पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Buxar
  • Every Year 340 Lakh Tonnes Of Nutrients Are Depleted From The Soil, Use Organic Manure In The Fields: Agricultural Scientist

अमृत महोत्सव:हर वर्ष मिट्टी से 340 लाख टन पोषक तत्वों का ह्रास, खेतों में करें जैविक खाद का उपयोग : कृषि वैज्ञानिक

बक्सर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली ने उर्वरकों के संतुलित प्रयोन विषय पर ई-किसान गोष्ठी का किया आयोजन

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद का पूर्वी अनुसंधान परिसर पटना तथा कृषि विज्ञान केन्द्र, बक्सर के संयुक्त सहयोग से “उर्वरकों का संतुलित प्रयोग” विषय पर शुक्रवार को एक दिवसीय ई-किसान गोष्ठी सह जागरूकता कार्यक्रम का वर्चुअल माध्यम से आयोजन किया गया। बता दें कि भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली द्वारा देश की स्वतंत्रता के 75 वें वर्ष के स्मरणोत्सव के उपलक्ष मे देशभर मे विविध कार्यक्रमों की श्रृखंला “भारत

का अमृत महोत्सव” थीम के साथ आयोजन कर रही है। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने वर्चुअल माध्यम से द्वीप प्रज्जवलित कर किया। उन्होने कहा कि ज्यादा खाद्यान्न उत्पादन के लिए जमीन को उर्वर बनाये रखना बहुत आवश्यक है।

मिट्टी की अच्छी उर्वरता होने से उत्पादन मे वृद्धि होगी जिससे किसान खुशहाल होगें तथा देश समृद्धि की ओर अग्रसर होगा। किसानों के द्वारा नीम लेपित उर्वरकों का प्रयोग किया जा रहा है। संतुलित पोषक तत्व प्रबंधन के लिए किसान मृदा स्वास्थ्य कार्ड का उपयोग करें। कृषि मे जैविक खादों का प्रयोग तथा फसल अवशेष प्रबंधन को बढ़ावा दे। जल संरक्षण तकनीकियों मे टपक सिंचाई विधि का उपयोग करें। तथा इस विधि से पोषक तत्वों का प्रयोग करके ज्यादा से ज्यादा लाभ अर्जित कर सकते है। उन्होने बताया कि किसान भाई अपने उत्पादों को किसान एक्सप्रेस ट्रेन के माध्यम से देश के दूसरे हिस्सों मे भी पहुंचा सकते हैं।

खबरें और भी हैं...