंसने और हंसाने का जुनून था।

हंसने से अच्छे विचार आते हैं, हंसने से मन शांत रहता है

सवाल: लोगो के चेहरे से हंसी आजकल गायब है, क्यों?
जवाब: लोग आजकल जितने पढ़ लिख रहा है उतना उनके चेहरे के हंसी गायब हो रहा है इसके पीछे मूल कारण है उनका गंभीर होना उन्हें लगता है कि हंसेंगे तो लोग क्या कहेंगे।
सवाल: आर्थिक रूप से परेशान लोगों को कैसे हंसाया जाए ?
जवाब: भागदौड़ की दुनियां में अधिक लोग आर्थिक रुप से परेशान है पर जीना इस सब से अलग है जीने के लिए तनाव कम करना होगा खुद हंसे और दूसरे को हंसाते रहिए।
सवाल: हंसने से क्या क्या लाभ होता है ?
जवाब: हंसना एक योग है जब आप हंसते है तो आंख से लेकर आंत तक स्वस्थ्य रहता है

खबरें और भी हैं...