पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टीका पर जोर:कोरोना जांच कराने वाले सभी लोगों की रिपोर्ट निगेटिव, घट रहा संक्रमण

बिक्रमगंज6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • वैक्सीनेशन का टारगेट पूरा करने के लिए रविवार को भी टीकाकरण

कोरोना संक्रमण धीरे-धीरे दम तोड़ने लगा है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना जांच में अधिकतर रिपोर्ट अब निगेटिव आने लगे हैं। जिससे प्रशासन व स्वास्थ्य महकमा को भी बल मिल रहा है। कोरोना संक्रमण के चेन टूटने के साथ स्वास्थ्य विभाग जल्द से जल्द लोगों को वैक्सीनेशन के टारगेट पूरा करना चाह रही है। इसके तहत रविवार को बिक्रमगंज अनुमंडल मुख्यालय स्थित आधा दर्जन जगहों पर 45 वर्ष के ऊपर वालों के लिए वैक्सीनेशन शिविर लगाया गया। वैक्सीनेशन का असर भी दिखने लगा है। कोविड अस्पताल के डॉक्टरों का कहना है कि तीसरे लहर में वैक्सीनेशन डोज लेने वाले के घरों में बच्चे भी सुरक्षित रह सकेंगे।

कोरोना जांच में जिस तरह संक्रमित की संख्या कम होने लगा है उससे संभावना जताया जा रहा है कि सब कुछ इसी तरह रहा तो 9 जून से शहर अनलॉक हो सकता है। अनुमंडलीय अस्पताल के स्वास्थ्य प्रबंधक अशोक कुमार ने बताया कि पिछले कई दिनों से जांच के दौरान सभी रिपोर्ट निगेटिव आ रहा है। इसके साथ कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीनेशन शिविर लगाकर वैक्सीन लगाने के काम तेजी से चल रहा है।

इम्युनिटी को मजबूत करने के लिए लोग कर रहे व्यायाम, खानपान पर भी दे रहे ध्यान
इम्युनिटी बूस्टर को मजबूत करने के लिए लोग डाइट के साथ साथ व्यायाम व कसरत भी कर रहे है। कोरोना संक्रमण कम होने से सबसे ज्यादा स्कूल व कोचिंग संस्थानों के संचालक में खुशी देखा जा रहा है। दो शेषन से स्कूल के पठन पाठन पूरी तरह प्रभावित हो गया है अब अंदेशा लगा रहे है कि शायद 8 जून के बाद शहर अनलॉक हो और कुछ नियम कायदों के साथ स्कूलों के संचालन शुरु हो सके।

लोगों की एंटीजन तकनीक के माध्यम से की गई कोरोना जांच
रविवार को अनुमंडलीय अस्पताल धनगाई में 175 लोगों के एंटीजन किट से कोरोना जांच हुआ। सुकून और राहत देने वाले खबर यह है कि देर शाम तक जब रिपोर्ट आया तो जांच में सभी लोग निगेटिव थे। स्वास्थ्य प्रबंधक अशोक कुमार ने भी बताया कि पिछले एक सप्ताह से जांच में रिपोर्ट में 98 फीसदी लोगो का रिपोर्ट निगेटिव आया है। वही अनुमंडलीय अस्पताल के नर्सिंग कॉलेज में बना कोविड अस्पताल में भी जो 60 बेड थे। वह सभी बेड खाली है। वही करुणा अस्पताल के भी कोविड के लिए बने 18 बेड खाली हो चुका है। कोरोना संक्रमण के कम पड़ रहे मार के बाद अब लोग नॉर्मल जिंदगी जीने की फिर से ललक जगने लगा है।

भीड़-भाड़ वाली जगह में डबल मास्क का करें उपयोग
कोरोना से बचाव के लिए रविवार को अनुमंडल मुख्यालय स्थित आधा दर्जन जगहों पर वैक्सीनेशन शिविर लगाने के साथ साथ ग्रामीण इलाकों में भी वैक्सीन शिविर का आयोजन किया गया। कोरोना संक्रमण कम होने के बाद भी डॉक्टरों का कहना है कि वैश्विक महामारी से बचने के लिए अभी भी दो गज की दूरी और मास्क पहनना अनिवार्य है जब भी भीड़ भाड़ में जाए तो डबल मास्क के उपयोग करे।

खबरें और भी हैं...