नियुक्ति:बक्सर और डुमरांव नगर परिषद किया गया भंग, अब अपर समाहर्ता को नियुक्त किया गया प्रशासक

बक्सर/डुमरांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकार के नगर विकास एवं आवास विभाग के द्वारा डीएम को प्रशासक की नियुक्ति के लिए भेजा गया है पत्र

बिहार सरकार के नगर पालिका प्रशासन निदेशालय ने अधिसूचना जारी करते हुए बिहार के कई उत्क्रमित नगर पंचायत और नगर परिषद को भंग कर दिया है। इस कड़ी में बक्सर एवं डुमरांव दोनों नगर परिषद को भी भंग कर दिया गया है। वही नगर परिषद में प्रशासक की नियुक्ति को लेकर भी विभाग की हरी झंडी मिल गई है। सरकार के नगर विकास एवं आवास विभाग के द्वारा डीएम को प्रशासक की नियुक्ति के लिए निर्देशित किया गया है। विभाग के नगरपालिका प्रशासन निदेशालय ने अपनी अधिसूचना संख्या 3593 दिनांक 13 दिसम्बर 2021 में लिखा है कि बिहार नगरपालिका अधिनियम 2007 की धारा 3 (1) (क), 4, 5, 6 एवं 8 के द्वारा प्रदत्त शक्तियों के तहत विभिन्न अधिसूचनाओं द्वारा बक्सर एवं डुमरांव सहित राज्य की विभिन्न नगर पंचायतों को नगर परिषद में उत्क्रमित किया गया है। बिहार नगरपालिका अधिनियम की धारा 12 (8) के प्रावधानों के तहत इन उत्क्रमित नगर निकायों का कार्यकाल अधिसूचना निर्गत की तिथि से छह माह की अवधि तक ही शेष रह जाती है। उक्त अवधि के उपरांत संबंधित नगर निकाय भंग हो जाती है।
डीएम द्वारा की जाएगी प्रशासनिक नियुक्ति : फलस्वरूप सम्यक विचारोपरांत अधिनियम की धारा 12 (9) के प्रावधानों के अनुसार इन उत्क्रमित नगर परिषदों में निहित सभी शक्ति और कृत्यों का प्रयोग तथा संपादन करने के लिए संबंधित जिले के डीएम द्वारा प्राधिकृत अपर समाहर्ता को प्रशासक नियुक्त किया जाता है। प्रस्ताव को सक्षम प्राधिकार का अनुमोदन भी प्राप्त है। मालूम हो कि बक्सर एवं डुमरांव दोनों नगर परिषद का क्षेत्र विस्तारित करने की अधिसूचना विभाग द्वारा जारी किया गया था। अब नगर वासियों को प्रशासक की नियुक्ति का इंतजार है, जिससे नगर का अवरुद्ध विकास कार्य सुचारू हो सके।
डुमरांव नगर परिषद से जुड़ेंगे ये गांव: नगर परिषद क्षेत्र डुमरांव में नया भोजपुर, पुराना भोजपुर, बनकट ,रामपुर का अंश समेत मोहम्मदपुर हकीमपुर, मुस्तफापुर, हथेली पुर मठिया, रसूलपुर, पुरैनी, खिरौली, बनकट का पूरा गांव अब नगर परिषद क्षेत्र में आएगा। कार्यपालक पदाधिकारी सुजीत कुमार ने बताया कि डुमरांव नगर परिषद क्षेत्र में 12 गांव को जोड़ते हुए क्षेत्र का दायरा बढ़ेगा। फिलवक्त यहां की आबादी 56 हजार है, जो इन गांवों के जुड़ने के बाद 39000 आबादी की संख्या और जुड़ जाएगी। जिसके बाद कुल आबादी 95 हजार हाे जाएगी।

खबरें और भी हैं...