• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Buxar
  • Buxar News; Contract Workers Of Chausa Thermal Plant Strike Due To Non receipt Of Wages According To Board Rate

चौसा थर्मल पॉवर प्लांट में मजदूरों का धरना:बोर्ड रेट के हिसाब से मजदूरी नहीं मिलने से आक्रोश, L&T अधिकारियों के समझाने पर माने

बक्सर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धरने पर बैठे मजदूर। - Dainik Bhaskar
धरने पर बैठे मजदूर।

बक्सर जिला के चौसा थर्मल पावर प्लांट के अंदर बुधवार को अचानक सैकड़ों मजदूर काम बंद कर धरने पर बैठ गए। मजदूर जिस कम्पनी के अंदर में कार्य कर रहे थे, उसके द्वारा उचित मजदूरी नहीं देने से आक्रोशित थे। चार घण्टे के बाद कम्पनी के आला अधिकारियों के द्वारा समझाया गया और सही मजदूरी देने के आश्वासन पर मजदूर आपने कार्य पर वापस लौटे। वहीं सूचना पर मजदूरों का साथ देने के लिए क्षेत्रीय राजद मजदूर सेल के युवा नेता भी पहुंच गए।

बताया गया कि 1320 मेगावाट थर्मल पावर के निर्माण में लगी L&T के अंतर्गत बॉयलर का काम कर रही पॉवरमैक कंपनी के द्वारा मजदूरों का महीनों से कंपनी के बोर्ड रेट के हिसाब से मजदूरी नहीं दिया जा रहा था। उसी को लेकर पावरमैक की साइट पर सैकड़ों मजदूरों का जत्था राजद मजदूर सेल के जिलाध्यक्ष अर्जुन यादव के नेतृत्व में वाजिब मजदूरी को लेकर धरने पर बैठ गया। मजदूरों का कहना था कि अनस्किल्ड मजदूरों की मजदूरी 432 रु है, स्किल्ड मजदूरों की मजदूरी 609रु एवं हाईस्किल्ड मजदूरों की मजदूरी 725रु है। लेकिन कॉन्ट्रेक्टर लोग आधा मजदूरी देते हैं। जिसको लेकर बुधवार की दोपहर काम छोड़ 4 घण्टे तक धरने पर बैठ गए।

सूचना पर L&T के आला अधिकारी कर्नल PM केसर व मनोरंजन मिश्रा मौके पर पहुंचे और उन्होंने मजदूरों को समझाने का काफ़ी प्रयास किया। बोला गया कि 9 नवम्बर तक पिछले महीने की मजदूरी बोर्ड रेट के अनुसार दिया जाएगा। वहीं अन्य सम्बंधित परेशानी चाहे वो रेट संबंधित हो या ओवर टाइम को लेकर हो, तय समय तक इसका निराकरण कर लेने का आश्वासन दिया गया। L&T के आला अधिकारियों की बातों से संतुष्ट होने के बाद मजदूर धरना समाप्त कर काम पर वापस लौट गये।