पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सजग हो रहे लोग:शाम के 4 बजते ही दुकानों के शटर हो रहे डाउन

बिक्रमगंज11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
तेंदुनी चौक पर बाजार का मुआयना करते एसडीएम व अन्य अधिकारी। - Dainik Bhaskar
तेंदुनी चौक पर बाजार का मुआयना करते एसडीएम व अन्य अधिकारी।
  • कोरोना रोकथाम के लिए सरकार की गाइडलाइन का पालन कराने के प्रति प्रशासन का साथ दे रही पब्लिक

4 बज गए अब शटर बन्द किया जाय। तभी पुलिस प्रशासन की गाड़ी के आगे बाइक पर साइरन बजने लगता है। फिर क्या धड़ाधड़ गिरने लगते हैं दुकानों के शटर। पहले तो सब्जी बाजार सबसे अंत में बंद होता था, लेकिन अब ऐसा नहीं हो रहा है। 4:00 बजते बजते सब्जी बाजार भी पूर्ण रूप से बंद हो जा रहा है। उसके बाद तेंदूनी चौक पर पुलिस प्रशासन के लोगों का जमावड़ा लग जाता है। फिर शुरू होती है चारों मुख्य सड़कों पर मॉनिटरिंग। अनुमंडल अधिकारी विजयंत अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राजकुमार हो या फिर प्रखंड विकास पदाधिकारी अजय कुमार, अंचलाधिकारी आलोक चंद्र रंजन, नगर परिषद कार्यपालक पदाधिकारी सूर्य नंद सिंह, थानाध्यक्ष संजय कुमार सभी सड़कों पर दिखाई पड़ने लगते हैं। लोगों में इस बात की चर्चा जरूर हो रही है कि कोविड-19 कर पुलिस प्रशासन तत्पर है। क्योंकि सरकार द्वारा निर्धारित समय से 1 मिनट भी विलंब होने पर प्रशासनिक अधिकारी उक्त दुकानों पर पहुंचकर धमकी देने से बाज नहीं आते। पुलिस प्रशासन सबसे अधिक नजर चाय पान एवं सब्जी बाजार पर रखे हुए हैं। जहां पर भीड़ अधिक होती है। अनुमंडल क्षेत्र में पढ़ने वाले लगभग सभी गांव की स्थिति यह है कि शहरी क्षेत्र से अधिक सतर्क गांव के लोग दिख रहे हैं। पहले गांव में लगने वाले चौपाल अब बंद हो चुके हैं। गांव के लोग मास्क नहीं है तो गमछा जरूर बांध रहे हैं एवं सामाजिक दूरी का भी ख्याल रख रहे हैं। उन लोगों के द्वारा यह कहा जा रहा है कि अब गांव में भी कोरोनावायरस पहुंच गया है। जयश्री पंचायत की मुखिया ज्योति देवी, शिवपुर पंचायत के मुखिया अमित कुमार सिंह, जोन्ही पंचायत के मीरा हरेंद्र प्रसाद एवं मुखिया संघ के अध्यक्ष अंकित कुमार मिश्र ने पंचायत के सभी जनता से आह्वान किया है कि सभी लोग सामाजिक दूरी का ख्याल रखे। साथ ही साथ अपने चेहरे पर मास्क या गमछा जरूर लगाएं। सबसे जरूरी है अपने आप को सुरक्षित रखना।

पान-चाय की दुकानों पर प्रशासन की रह रही पैनी नजर, चार बजे के बाद बाजार में हो जाता है सन्नाटा

अनुमंडल क्षेत्र में पान चाय की दुकान एवं सब्जी बाजार पर अनुमंडल अधिकारी विजयंत एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राजकुमार के द्वारा अनुमंडल के अधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि विशेष नजर रखे जाए। क्योंकि सबसे अधिक भीड़ यही लगते हैं। सबसे पहले इन्हीं दुकानों को समयानुसार बंद कराए जाए। साथ ही साथ वैश्विक महामारी कोरोनावायरस को देखते हुए दुकानदारों के लिए बनाए गए रोटेशन के अनुरूप ही दुकान को खोले जाएं दवा दुकानों एवं खाद्यान्न की दुकानों पर भी दिल ना लगे उनको भी निगरानी में रखना जरूरी है। राज्य सरकार द्वारा जारी किए गए गाइडलाइन के अनुरूप प्रशासन द्वारा किए गए कार्रवाई के बाद चार बजे के बाद बाजार में सन्नाटा हो जाता है। अब ग्रामीण इलाकों के लोग भी यह जान गए हैं कि बाजार में मात्र चार बजे तक ही सामान मिलेंगे। क्योंकि प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा बाजार को चार बजे तक ही खोलने की अनुमति दी गई है।

समय से खोलें दुकानें: एसडीओ
वैश्विक महामारी कोरोना को देखते हुए सरकार द्वारा जारी किए गए गाइडलाइन के अनुसार सभी प्रखंडों के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए एसडीओ विजयंत ने कहा कि निर्धारित समय के अनुसार दुकानें एवं बाजार खुलेंगे साथ ही साथ उन्होंने यह कहा कि सामाजिक दूरी के साथ-साथ इस महामारी के चैन को तोड़ना जरूरी है इसके लिए आम लोगों को प्रशासन का सहयोग करना चाहिए ताकि इस चैन को तोड़ा जा सके बेवजह बाजार एवं गली मोहल्ले में लोगों को नहीं निकलने की सलाह देते हुए कहा कि स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जारी किए गए गाइडलाइन के अनुरूप ही सभी को रहना उचित है।शहर हो या गांव सभी को सतर्क रहना जरूरी है।

बढ़ते प्रकोप से गांव में बढ़ रहा भय का माहौल

सिटी रिपोर्टर| राजपुर
काेराेना महामारी धीरे धीरे गांव में रफ्तार पकड़ने लगा है। पिछले एक हफ्ते में महज 2 गांव से अब तक 16 लोगों ने इस महामारी के दाैरान अपना दम तोड़ चुके हैं। जिस कारण ग्रामीण भयाक्रांत हो गये हैं। पिछले वर्ष की तरह इस बार स्थानीय प्रशासन एवं जनप्रतिनिधियों द्वारा गांव में सैनिटाइज नहीं कराने के कारण भी स्थिति बद से बदतर होने लगी है। लोग जगह जगह गांव को सैनिटाइज कराने की बात कर रहे हैं। जबकि स्थानीय प्रशासन द्वारा सैनिटाइज की कमी का हवाला दिया जा रहा है । ऐसे में गांव में लोग काफी भयभीत नजर आ रहे हैं।
ग्रामीण बताते हैं कि छोटी सी गांव काशीपुरी में पिछले एक हफ्ते के अंदर 8 लोगों ने अपना दम तोड़ दिया। जिसमें एक ही परिवार के 5 सदस्य शामिल हैं। उधर प्रखंड के अन्य गांवों में भी मौत का आंकड़ा अब धीरे-धीरे बढ़ने लगा है। ऐसी स्थिति में गांव में बुजुर्गों को देखभाल करने के लिए दवा दुकानों पर भी दवाओं की लंबी लाइन लगी है। ग्रामीण श्री राम तिवारी, बालेश्वर यादव, महेंद्र पांडेय, सुशील पांडेय आदि ने बताया कि काशीपुरी गांव की आबादी काशी छोटी है। जहां से पिछले 1 हफ्ते के दौरान 8 लोगों ने दम तोड़ दिया। जबकि कई लोग सर्दी जुखाम जैसे बीमारियों से ग्रस्त हैं। इधर बाजार के दुकानों पर शाम 4:00 बजे से कर्फ्यू जारी होने के कारण ग्रामीण इलाकों से दवा दुकानों पर पहुंचे रहे लोगों को समय रहते दवा नहीं मिल पा रहा । दवा दुकानों पर सर्दी जुकाम समेत अन्य जीवन रक्षक दवाओं की कमी होने की बात बताई जा रही है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

    और पढ़ें