पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मिलेंगी सुविधाएं:कृषि विज्ञान केंद्र को मार्च महीने में दिए जाएंगे एक करोड़ के कृषि यंत्र

बिक्रमगंज25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शाहाबाद क्षेत्र के किसानों के लिए 300 मीट्रिक टन के दो गोदाम

बिहार कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ आर के सोहाने द्वारा बिक्रमगंज में अवस्थित बिहार कृषि विश्वविद्यालय के तीनों केंद्रों का अवलोकन किया गया। प्रथम, सिंचाई अनुसंधान केंद्र, बिक्रमगंज, रोहतास, द्वारा किए जा रहे अनुसंधान संबंधी क्रियाकलापों का अवलोकन किया। अवलोकन के दौरान उन्होंने सभी संबंधित कर्मियों को सख्त हिदायत दी की अनुसंधान के कार्य शाहाबाद क्षेत्र के किसानों की भलाई के लिए किए जा रहे हैं और उसमें कोई भी कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने प्रतिदिन पांच मृदा जांच के नमूनों की रिपोर्ट किसानों को देने का निर्देश दिया। उसके उपरांत उनके द्वारा वनस्पति अनुसंधान केंद्र धनगाई का निरीक्षण किया गया। वहां पर चल रहे भारतीय धान अनुसंधान केंद्र के कार्यक्रमों की जानकारी प्राप्त की एवं आवश्यक निर्देश दिए। उनके साथ मौजूद निदेशक कृषि, बिहार कृषि विश्वविद्यालय, डॉ आर आर सिंह ने उपस्थित सभी कृषि छात्रों को संबोधित करते हुए कहा की सभी लोग कृषि विज्ञान केंद्र के द्वारा कराए जा रहे कार्यों में भाग लें और अपना कौशल सभी कृषि कार्यों में विकसित करें।

प्रतिदिन पांच मृदा जांच के नमूनों की रिपोर्ट किसानों को देने का निर्देश दिया गया

मशरूम बैग व मृदा नमूनाें की जांच की गई
उन्होंने उनके द्वारा बनाए हुए मशरूम बैग एवं मृदा नमूनों की जांच की। प्रक्षेत्र भ्रमण के दौरान कुलपति बिहार कृषि विश्वविद्यालय ने सभी नए बने गोदामों का निरीक्षण किया एवं उसे जल्द से जल्द बीज फसलों के बीज हेतु उपयोग में लाए जाने का दिशा निर्देश दिया। उन्होंने बताया कि शाहाबाद क्षेत्र के किसानों हेतु 300 मिट्रिक टन के 2 गोदाम बनाए गए हैं, जहां तीसी, गेहूं, धान, चना, मसूर इत्यादि के बीज सुरक्षित रखे जाएंगे। उन्होंने बताया कि मार्च में कृषि विज्ञान केंद्र को 1 करोड़ के विभिन्न कृषि यंत्र उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

खरीफ मौसम में तीनों केंद्रों द्वारा अठारह सौ क्विंटल धान के बीज कराए जाएंगे उपलब्ध
साथ में मौजूद निदेशक बीज एवं प्रक्षेत्र बिहार कृषि विश्वविद्यालय डॉ पी के सिंह ने सभी क्षेत्रों में चल रहे बीज उत्पादन कार्यक्रम की जानकारी ली एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि खरीफ मौसम में तीनों केंद्रों द्वारा अट्ठारह सौ क्विंटल धान के बीज उपलब्ध कराए जाएंगे। जिनमें विश्वविद्यालय के प्रभेद सबौर श्री रोहतास जिला के किसानों हेतु बेहद अच्छा और अधिक उत्पादन करने वाला धान है। कृषि विज्ञान केंद्र रोहतास द्वारा चल रहे तीन दिवसीय मशरूम प्रशिक्षण कार्यक्रम में कुलपति द्वारा सभी प्रतिभागियों को मशरूम बीज एवं एक पौधे प्रदान किए गए। उन्होंने सभी प्रतिभागियों से अनुरोध किया कि आप प्रमाण पत्र लें, साथ में अपने घर पर इस मशरूम बीज से कम से कम पांच मशरूम बैग बनाएं एवं उसकी सब्जियां खाएं।

कृषि विज्ञान केंद्र में चलाए जा रहे कार्यक्रमाें की दी गई जानकारी
कृषि विज्ञान केंद्र के प्रधान श्री आर के जलज ने कृषि विज्ञान केंद्र द्वारा चलाए जा रहे हैं। सभी कार्यक्रमों की जानकारी कुलपति एवं उपस्थित शिक्षकों को दी। इस कार्यक्रम का संचालन उद्यान वैज्ञानिक डॉ रतन कुमार ने किया। इस कार्यक्रम के दौरान सिंचाई अनुसंधान केंद्र के मुख्य वैज्ञानिक डॉ एम के द्विवेदी एवं वनस्पति अनुसंधान केंद्र के मुख्य वैज्ञानिक डॉक्टर के के प्रसाद उपस्थित थे। इस कार्यक्रम के दौरान कार्यपालक अभियंता, बिहार कृषि विश्वविद्यालय भागलपुर के धनवान सिंह उपस्थित थे।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें