कवायद / दीदी की रसोई से जिंदगी संवार रहीं जीविका दीदियां लॉकडाउन में 80 प्रवासी मजदूरों को भी दे रही खाना

Didi's life sustaining life from Didi's kitchen, giving food to 80 migrant laborers in lockdown
X
Didi's life sustaining life from Didi's kitchen, giving food to 80 migrant laborers in lockdown

  • प्रवासी मजदूरों को जीविका दीदियां का बना खाना खिलाया जा रहा है, ताकि संक्रमण नहीं फैले

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 05:00 AM IST

बक्सर. सदर अस्पताल में चल रहे दीदी की रसोई से 80 क्वारेंटाइन हुए लोगों को भी खाना दिया जा रहा है। प्रवासी लोगों को मिलने वाला मुफ्त खाना अब जीविका के द्वारा बनाया जा रहा है। विदित हो कि  सदर अस्पताल में इसकी जिम्मेवारी पांडेयपट्टी हिम्मत जीविका महिला ग्राम संगठन के जिम्मे है।

सदर अस्पताल में इस नई व्यवस्था का शुभारंभ लॉकडाऊन शुभारंभ से ही हो रहा है। दीदी की रसोई के माध्यम से मरीजों के आलावे कोरेंटिन  किये गये प्रवासी लोगों को भी भोजन नाश्ते सुस्वादु दिया जा रहा है। हालांकि यह व्यवस्था कैंटीन के रुप में भी कार्य कर रही है।
महिलाओं को रोजगार: अस्पतालों में एक अच्छी पहल हुई है। जीविका दीदी की रसोई से जहां मरीज- तीमारदारों को सस्ता और बेहतर खाना मिल रहा है। तो अनेक महिलाओं को रोजगार और आमदनी। जिला के सदर अस्पताल में दीदी की रसोई शुरू हो चुकी है। इसके बाद अब विभिन्न प्रखंड स्तरीय अस्पतालों में भी यह सेवा जल्द उपलब्ध होगी।

जिन्हें कल तक दो जून का खाना नसीब नहीं होता था, वे आज सैकड़ों मरीजों और उनके परिजनों के लिए सस्ते दर पर भोजन उपलब्ध करा रही हैं। आने वाले दिनों में अस्पताल के साथ विभिन्न  सार्वजनिक जगहों पर दीदी की रसोई शुरू होने वाली है। जो सैकड़ों महिलाओं की जीविका का साधन बनेगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना