पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मिलेगा लाभ:बारिश से धान की इस साल समय पर हुई रोपनी, अच्छी पैदावार की संभावना

बिक्रमगंजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 13 साल के बाद पहली बार अगस्त माह में इस तरह की बारिश हो रही है

तीन दिनों से लगातार हो रही बारिश से किसानों में खुशी है। समय पर बारिश होने से धान की रोपनी में सौ फीसदी संपन्न हो गए। धान पान नित्य स्न्नान किसानों के कहावत को मौसम भी चरितार्थ कर रहा है। शुक्रवार को भी तेज हवा के झोंके के साथ बारिश होती रही। जिससे व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के साथ साथ कृषि पर भी जबर्दस्त असर पड़ा है। तीन दिन में ही 55.5 मिमी बारिश हुआ है। शुक्रवार रुक रुक कर हो रही बारिश से अधिकतर व्यवसायिक प्रतिष्ठान प्रभावित रहा।

13 साल के बाद पहली बार अगस्त माह में इस तरह की बारिश हो रही है। बरसात की तरह गर्जन व हवा के झोंके के साथ कई दिनों से मौसम बदलने से मौसम ने यू टर्न ले लिया है इससे किसानों के फसलों दुगना जान आ गया है शुक्रवार को पूरे दिन बारिश होती रही बारिश के कारण बाजारों के अधिकतर दुकानों के शटर नही उठे अहले सुबह से ही बारिश शुरु हो जाने से ग्रामीण इलाकों से भी बहुत ही कम लोग बाजारों पर पहुंचे आम जनजीवन प्रभावित हो गया व्यवसायिक प्रतिष्ठान तो प्रभावित हुआ।

इससे व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के साथ-साथ कृषि पर भी जबर्दस्त असर पड़ा है

किसानों को उम्मीद जगी
वर्ष 2020 अगस्त में इतना बारिश होने से किसानों में पैदावर बढ़ने की उम्मीद जगी है वही खुशी है कृषि बिज्ञान केंद्र के बैज्ञानिक आर के जलज कहते है कि धान की खेती के लिए मौसम इस बार अनुकूल कर रहा है। अगस्त सितंबर में अच्छा बारिश होने की संभावना है।

बारिश से सब्जियों को भी हुआ फायदा
समय पर बारिश से सब्जियों को भी फायदा पहुंचा है वही शहर के सड़कों पर कीचड़ से लोगो को चलना मुश्किल हो गया है बारिश के कारण लोग घरों में दुबके रहे जिससे सड़के सुनसान रही तेज हवा के साथ भरपूर पानी: इस साल तेज हवा के साथ जिस तरह समय पर बारिश हो रही है वह जानकारों को भी समझ से परे है भादो के महीने में यदि बारिश की बात की जाती है तो ऐसा 13 साल पहले देखने को मिला इस साल के शुरुआत से तीसरी बार मौसम करवट लेने से कृषि कार्य पूरी तरह से समय पर हो रहा है। दशकों से प्राकृतिक आपदा के दंश झेलने वाले किसानों के अनुरूप इस बार मौसम कर रहा है।बुद्ध विचार मंच की स्वातिक रॉय ने कहा कि बिक्रमगंज अनुमंडल के अन्नदाता को इस बार कई सालों के बाद सुकून मिला है।

वर्ष 2008-09 के जुलाई में हुई थी ऐसी बारिश
वर्ष 2008-9 के जुलाई में यानी 13 साल पहले इस तरह की बारिश हुई थी। उसके बाद दो सालों तक सामान्य बारिश होते रही, लेकिन फिर वर्ष 2016 से लेकर वर्ष 2018 तक किसानों को खेती करने में काफी मशकत करनी पड़ी। वर्ष 2019 में किसानों को असमय बारिश का सामना करना पड़ा जिससे उनके कटे हुए धान की बाली व खलिहान में धान के बोझे सड़ गए। जिले के किसानों को करोड़ो रुपये के नुकसान हुआ था उसके बाद गेंहू के फसल के समय भी बारिश का असमय कहर बरपा नतीजा गेंहू के फसल को भी भारी नुकसान हुआ। जिसके बाद जिले में किसानों द्वारा आंदोलन भी किया गया भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह ने अपने ही सरकार पर भड़ास निकाल चरनबृद्ध तरीके से किसानों के साथ सड़क पर उतरे लेकिन हलात ज्यो की त्यों बनी रही।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप धैर्य व विवेक का उपयोग करके किसी भी समस्या को सुलझाने में सक्षम रहेंगे। आर्थिक पक्ष पहले से अधिक सुदृढ़ स्थिति में रहेगा। परिवार के लोगों की छोटी-मोटी जरूरतों का ध्यान रखना आपको खुशी प्र...

और पढ़ें