पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही पड़ेगी भारी:जिले में 14 नए कोरोना मरीजों की पुष्टि, अब 91 एक्टिव केस

बक्सर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अनलॉक टू के बाद लॉकडाउन फिर बंदी और अब जिले में सम्पूर्ण लॉक डाउन। कोरोना संक्रमण के प्रभाव को देखते हुए राज्य सरकार के निर्णय के आलोक में अब पूर्णतः लॉक डाउन 16 जुलाई से लेकर 31 जुलाई तक लगाया जाएगा। जो पूरी सख्ती के साथ प्रभावी होगा। हालांकि, बुधवार तक बंदी का प्रभाव होगा जो अगले गुरुवार से लॉकडाउन में तब्दील हो जाएगा। जिसके बाद लोगों का घर में रहना मजबूरी हो जाएगी।

कोरोना का कहर घटने की बजाय अब बढ़ रहा है। जिसको लेकर जिला प्रशासन ने भी पूरी तैयारी कर रही है। ताकि कोरोना जैसे संक्रमण के प्रभाव का चेन पूर्ण रूप से तोड़ा जा सके। जिला सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के पदाधिकारी कन्हैया कुमार ने बताया कि जिले में कुल 91 एक्टिव केस है। उन्होंने बताया कि उन्होंने बताया कि मंगलवार को कुल 14 नए केस आए हैं। इस तरह जिले में पॉजिटिव केस 332 है। जिसमें फिलहाल कुल 91 केस एक्टिव है।
सभी के लिए मास्क पहनना अनिवार्य 
मंगलवार को राज्य सरकार द्वारा इस लॉक डाउन को प्रभावी बनाने को लेकर लिए गए निर्णय के बाद जिला प्रशासन भी पूर्ण तैयारी में जुट गई है। हालांकि बंदी को लेकर बचे 1 दिन को लेकर मास्क अनिवार्य कर दिया है। जिसका अनुपालन कराने को लेकर ना केवल चेताया जा रहा है, बल्कि जुर्माने भी वसूले जा रहे हैं। बावजूद लोग बावजूद लोग मांस खाने से परहेज नहीं कर रहे हैं। नतीजतन लॉक डाउन का सामना करना पड़ रहा है।

बंदी काल में भी वाहनों की हुई जमकर जांच
लॉकडाउन के बाद जिले में बंदी किया गया, जो 13 जुलाई से लेकर 17 जुलाई तक लागू है। इसे प्रभावी बनाने को लेकर जिले के जगह जगह पर न केवल वाहनों की जांच की जा रही है बल्कि मार्क्स नहीं पहनने वालों के विरूद्ध कार्रवाई भी की जा रही है। मंगलवार को कुछ ऐसा ही नजारा बिहार व यूपी को जोड़ने वाली वीर कुंवर सिंह सेतु पर वाहनों की जांच करते हुए देखा गया।

सूनी पड़ीं सड़कों पर आराम कर रहे है पशु और मवेशी
लॉक डाउन के बाद जारी हुआ बंदी के बाद वाहनों का परिचालन ना के बराबर हुआ। सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। हालांकि रोजमर्रा के कार्य को लेकर कुछ वाहन सड़क पर दौड़ रही हैं। शहर का सबसे व्यस्त रहने वाला स्टेशन रोड पर इस कदर सन्नाटा पसरा रहा आधा दर्जन से अधिक पशु कटहिया पुल पर आराम फरमा रहे थी। न तो गाड़ियों का रेला और न ही लोगों की चहलकदमी।

चौगाई पीएचसी में पीएनबी कर्मियों व संपर्क के ग्राहकों का लिया गया सैंपल
चौगाई | विगत 4 दिन पहले चौगाई के पीएनबी में एक स्टाफ का कोरोना पॉजिटिव आने के बाद जिले में हड़कंप मच गया। संबंधित विभाग और स्वास्थ्य विभाग के कान खड़े हो गए थे। क्योंकि पहली दफा था कि चौगाई में भी कोरोना ने दस्तक दिया था। इसके लिए पीएनबी के कर्मियों का सैंपल लेना अनिवार्य हो गया था। इसी के मद्देनजर मंगलवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कोरोना जांच के लिए बैंक कर्मियों का सैंपल स्वास्थ्य विभाग बक्सर के टीम के द्वारा लिया गया। सैंपल का कार्य बक्सर से आई टीमों के द्वारा किया गया। इस टीम में 4 सदस्यों ने सैंपल लेने का काम किया। जिसमें लैब टेक्नीशियन हिफजुर रहमान तथा बीरबल चौधरी व अन्य मौजूद थे।  

केसठ में अबतक 275 लोगों की हुई है जांच, तीन मिले कोरोना पॉजिटिव
पूरी दुनिया कोरोना संकट की मार झेल रही है। इस महामारी ने हमारी अर्थव्यवस्था को भी बे पटरी कर दी है। जिले का केसठ प्रखंड में भी कोरोना अपना पांव पसार चुकी है। प्रवासियों के आने के बाद तो स्थिति बिल्कुल बेकाबू होती नजर आई। परंतु प्रशासन की सूझबूझ एवं बचाव के उपाय से हम राहत के सांस लिए। कोरोना संकट को देखते हुए प्रखंड क्षेत्र में कुल छह क्वॉरंटाइन सेंटर खोले गए।

जिसमें 1 हजार 260 प्रवासियों को क्वॉरंटाइन में रखा गया।14 दिन की अवधि समाप्त होने के बाद सभी को अपने-अपने घर भेज दिया गया। मौजूदा स्थिति में प्रखंड क्षेत्र को तीन कंटेनमेंट जोन में बांटा गया है। स्थानीय केसठ गांव में दो एवं रामपुर गांव में एक कंटेनमेंट जोन बनाया गया था। इसका मुख्य मकसद था लोगों को एक-दूसरे से अलग रखा जाय।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

    और पढ़ें