पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

धर्म-अध्यात्म:भक्त के अति व्याकुल होने पर मिलने आते हैं भगवान

बक्सर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • श्रीमद्भागवत कथा के छठे दिन कथावाचक ने श्रीकृष्ण की लीलाओं का प्रसंग सुनाया

ज़िले के सगरांव गांव में श्रीमद्भागवत कथा के छठवें दिन कथा व्यास साकेत वासी नेह निधि मामाजी महाराज के कृपापात्र आचार्य श्री रणधीर ओझा ने कहा की भगवन कृष्णा को रस की प्रतिमूर्ति के रूप में शास्त्रों ने स्वीकार किया है। रासलीला का विस्तार से वर्णन करते हुए श्री ओझा ने बताया की भगवन से मिलने के लिए भक्त जब अति व्याकुल होता है तब ईश्वर उनसे मिलने के लिए आते हैं। श्री कृष्णा व गोपियों के महारास को आत्मा व परमात्मा का निर्विकार मिलन बताते हुए उन्होंने रास लीला के मुख्यत: तीन सिद्धान्तों के बारे में श्रोताओं को अवगत कराया।

पहला शरीर, दूसरा सांसारिक काम रहित और तीसरा विशुद्ध जीव का ब्रह्म के साथ विलास । विशुद्ध जीव का अर्थ माया से विहीन जीव बताते हुए आचार्य ने बताया की ऐसा इसलिए होता है क्योंकि ऐसे जीव का ही ब्रह्म से मिलन संभव होता है। शिर शुकदेव जी के कथनों का उल्लेख करते हुए उन्होंने रासलीला को चिंता के योग्य बताया, अनुकरणीय नहीं क्योंकि रासलीला में आतुरता व व्यग्रता के यथार्थ को महसूस कराने के लिए श्रृंगार रस का को माध्यम बनाया गया है। महारास का सार बताते हुए उन्होंने कहा की भगवान की यह लीला श्री कृष्णा की काम ‘विजय’ लीला है। कार्यक्रम को सफल बनाने में जगनारायण पांडेय, सुदामा पांडेय, प्रियव्रत पांडेय, सिद्धनाथ चौबे, घुमन पांडेय, अवधेश पांडेय।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपको कई सुअवसर प्रदान करने वाली हैं। इनका भरपूर सम्मान करें। कहीं पूंजी निवेश करने के लिए सोच रहे हैं तो तुरंत कर दीजिए। भाइयों अथवा निकट संबंधी के साथ कुछ लाभकारी योजना...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser