स्टेशन और बस स्टैंड पर की जा रही कोरोना जांच:त्योहारों में कोरोना संक्रमण को लेकर बाहर से आने वाले लोगों की कोरोना जांच की जा रही है

बक्सरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पर्व त्योहारों के दौरान भी जिले को कोविड-19 के संभावित संक्रमण से बचाने को लेकर स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से तत्पर है। बाहर से आने वाले लोगों के लिए रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर विशेष जांच शिविर लगाए गए हैं। ताकि अन्य जिलों व राज्यों से आने वाले लोगों के संक्रमित न होने की पुष्टि हो जाए और वे खुशी खुशी अपने परिजनों के साथ पूजा-पाठ कर सकें।

सिविल सर्जन डॉ. जितेंद्र नाथ ने बताया कि बीते दिनों सूबे के कई जिलों समेत अन्य राज्यों में संक्रमण का प्रसार हुआ। जिसे देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने पर्व त्यौहारों पर जांच शिविर लगाने का निर्णय लिया है। हालांकि जिले में अब तक किसी भी व्यक्ति में कोरोना का संक्रमण नहीं पाया गया है। लेकिन जांच की प्रक्रिया को और भी मजबूत करने की दिशा में काम किया जा रहा है।

बढ़ाया जाएगा जांच का दायरा
सिविल सर्जन डॉ. जितेंद्र नाथ ने बताया फिलहाल विभाग से मिले निर्देशों व लक्ष्य के अनुसार ही जिले में कोरोना जांच की जा रही है। लेकिन जांच के दायरे को और भी बढ़ाया जाएगा। प्रतिदिन 500 से अधिक लोगों की जांच की जा रही है। जैसे जैसे दीपावली और छठ पूजा का पर्व करीब आता जाएगा, वैसे वैसे अन्य राज्यों से आने वाले लोगों की आवाजाही भी बढ़ेगी।

जिसे देखते हुए जांच प्रक्रिया के दायरे को और भी बढ़ाया जाएगा। स्टेशन पर महाराष्ट्र व अन्य राज्यों से आने वाली ट्रेनों के यात्रियों की जांच करने के बाद ही स्टेशन से बाहर जाने की अनुमति दी जाएगी। कई लोग निजी गाड़ियों से भी अपने घर लौटेंगे। ऐसे में बाहर से आने वाले लोगों को चिह्नित व उन्हें जांच के लिए जागरूक करने के लिए आशा को जिम्मेदारी दी गयी है।

सभी के लिए जरूरी है नियमों का पालन
डीपीएम संतोष कुमार ने बताया कोरोना काल में मास्क पहनना हर किसी के लिए जरूरी हो गया है। दुर्गा पूजा में प्रतिमाओं व पंडालों के दर्शन के दौरान मास्क और शारीरिक दूरी का पालन करें। बाजारों व दुकानों में भी खरीदारी के दौरान लोगों को शारीरिक दूरी के नियमों का भी पालन करना होगा।

साथ ही जानकारी दी गई कि कोरोना वायरस अब भी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। संक्रमण का दर भले अभी कम हो गया है, लेकिन लोगों को लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए। थोड़ी सी भी लापरवाही संक्रमण को दुबारा न्योता दे सकती है।

खबरें और भी हैं...