मारपीट का मामला:चुनावी रंजिश में मारपीट का सिलसिला जारी, शिकायत दर्ज

बड़हरियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कई जगहों से पुलिस को मिल रही है चुनाव से संबंधित मारपीट की घटनाएं

पंचायत चुनाव का आफ्टर इफेक्ट अब पूरे प्रखंड में दिखने लगा है। पंचायत चुनाव का मतदान बीतने के बाद समर्थक और विरोधी आपस में भिड़ते नजर आ रहे हैं। इसको लेकर पुलिस में शिकायतों का अंबार जारी है। पंचायत चुनाव के बाद अभी मतगणना होना बाकी है लेकिन इस बीच बड़हरिया के कई गांवों और पंचायतों में मारपीट की घटनाएं बढ़ गई हैं। इस सिलसिले में बड़हरिया थाना के सियाड़ी गांव में कई बार मारपीट हुई। उसके बाद लकड़ी दरगाह में मारपीट की घटनाएं हुई हैं। उसके बाद सदर पुर पंचायत के रानीपुर गांव में आपसी झड़प में कई लोग घायल हुए हैं। सभी घटनाओं की सूचना पुलिस के पास आ रही है।पुलिस शिकायतें दर्ज भी कर रही है। इस बीच बड़हरिया के कोइरिगावां पंचायत के कर्बला बाजार पर दो प्रत्याशियों के समर्थकों के बीच देर रात झड़प होती रही। थाना की पुलिस की सक्रियता से कोई बड़ी घटना नहीं हो सकी। फिर भी झड़प में कई लोग घायल हो गए। इस संबंध में थानाध्यक्ष प्रवीण प्रभाकर ने बताया कि जहां-जहां झड़प की सूचनाएं मिल रही है। पुलिस त्वरित गति से कार्रवाई भी कर रही है। पुलिस मौके पर पहुंचकर उन सब का निदान करने में जुटी है। फिर भी कई जगह से शिकायतें दर्ज हो रही है। बड़हरिया के सियाड़ी में मारपीट की घटना का पुलिस में शिकायत दर्ज किया है।करबला बाजार पर हुई दो गुटों के समर्थकों के बीच झड़प में दोनों तरफ से शिकायतें मिली है। वहीं सदरपुर पंचायत के रानीपुर में भी मारपीट की घटना के बाद आवेदन मिला है तो कार्रवाई की जा रही है। बहरहाल अभी मतगणना बाकी है।अभी मतगणना होने में एक सप्ताह बाकी है। मतगणना के बाद चुनाव का आफ्टर इफेक्ट क्या होगा।यह तो भविष्य के गर्भ में है। लेकिन पंचायत चुनाव संपन्न होने के बाद मतों के हेरा फेरी में संभावित उम्मीदवार जीत हार की गणना में लगे हुए हैं। उनको अपनी जीत हार के अंतर में विरोधी और समर्थक कार्यकर्ताओ की भ की भूमिका सहन नहीं हो रही है और मारपीट की घटनाओं में अचानक बढ़ोतरी देखी जा रही है।

खबरें और भी हैं...