पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

तैयारी पूरी:बहन-भाई के अटूट प्रेम का प्रतीक रक्षाबंधन आज

बिक्रमगंज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सावन पूर्णिमा के दिन शुभ मुहूर्त में भाइयों की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधकर रक्षा का वचन लेंगी बहनें

सावन पूर्णिमा तिथि को मनाए जाने वाले भाई-बहन की अटूट प्रेम एवं रक्षा का पर्व आज मनाए जाएंगे। यह पर्व संपूर्ण भारत में सावन पूर्णिमा को विभिन्न प्रदेशों में विभिन्न नामों से प्रचलित है। आज की तिथि को जनधला पूर्णिमा, झूलन पुर्णिमा, कजरी पूर्णिमा, नारली पूर्णिमा आदि नामों से विख्यात है। संपूर्ण भारत में भाई - बहन के अटूट प्रेम के रुप में मनाए जाने वाले रक्षाबंधन का पर्व सावन पूर्णिमा को मनाई जाती है। इस व्रत को मनाने के पीछे धार्मिक एवं पौराणिक कथाएं प्रचलित है।

धार्मिक कथाओं के अनुसार महिपाल को वध करने के लिए श्री कृष्ण द्वारा चलाए गए सुदर्शन चक्र से श्री कृष्ण के उंगली जख्मी हो गए थे। बहते रक्त को बांधने के लिए लोग इधर-उधर दौड़ने लगे। उसी समय द्रोपदी ने अपने आंचल फाड़कर श्रीकृष्ण के जख्मी अंगुली पर कपड़ा लपेटी। उसी समय से श्रीकृष्ण ने उन्हें रक्षा करने का वचन दे रखा था। तब से भाई अपने बहनों को रक्षा सूत्र बांधकर अपनी रक्षा करने तथा भाई को स्नेह प्यार एवं आशीर्वाद समर्पित करती है।

बाजारों में वीरानगी
कोरोना संक्रमण के भय से बाजार बंद दिखे। बाजारों में बिरानगी छाई रही। रक्षाबंधन पर्व के अवसर पर बड़े पैमाने पर बाजारों में भीड़ खरीदारों की पहुंचती थी। जिससे बाजारों में रौनक लौट आती है। परंतु इस वर्ष कोरोना संक्रमण के भय से लोग बाजार जाने से परहेज करते दिखे। दुकानें भी बहुत कम खुली रही। औपचारिकता पूरी करने के लिए बच्चों के परिजन बाजार पहुंचे।

रक्षाबंधन का विधान
बहने सर्वप्रथम घर की साफ- सफाई कर स्नान कर उपवास रह कर पूजा करती हैं। तत्पश्चात थाली में दीप ,रोरी, चंदन, दही एवं मिठाई सजाकर भाई को रक्षा सूत्र बांधकर उनके दीर्घायु जीवन की कामना करती है।

शुभ-मुहूर्त: ग्रह - नक्षत्रों तथा धर्मशास्त्रों के जानकार बताते हैं कि 30 वर्षों बाद इस बार रक्षा बंधन पर्व पर दुर्लभ संयोग बन रहा है। ऐसा संयोग कभी-कभार बनता है। अर्थात सुबह 9.30 बजे से दिनभर रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त रहेगा।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें