उदासीनता:सीओ की लापरवाही से बड़का पुरवा गांव के घरों में घुसा नली व नाले का गंदा पानी

बक्सर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जलजमाव से लोगो के घरों में घुसा पानी। - Dainik Bhaskar
जलजमाव से लोगो के घरों में घुसा पानी।
  • सीओ से लेकर डीएम तक से ग्रामीणों ने लगाई गुहार, अबतक कोई कार्रवाई नहीं

ब्रह्मपुर सीओ व उनके कर्मचारियों की लापरवाही से विगत एक माह से ग्रामीणों के घर व बगीचे जल-जमाव की स्थिति बनी हुई हैं वही जल जमाव से लगाये गए पौधे सुख रहे है। बता दें कि ब्रह्मपुर अंचल के निमेज पंचायत अंतर्गत बड़का पुरवां गाँव में सरकारी नाले पर अतिक्रमण हटाने एवं नाले के मरम्मत कराने में हो रहे प्रशासनिक अधिकारियों के उपेक्षापूर्ण रवैये व लापरवाही से जल-जमाव की समस्या से ग्रामीणों की परेशानी ज्यों की त्यों बनी हुई है।

विदित हो कि इस समस्या से मुक्ति हेतु अंचल से लेकर जिलाधिकारी सहित सभी सम्बन्धित अधिकारियों के पास लिखित आवेदन देकर एक माह पूर्व में गुहार लगाई गयी थी। इस सम्बन्ध मे एडीएम एवं अंचलाधिकारी से कई मुलाकातों के पश्चात आनन-फानन में दिनांक 24 जुलाई 2021 को सीओ ने मात्र पन्द्रह मिनट के लिए जेसीबी लेकर अतिक्रमण हटाने का फोटो खिंचवाकर कार्य का इति श्री करके आवेशपूर्ण मुद्रा में पांच मिनट में ही अपनी गाड़ी में बैठकर वहां से चल दी।

जबकि इस अतिक्रमण का पचहत्तर प्रतिशत हिस्सा एवं नाले का मरम्मत बाकी रह गयी नतीजन समस्या ज्याें की त्यों बनी हुई है। जब उनके अधीन कर्मचारी देवेन्द्र सिंह से की गई तो बोले कि बाद में देखा जायेगा। आज पन्द्रह दिनों में ग्रामीणों ने दो बार सीओ के कार्यालय में सम्पर्क किया लेकिन उपेक्षा एवं लापरवाही के कारण आज भी ग्रामीण जल-जमाव की पीड़ा से त्रस्त हैं।

बड़े आश्चर्य की बात है जिलाधिकारी अतिक्रमण हटाने के लिए समाचार माध्यमों में अपने प्रयासों का बहुत जोर-शोर से प्रसार कर रहे हैं। घूम-घूम कर फोटो खिंचवाने का भी कार्य चल रहा है, लेकिन उनके अधीनस्थ अधिकारी एवं कर्मचारी अपने लापरवाह एवं उदासीन रवैये से मुक्त नहीं हो रहे हैं।

अफसरशाही का आलम यह है कि ग्रामीण जब इनके कार्यालयों में जाते है तो इन्हे कई बार समयाभाव का बहाना बनाकर अनावश्यक विलम्ब किया जाता है और बैरंग लौटा दिया जाता है। इस संदर्भ में जिलाधिकारी के निर्देश पर एसडीएम से मिलने पर बार-बार केवल आश्वासन दिया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...