कोरोना संक्रमण का खतरा:दुर्गापूजा में गांव आने वालों की नहीं हो रही कोरोना जांच

बक्सर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

दुर्गा पूजा में आने वाले प्रवासियों को स्टेशन पर कोरोना टेस्ट नहीं किया जा रहा है। सरकार ने बाहर से आने वाले प्रवासियों का कोरोना टेस्ट रेलवे स्टेशन पर करने का गाइड लाइन जारी किया था। गाइडलाइन के के मुताबिक कोरोना के तीसरी लहर को कम करने को लेकर सरकार ने आदेश जारी किया था। अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही से कोरोना का खतरा बढ़ने की संभावना बढ़ गई है।

क्योकि, दूसरे प्रदेश से अपने गांव आने वालो की संख्या में काफी वृद्धि हो रही है। सबसे अधिक दिल्ली,पुणे,गुजरात और महाराष्ट्र से रेल यात्री बक्सर पहुंच रहे है।बाहर से आने वाले प्रवासियों से ग्रामीणों के अंदर कोरोना वायरस को लेकर एक डर बना हुआ है। क्योकि, कोरोना की दूसरी लहार बाहर से आने वाले प्रवासियों के कारण ही फैला व्यापक रूप धारण किया था।

वही, रेलवे स्टेशन पर केवल खानापूर्ति करने को लेकर स्वास्थ्य कर्मियों को लगा दिया गया है। सिविल सर्जन से सम्पर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि रोजाना करीब 20 ट्रेनों में जांच की जा रही है। इसकी संख्या बढ़ाई जाएगी। बक्सर रेलवे स्टेशन के वेटिंग हाल में कोरोना जांच केंद्र पर लावारिस हालत में कोरोना जांच किट टेबल पर पड़ा रहा। जांच किट के पास कोई स्वास्थ्य कर्मी मौजूद नहीं थे।

खबरें और भी हैं...