पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना का कहर:महामारी का रेड अलर्ट, अभी से आया पीक? जिले में 1263 एक्टिव केस, 104 नए मरीज

बक्सरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कहां जाएंगे मरीज, 6 दिन में मिले 600 से अधिक संक्रमित, अबतक 74 मौत

कोरोना की दूसरी लहर के पीक को लेकर एक्सपर्ट और सरकार एकमत नहीं है। संभवत बक्सर की बात करें तो पीक को लेकर इंकार नहीं किया जा सकता है। क्योंकि जिले में पिछले 6 दिन से रोजाना औसतन 125 से अधिक मामलें सामने आ रहे हैं। जबकि विगत 6 दिनों में 634 संक्रमित मिले हैं। जबकि मौतों की बात करें तो औसतन 4 मौतें रोजाना हो रही है। अब तक मई महीने के 7 दिनों में 28 लोगों की मौत हो चुकी है। कुल 74 संक्रमितों ने दम तोड़ दिया है। अगर इस महीने कोरोना का स्पीड इसी तरह रहा तो इसे पीक हीं माना जा सकता है। दुसरी ओर जिले के डेडिकेटेड कोविड अस्पताल व डुमरांव अनुमंडल में बने डेडिकेटेड कोविड अस्पताल में ऑक्सीजन बेड फूल हो जा रहे हैं। हालांकि यह सुखद बात है कि सामान्य आईसोलेशन बेड काफी संख्या में खाली रह रहा है। क्योंकि अधिकतम लोग होम आइसोलेशन में रह कर ठीक हो जा रहे हैं। यदि क्रिटिकल कंडीशन में एक दिन में 20 या इससे अधिक मरीज मिल गए तो संभालना मुश्किल होगा। हालांकि जिले से ये बाते भी सुनने को मिल रही है कि कहीं कहीं ऑक्सीजन के अभाव में मरीज दम तोड़ रहे हैं। शुक्रवार को 6 मरीजों ने दम तोड़ दिया।

छह मौतों में बक्सर प्रखंड के पांच लोगों ने गंवाई जान

डीपीएम संतोष कुमार ने बताया कि बक्सर प्रखंड से 5 जिसमें बक्सर प्रखंड के गोवर्धनपुर से 44 वर्षीय पुरुष, मिल्की 65 वर्षीय पुरुष, 26 वर्षीय महिला, 50 वर्षीय महिला, जासो से 46 वर्षीय महिला, इटाढी के बसुधर से 43 वर्षीय महिला की मौत हुई है।

अब 3500 के पार पहुंच गया संक्रमित मरीजों का आंकड़ा

जिले स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार जिले में संक्रमितों का आंकड़ा 3587 तक पहुंच चुका है। जबकि मात्र 1 महीने में 68 मरीजों ने दम तोड़ दिया। मार्च 2021 से 6 मई तक 1 लाख 8 हजार 83 सैंपल की जांच हुई है। जिसमें से 3587 संक्रमित मामले सामने आए हैं। जो कुल जांच का 3.32 फीसदी है। इनमें से 2250 लोग रिकवर हो चुके हैं। शुक्रवार को 148 लोग रिकवर हुए। बता दें कि अबतक 45,338 लोगों की आरटी-पीसीआर जांच में 106 संक्रमित मिले हैं। जबकि रैपिड एंटीजन किट से 59,379 की जांच में 2900 लोगों में संक्रमण दिखा है। 3366 ट्रूनेट जांच में 581 मरीज मिले हैं।

115 मरीज ऑक्सीजन बेड पर भर्ती

जिले में 115 मरीज ऑक्सीजन वाले बेड पर हैं। सबसे अधिक 60 मरीज बक्सर अनुमंडल में तो वहीं डुमरांव में 37 जबकि प्राइवेट हाॅस्पिटल में 18 मरीज भर्ती हैं।

खबरें और भी हैं...