पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मास्क और दूरी रखिए:अप्रैल-मई में 30 दिनों में मिल रहे थे 100 मरीज, अब दो दिन में ही हो रहा शतक

बक्सर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
Advertisement
Advertisement

जिले में कोरोना मरीजों की संख्या में तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है। शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग ने फिर 37 संक्रमितों की पुष्टि की है। अब जिले में कोरोना मरीजों का आंकड़ा एक हजार के पार हो गया है। सरकार ने 25 मार्च को कोरोना पर काबू पाने के लिए लॉकडाउन की घोषणा की थी। जिसके बाद जिले को पूरी तरह लॉक कर दिया गया। इस बीच 14 अप्रैल को नया भोजपुर इलाके से दो कोरोना मरीज मिले थे।

माह के अंत तक संख्या 40 पहुंच गई। इस बीच सरकार ने संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लॉक डाउन 2 को तीन मई तक विस्तारित किया। तबतक संक्रमितों की संख्या 56 थी, लेकिन लॉकडाउन 3 व चार की अवधि 31 मई तक 116 मरीज हुए थे, लेकिन एक जून से सरकार के अनलॉक फेज 1 के शुरू करने के बाद 30 दिनों में मरीजों की संख्या 226 हो गई, जो लगभग दोगुनी थी। इसके बाद एक जुलाई से अनलॉक 2 की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी। सरकार व प्रशासन ने लोगों को सशर्त छूट दी। 11 जुलाई को संक्रमितों की संख्या 300 पहुंची, लेकिन सात दिनों में ही संख्या 400 के पार हो गई। तेजी से फैल रहे संक्रमण को रोकने लिए राज्यव्यापी लॉकडाउन लगाया तो गया। 22 जुलाई को जिले 500 का आंकड़ा पार करते हुए संख्या 527 पर थी। जिसे लगभग दोगुना होने में महज आठ दिन लगे। दो दिनों के भीतर यानी 24 जुलाई तक जिले में 618 लोग संक्रमित हो चुके थे।

छह दिनों में मिले 400 मरीज, 27 जुलाई को सबसे ज्यादा 92 लोग मिले थे कोरोना वायरस पॉजिटिव

25 जुलाई को जिले में 44, 26 को 42 तथा 27 को सबसे अधिक 92 मरीज मिलने के बाद संक्रमित लोगों संख्या 776 हो चुकी थी। अब आलम यह हो चुका है कि मरीजों का जो आंकड़ा एक माह में पूरा हो रहा था, अब उतने रोजाना मिलने लगे। जिले के विभिन्न इलाकों से शुरुआती 98 दिनों में 490 संक्रमित मिले थे। वहीं, बीते 10 दिनों में ही 514 लोगों की पुष्टि हुई है। इस बीच 18 व 20 जुलाई को जिले के विभिन्न इलाकों से दो लोगों की मौत भी हुई। हालांकि, दोनों लोग सांस की बीमारी से पीड़ित थे।

वहीं शुक्रवार को मिले 37 मरीज जिले के विभिन्न इलाकों से मिले हैं। इनमें बक्सर जिला मुख्यालय से आठ, इटाढ़ी से एक, सिमरी से एक, ब्रह्मपुर से एक, नावानगर से चार, केसठ से एक व चौगाईं से 8, चक्की से दो, पुलिया से एक व डुमरांव से 10 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव है। अब तक 10 हजार 800 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आयी है। 1004 मामलों में 558 लोग ठीक हो चुके हैं। 446 एक्टिव लोगों का इलाज चल रहा है।

कहीं दुबारा तो नहींं हुआ कोविड, ग्रामीणों में खौफ
प्रयाग कोविड से जंग जीत चुके थे। हालांकि वह टीबी के भी मरीज थे। ऐसे में सवाल उठता है उनकी मौत कोरोना के चलते हुई या दूसरे कारणों से। स्वास्थ विभाग व प्रशासन के पास भी अभी इस सवाल का जवाब नहींं है। इसलिए प्रशासन द्वारा मरने के बाद भी उनका सैंपल लिया गया है।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज रिश्तेदारों या पड़ोसियों के साथ किसी गंभीर विषय पर चर्चा होगी। आपके द्वारा रखा गया मजबूत पक्ष आपके मान-सम्मान में वृद्धि करेगा। कहीं फंसा हुआ पैसा भी आज मिलने की संभावना है। इसलिए उसे वसूल...

और पढ़ें

Advertisement