पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Buxar
  • Ganga's Water Level Started Dropping Sharply, In 24 Hours, 23 Centimeters Decreased, Water Started Descending From Ganga Ghats

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राहत:गंगा के जलस्तर में तेजी से होने लगी गिरावट, 24 घंटों में 23 सेंटीमीटर घटा, गंगा घाटों से भी उतरने लगा पानी

बक्सर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जलस्तर में गिरावट से लोगों ने ली राहत की सांस, अब भी प्रशासन की नदियों पर है पैनी नजर, घाटोंं पर जमा हुआ सिल्ट
  • केंद्रीय जल आयोग से मिली जानकारी के अनुसार रविवार की शाम छह बजे तक गंगा का जलस्तर 58.78 मीटर पहुंच गया

जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों के लोगों को बड़ी राहत मिली। बीते दिन गंगा के जलस्तर में तेजी से गिरावट दर्ज की गई। जिसके बाद प्रशासनिक अधिकारियों ने चैन की सांस ली। केंद्रीय जल आयोग से मिली जानकारी के अनुसार रविवार की शाम छह बजे तक गंगा का जलस्तर 58.78 मीटर पहुंच गया। इस संबंध में आयोग के कनीय अभियंता कन्हैया कुमार ने बताया कि जिले में फिलहाल गंगा में तेजी से गिरावट हो रही है।

प्रति घंटे नदी का जलस्तर एक सेंटीमीटर की रफ्तार से घट रहा है। सुबह आठ बजे जलस्तर 58.90 मीटर पर था, जो दोपहर 12 बजे तक 58.86 मीटर पर था। आंकड़ों पर गौर करें, तो पिछले 24 घंटों में गंगा में बाढ़ के पानी में 23 सेंटीमीटर की गिरावट हुई है। जो अच्छे संकेत हैं। दूसरी ओर, गंगा के जलस्तर में गिरावट की स्थिति घाटों पर लगे बाढ़ के पानी से भी लगाया जाता है। फिलहाल रामरेखा घाट की सीढ़ियों से नीचे उतरने की दिशा में है।

लोग परेशान : पानी उतरने के साथ ही खड़ी हुई सिल्ट की समस्या
एक ओर जहां बाढ़ का पानी उतरने की ओर है, वहीं घाटों पर सिल्ट दिखने लगे हैं। जो लोगों के लिए परेशानी का सबब बन जाएंगे। हर वर्ष जिले में बाढ़ आती है, तो सभी घाटों पर शील्ड जम जाता है। जिसके कारण पूजा-अर्चना आदि में श्रद्धालुओं को काफी परेशानी होती है। गंगा शील्ड सूखा होने पर नहीं बल्कि गीला होने पर चिकना हो जाता है। जिसके कारण घाटों पर लोगों के फिसलने का डर रहता है। दूसरी ओर, नगर परिषद को शील्ड हटाने के लिए टेंडर निकालना पड़ता है। जिसके लिए एक माह से अधिक का समय लग जाता है।

जल्द खुल जाएंगे शहर के घाट
यदि गिरावट का स्तर यही रहा, तो जल्द ही रामरेखा घाट, नाथ बाबा घाट, सती घाट व गोला घाट लोगों के लिए खोल दिए जाएंगे। दूसरी ओर, बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता एजाज कलीम ने बताया कि गंगा के गिरावट के बाद बक्सर कोईलवर तटबंध का जायजा लिया जाएगा। ताकि, तटबंधों पर क्षति का आंकलन किया जा सके।
गंगा के गिरते जलस्तर के बाद लोगों ने ली राहत की सांस
गंगा में गिरते जलस्तर से दियारा इलाके के लोगों ने भी राहत की सांस ली। रविवार को बाढ़ के पानी से पूरी तरह घिर चुके श्रीकांत राय के डेरा इलाके में भी जलस्तर में गिरावट देखी गई। जहां शनिवार को गंगा नदी के बाढ़ का पानी नीचे उतरते दिखा। गंगौली गांव के समीप से बक्सर-कोईलवर तटबंध से डेरा गांव होते हुए जनेश्वर मिश्र सेतु पर जाने जानेवाली सड़क जो जलमग्न हो चुका था।

वहां भी पानी कम हो रहा है। शनिवार को सड़क पर घुटने से अधिक पानी बह रहा था। जो देरशाम तक घुटने के नीचे बहने लगा। सीओ अनिल कुमार ने बताया कि विभागीय निर्देश के तहत राहत कार्यों के लिए अंचल ने पूरी तैयारी कर रखा है। यदि, अगामी दिनों में गंगा के जलस्तर में फिर से बढ़ोत्तरी हुई, तो राहत व बचाव कार्य फिर से शुरू किए जाएंगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपका अधिकतर समय परिवार तथा फाइनेंस से जुड़े महत्वपूर्ण कार्यों में व्यतीत होगा। और सकारात्मक परिणाम भी सामने आएंगे। किसी भी परेशानी में नजदीकी संबंधी का सहयोग आपके लिए वरदान साबित होगा।। न...

    और पढ़ें