पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अपील:सुरक्षित रहकर घर में ही मनाएं ईद-उल-अजहा का त्योहार

बक्सर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जानवरों की परंपरागत कुर्बानी देते समय जरूरी बातों का रखें ध्यान, शारीरिक दूरी व साफ सफाई का रखें पूरा ख्याल
Advertisement
Advertisement

इस वर्ष बकरीद या ईद-उल-अज़हा ऐसे दौर में आया है, जब पूरी दुनिया कोविड-19 वायरस के चपेट में है। इस माहौल को देखते हुए विश्व के विभिन्न स्वास्थ्य संगठन एवं सरकार भी सुरक्षित तरीके से पर्व मनाने को लेकर दिशा-निर्देश जारी कर रही हैं। इसी कड़ी में बिहार इंटरफेथ फोरम फॉर चिल्ड्रेन (बीआईएफसी) ने भी इस त्यौहार को सुरक्षित रूप से मनाने के लिए दिशा-निर्देश जारी की है। बिहार इंटरफेथ फोरम फॉर चिल्ड्रेन अलग-अलग धर्मगुरुओं को एक साथ लाकर इस दिशा में पहले से कार्य भी करती रही है।

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों ने सरकार के सामने चुनौती पेश की है। ऐसी स्थिति में बकरीद या ईद-अल-अजहा को सुरक्षित रूप से मनाने की जरूरत अधिक हो गयी है। इसको लेकर हजरत सैयद शाह शमीमुद्दीन अहमद मुनेमी (खानका मुनेमिया), हाजी एसएम अन्नाउल्लाह (इदारे शरिया), मौलाना अनिसुर रहमान (आल इंडिया मिल्ली काउन्सिल),मो रिजवान अहमद (जमाते इस्लामी हिंद) व अन्य बिहार इंटरफेथ फोरम फॉर चिल्ड्रेन के सदस्यों ने बकरीद की मुबारकबाद देते हुए जनता से सुरक्षित तारीके से शारीरिक दूरी बनाए रखते हुए त्यौहार मनाने की अपील की है।
संक्रमण का प्रसार मनुष्यों के साथ पशुओं में भी होने की संभावना
बीआईएफसी के धर्मगुरुओं ने इस बात पर जोर देते हुए कहा है कि कोविड 19 का प्रसार मुख्य रूप से मनुष्य से मनुष्यों में होता है। लेकिन इस बात के भी प्रमाण मिले हैं कि इसका प्रसार मनुष्यों से पशुओं में भी हो सकता है। खासतौर से कोविड से संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने से साथ ही ईद-अल- अजहा पर जानवरों की परंपरागत कुर्बानी देते समय कुछ बातों का अधिक ध्यान रखने की अपील भी की है। उन्होंने बताया है कि पूर्व की हिदायतों को अमल में लाते हुए घर पर कुर्बानी देने से परहेज करें।
कुर्बानी के दौरान एहतियात बरतें
भीड़भाड़ से संक्रमण की तेजी से फैलने का खतरा रहता है। इसलिए भीड़ कम से कम लगायें। जैसा की कुर्बानी के मामले में हमेशा हिदायत की जाती है कि हाथ और औजारों की साफ-सफाई सुनिश्चित करें और साबुन से अच्छे से हाथ धोएं एवं उन्हें स्ट्रेलाईज भी करें। बीमार लग रहे जानवरों की कुर्बानी भी ठीक नहींं है। अगर पशु बीमार लग रहे हों, तो उनकी कुर्बानी ना दें। इसके अलावा पशुओं की खरीद के मसले पर भी उन्होंने ध्यान दिलाया की जानवरों को विश्वसनीय स्रोतों से ही खरीदें। साथ ही, कुर्बानी के बाद मांस के बंटवारे में भी सावधानी बरतें।

बीआईएफसी को मिल रहा यूनिसेफ का तकनीकी सहयोग: बिहार इंटरफेथ फोरम फॉर चिल्ड्रेन (बीआईएफसी) धार्मिक और आध्यात्मिक नेताओं और संगठनों का एक स्वैच्छिक मंच है। जो बच्चों और महिलाओं के अधिकारों और उनके हित के लिए निरंतर कार्य कर रही है। यूनिसेफ विकाराथ ट्रस्ट से समन्वय स्थापित कर बिहार इंटरफेथ फोरम फॉर को तकनीकी सहायता प्रदान कर रहा है।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - अपने जनसंपर्क को और अधिक मजबूत करें। इनके द्वारा आपको चमत्कारिक रूप से भावी लक्ष्य की प्राप्ति होगी। और आपके आत्म सम्मान व आत्मविश्वास में भी वृद्धि होगी। नेगेटिव- ध्यान रखें कि किसी की बात...

और पढ़ें

Advertisement