पुलिस ने चटकाई लाठी:बिना सुविधा बढ़ाये टैक्स वसूली पर भड़के ऑटो चालक, बैठक में बवाल, सड़क जाम

बक्सर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नगर परिषद कार्यालय में हंगामा करते ऑटो चालक। - Dainik Bhaskar
नगर परिषद कार्यालय में हंगामा करते ऑटो चालक।

गुरुवार को नगर परिषद में सैरात वसूली को लेकर टेंपू चालकों के साथ कार्यपालक पदाधिकारी मनोज कुमार द्वारा बैठक का आयोजन नगर भवन में किया गया था। बैठक में सैरात के बारे में चालकों को बताया गया। लेकिन टेंपू एवं अन्य वाहन चालकों ने इसका विरोध किया। चालकों का कहना था कि नगर परिषद द्वारा कोई व्यवस्था तक नही दिया गया है तो सैरात की वसूली किस आधार पर कर रही है।

चालकों का कहना था कि अगर नगर परिषद हमलोगों के ठहराव के लिए जबतक टेंपू पड़ाव का इंतजाम नही करेगा। तब तक हमलोगों द्वारा सैरात नही दिया जाएगा। जानकारी के मुताबिक नप द्वारा एक माह के लिए सैरात बंदोबस्ती का टेंडर विभाग के द्वारा किया गया था। जिसके बाद से लिया जा रहा था। चालाकों ने सुविधा की मांग रखते हुए इसका विरोध कर रहे थे। जिसके बाद बैठक में चालाकों की मांग को मानते हुए अगले आदेश तक सैरात वसूली के लिए रोक लगा दी गई।

1 अक्टूबर से हो रही है सैरात की वसूली, दुकानदारों ने भी किया था विरोध प्रदर्शन

एनएच 120 जाम किया

30 मिनट के लिए अफरा-तफरी का माहौल बन गया। वहीं गुस्साए चालाकों ने एनएच 120 को जाम कर दिया। जिसके बाद मौके पर पुलिस ने पहले मनाने की कोशिश की जब नही मानें तो लाठी भी चटकाई।

न बस स्टैंड है न टेंपू स्टैंड फिर टैक्स कैसा

डुमरांव नप के पास न तो अपना बस पड़ाव है न ही टेंपू पड़ाव जबकि कुछ माह पूर्व टीचर ट्रेंनिग स्कूल के पास एक अस्थाई टेंपू स्टैंड का निर्माण विभागीय स्तर पर करीब एक लाख से ज्यादा की लागत पर करवाया गया है जबकि कार्य अभी आधा अधूरा है । जो भूलन कुमार जेइ द्वारा बताया गया। वहीं बस पड़ाव करीब बीस वर्ष पहले पुराने थाने के समीप पूर्व मंत्री वसंत सिंह के द्वारा शिलान्यास किया गया था लेकिन वर्तमान समय में यह बस पड़ाव अतिक्रमण की गिरफ्त में है। इस तरह है तो कैसे होगा सैरात की वसूली।

चालकों और नप के कर्मियों में हाथापाई

वहीं सूत्रों कि मानें तो बैठक में विरोध कर रहे टेंपू चालकों पर नप के किसी आशुतोष नामक कर्मी के साथ हाथापाई हो गयी।

बैठक खत्म होने के बाद आपस भिड़ गए चालक के दो गुट: ईओ

नप ईओ मनोज कुमार ने बताया कि ऑटो चालकों की मांग को बैठक में मान लिया गया था कि जबतक सुविधा नही मिलेगा तबतक कोई सैरात टैक्स नहीं लिया जाएगा। उसके बाद हमलोग निकल रहे थे उसी दौरान ऑटो चालक के दो गुट आपस में भीड़ गए। मारपीट करने लगे। नप द्वारा आयोजित बैठक में कोई मारपीट नही हुई है। ऑटो चालकों के साथ आयोजित बैठक में बाहरी लोग भी शामिल थे। जिसका नेतृत्व एक व्यवसायी कर रहे थे।

अभी लिखित शिकायत नहीं मिली है। जैसे ही नप और चालक के द्वारा मिलेगा एफआईआर किया जाएगा। थानाध्यक्ष ने बताया कि अबतक के जांच में यहीं पता चला है बैठक में एक ऐसा गुट शामिल हो गया था जो मारपीट के लिए अमादा था। बैठक खत्म होने के बाद आपस में भीड़ गए। फिर सड़क जाम हुआ। जिसे खुलवाने के लिए हल्का बल प्रयोग करना पड़ा।-बिंदेश्वरी राम, डुमरांव थानाध्यक्ष

खबरें और भी हैं...