गोल्ड मेडल:बक्सर की डॉक्टर अंजली ने एमडी में गोल्ड मेडल प्राप्त कर जिले का नाम किया रौशन

बक्सर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कहा-इनफर्टिलिटी में फैलोशिप कर, बिहार में दूंगी चिकित्सा सेवा

माता पिता के सपने को पूरा करने व चिकित्सा के माध्यम से सेवा करने को ठान चुकी बक्सर की डॉ अंजली कुमारी ने एमडी करने के बाद गोल्ड मेडल प्राप्त करना केवल जिले का मान बढ़ाया है,बल्कि महिला दिवस पर महिला सशक्तिकरण के लिए प्रेरणा के स्रोत भी बन गई है।जिले के बाजार समिति रोड निवासी यूको बैंक के पूर्व प्रबंधक बीके चौबे की पुत्रवधु है। जो भभुआ के स्वर्गीय बालेश्वर पांडेय (लेबर इंस्पेक्टर) जो झारखंड में पोस्टेड थे उनकी बेटी है। जिन्होंने बेटी को डराने का सपना पाले थे। पापा के सपने को साकार करने और चिकित्सा के क्षेत्र में लोगों को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने की ठान चुकी अंजली पांडेय अपनी पढ़ाई को मजबूती से करते हुए दरभंगा मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस में न केवल दाखिला लिया।

बल्कि बेहतर तरीके से स्त्री एवं प्रसूत रोग विशेषज्ञ में एमडी में सर्वोच्च रैंक प्राप्त कर जिले का नाम रौशन किया है। इस सफलता पर कॉलेज में आयोजित समारोह में डॉ सुनीति सिन्हा गोल्ड मेडल से नवाजा गया। इनके इनके पति सर्जन प्रशांत चतुर्वेदी एम्स पटना में डॉक्टर है।इस सफलता पर उनके ग्रैंडफादर बीके चौबे,ग्रैंड मदर सचिता देवी, मां निरुपमा पांडेय, भाई अंकित, दीदी लक्ष्मी,साधना व सोनी के साथ ही बेटे प्रांजल की आंखें खुशी से भर आईं।डॉक्टर अंजली पांडेय ने बताया कि उनकी प्राइमरी शिक्षा भभुआ से हुई जबकि10वीं व 12वीं की शिक्षा बनारस की।इस दौरान उन्होंने पापा के सपने को सच करने के लिए मेडिकल की तैयारी में जुट गई।

खबरें और भी हैं...