पूर्व मंत्री की बहू चुनाव हारीं:झारखंड के तत्कालीन CM रघुवर दास को हराने वाले सरयू राय की बहू दोबारा नहीं बन सकीं मुखिया

बक्सर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सरयू राय की बहू व निवर्तमान मुखिया निधु देवी 702 मत पाकर चौथे स्थान पर रहीं। - Dainik Bhaskar
सरयू राय की बहू व निवर्तमान मुखिया निधु देवी 702 मत पाकर चौथे स्थान पर रहीं।

बक्सर जिले के इटाढ़ी प्रखंड की हरपुरजलवासी पंचायत से वर्तमान मुखिया और झारखंड के पूर्व मंत्री सरयू राय की बहू निधु देवी चुनाव हार गईं। वो चौथे स्थान पर रहीं। मनीषा शुक्ला मुखिया चुनी गईं। मनीषा को 907 वोट मिले हैं। सरयू राय 2019 में झारखंड विधानसभा चुनाव में तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास को हराने के बाद चर्चा में आए थे।

मनीषा की निकटतम प्रत्याशी गीता देवी रहीं, जिनको 732 मत प्राप्त हुए हैं। यहां हार-जीत में 175 मतों का अंतर रहा है। वहीं सरयू राय की बहू को 702 वोट मिले हैं।

हरपुरजलवासी पंचायत से चुनाव जीत मुखिया बनीं मनीषा शुक्ला।
हरपुरजलवासी पंचायत से चुनाव जीत मुखिया बनीं मनीषा शुक्ला।

इधर, मतगणना में अन्य पंचायतों में भी बदलाव साफ तौर पर दिख रहा है। अब तक के परिणाम के मुताबिक मुखिया के तीन प्रत्याशी इटाढ़ी पंचायत की बिंदू देवी, उनवांस के अशोक साह और चिलहर में पिता कन्हैया राय की जगह चुनाव लड़ रहे पुत्र ने भी सफलता हासिल कर ली है। इस बार के बदलाव की बयार में जनता ने कई प्रत्याशियों को चुनावी मैदान में विकास न करने का आईना दिखाया है। कई पंचायतों में तो वोटरों ने निवर्तमान मुखिया को दूसरा स्थान भी नसीब नहीं होने दिया।

जमशेदपुर पूर्वी से रघुवर अपने ही पुराने साथी से पिछड़े

2019 के झारखंड विधानसभा चुनाव में सबसे हॉट सीट जमशेदपुर पूर्वी थी। जमशेदपुर पूर्वी से भाजपा ने मुख्यमंत्री रघुवर दास को मैदान में उतारा था। उनका मुकाबला उनकी ही कैबिनेट में खाद्य आपूर्ति मंत्री रहे सरयू राय से था। भाजपा से टिकट कटने के बाद सरयू राय निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर मैदान में उतरे थे और उन्होंने रघुवर दास को हराया था।