पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हिंदी दिवस:सोशल मीडिया पर भ्रामक और अप्रमाणित ज्ञान को जीवन में नहीं दें तवज्जो : जिलाधिकारी

बक्सर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पुस्तकों को प्रमाणित ज्ञान का स्रोत बनाएं युवा

अभियान विश्वामित्र अंतर्गत हिन्दी दिवस के अवसर पर डीएम अमन समीर के द्वारा एमपी हाई स्कूल के प्रागंण में विश्वामित्र हॉल का उद्घाटन किया गया। जहां हिन्दी दिवस पर वर्तमान समय में हिन्दी भाषा की प्रासंगिकता परिचर्चा का आयोजन किया गया।

जिसमें प्रो. रण विजय कुमार, विभागाध्यक्ष हिन्दी विभाग, हर प्रसाद दास, जैन महाविद्यालय आरा, पवन नंदन केशरी साहित्यकार एवं प्रो रास बिहारी शर्मा विभागाध्यक्ष दर्शनशास्त्र महर्षि विश्वामित्र महाविद्यालय बक्सर परिचर्चा हेतु आमंत्रित थे। जिसका संचालन नेहरू युवा केन्द्र के को-ऑर्डिनेटर ने किया।

डीएम ने सबसे पहले फीता काटकर विश्वामित्र हॉल का उद्घाटन किया। जहां द्वीप प्रज्जवलित कर छात्राओं ने कर कार्यक्रम की शुरूआत की। इस मौके पर डीएम ने बताया कि इसके पूर्व में अभियान विश्वामित्र के अन्तर्गत दो पुस्तकालयों को प्रारंभ किया जा चुका है।

उन्होंने बताया कि इस विश्वामित्र हॉल में इंटरनेट की भी व्यवस्था की जाएगी। जिससे विद्यार्थियों को अध्ययन करने में कोई परेशानी न हो। विद्यार्थी को प्रमाणित सूचना का आधार मिल सके। डीएम ने विद्यार्थियों से कहा कि सोशल मीडिया पर भ्रामक एवं अप्रमाणित ज्ञान की जगह पुस्तकों को प्रमाणित ज्ञान का स्रोत्र बनायें और अधिक से अधिक ज्ञानार्जन प्राप्त करें।

उन्होंने युवा क्लब एवं युवा संवाद का प्रासंगिकता पर चर्चा की तथा बताया कि यहाँ पर निरन्तर महत्वपूर्ण विषयों पर संवाद एवं परिचर्चा का आयोजन किया जायेगा साथ ही इससे प्रबुद्ध व्यक्तियों को भी जोड़ा जाएगा। कार्यक्रम में आमंत्रित विद्वानों के द्वारा आज के समय में हिन्दी की प्रासंगिकता के बारे में चर्चा की गई तथा हिन्दी के महत्व के बारे में बताया गया।

कार्यक्रम में एसडीओ धीरेन्द्र मिश्रा, उप निर्वाचन पदाधिकारी आशुतोष राय, वरीय उप समाहर्ता बक्सर, डीपीओ राजेन्द प्रसाद चौधरी, उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...